दलाल कराते हैं तीन हजार रूपए में बॉर्डर पार, इस जिले की पुलिस हुई सक्रिय

पत्रिका के खुलासे के बाद जिलेभर में बांग्लादेशियों के खिलाफ कार्रवाई शुरू

By: Prem Pathak

Published: 25 Apr 2018, 10:24 AM IST

अलवर. नीमराणा में मिले बांग्लादेशी नागरिकों के छह बच्चों को मंगलवार को नीमराणा एसडीएम के आदेश पर पुलिस अलवर लेकर आई। पुलिस इन बच्चों को चाइल्ड लाइन कार्यालय लेकर आई। इन बच्चों को बाल कल्याण समिति के समक्ष पेश किया गया। जहां से इन बच्चों को केडलगंज स्थित मदर टेरेसा होम मिशनरीज भेज दिया गया। समिति के अध्यक्ष श्रवण सिंघल ने बताया कि इन बच्चों के माता-पिता न्यायिक अभिरक्षा में जेल में हैं। इनका कोई अन्य वारिसान नहीं होने के कारण नीमराणा पुलिस इन बच्चों को लेकर चाइल्ड लाइन आई थी।

बानसूर. बहरोड क्षेत्र में पत्रिका में प्रकाशित खबर के बाद जिला पुलिस अधीक्षक के निर्देश पर मंगलवार को क्षेत्र में अवैध रुप से रह रहें। 11 बांग्लादेशियों को गांव ज्ञानपुरा के पास ईंट भट्टे से पकड़ा है। सभी लोग ईंट भट्टे पर मजदूरी करते हैं। पकड़े गए चार जनों के पास से वेस्ट बंगाल की आईडी मिली। जिसकी पुलिस जानकारी कर पूछताछ कर रही है। पकडे गए 11 जनों में से पांच छोटे बच्चे भी शामिल है। थानाप्रभारी मनोहरलाल मीणा ने बताया कि पुलिस अधीक्षक के निर्देश पर अवैध लोगों के खिलाफकार्रवाई करते हुए गांव ज्ञानपुरा के पास स्थित ईंट भट्टा के मालिक वेदप्रकाश जाट के बीबीसी मार्का ईंट भट्टे पर दबिश देकर 11 संदिग्ध महिला पुरुषों से पूछताछ की। जिसमें से दो पुरुष दो महिलाओं सहित 3 बच्चों ने पूछताछ में बांग्लादेशी होना बताया। वहीं एक पुरुष एवं एक महिला के पास वेस्ट बंगाल की आईडी मिली। जिनके दो बच्चे है। जिनसे पुलिस पूछताछ कर जानकारी कर रही है।
पुलिस ने मामले की उच्च अधिकारियों को जानकारी दी। थानाप्रभारी ने बताया कि पूछताछ के लिए आईबी की टीम बानसूर शाम तक पहुंचेगी। ओर पूछताछ करेगी।
थानाप्रभारी ने बताया कि पकडे बांग्लादेशियों मेंं मोहम्मद जेजियोत अली, मुसम्मत आसमा, साबीना, मोहम्मद जयदुल, पारवीन, जन्नाती, बाइजीत है। वहीं जिनके पास वेस्ट बंगाल की आईडी मिली है। उनके नाम मुफिजल मियां, राहीला उर्फ अखलीमा एवं उनके दो बच्चे हैं।
पुलिस पूछताछ में अवैध बांग्लादेशियों ने बताया कि करीब तीन माह से वह ईंट भट्टों पर मजदूरी कर रहें है। उनके साथ करीब तीन माह पूर्व बडी संख्या में बांग्लादेश से महिला एवं पुरुष आए थे। जो इस समय थानागाजी के गांव डिगारिया, जयपुर के पास कोटपूतली तहसील के गांव भांकरी, अलवर के सदर थाना इलाके के गांव चांदोली एवं बहरोड के माजरी कलां में कार्य कर रहें है।गौरतलब है कि क्षेत्र में बडी संख्या में बाहर से आए लोग रह रहें है। यूपी एवं बिहार से से बडी संख्या में लोग खेतों को बटाई पर लेकर सब्जी की बाडी लगाने का कार्य कर रहें है। जिसका कोई भी रिकार्ड पुलिस के पास नहीं है।

 

Prem Pathak Reporting
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned