अलवर में खुलेआम खूब बिक रही अवैध शराब, पुलिस है जिम्मेदार! जानिए Alwar SP ने क्या कहा

Illegal Wine Selling : अलवर जिले में खुलेआम अवैध शराब बेची जा रही है। पुलिस अधीक्षक के पिछले आदेश के मुताबिक जिस भी क्षेत्र में अवैध शराब बिकती है इसके लिए वहां के थानाधिकारी और बीट कांस्टेबल जिम्मेदार होंगे।

अलवर. पुलिस और आबकारी विभाग की शह पर जिले में अवैध शराब का कारोबार जबदस्त तरीके से फैला हुआ है। जिला मुख्यालय से लेकर कस्बे, गांव और ढाणी तक अवैध शराब खुलेआम बिक रही है। सरकारी आदेशों में तो थानेदार से लेकर बीट कांस्टेबल तक की अवैध शराब रोकथाम को लेकर जिम्मेदारी तय है, लेकिन काली कमाई के आगे वर्दी का फर्ज सब भूले बैठे हैं।

उच्चाधिकारियों का डंडा आने पर पुलिस और आबकारी विभाग आंकड़ों की पूर्ति के लिए अवैध शराब कारोबारियों के खिलाफ कार्रवाई करता है, लेकिन इस कार्रवाई में उनका बड़ा खेल छिपा होता है। किसी भी अवैध शराब कारोबारी के खिलाफ शुरुआत में एक बार कार्रवाई की जाती है। फिर मंथली सेट हो जाने पर उसे कई माह के लिए अवैध शराब बेचने के लिए खुला छोड़ दिया जाता है। जब-जब पुलिस और आबकारी विभाग के ऊपर दबाव आता है। तब बीच-बीच में पूरी सेटिंग के साथ अवैध शराब कारोबारियों के एक-दो आदमियों को कुछ पव्वे और बोतल शराब के साथ गिरफ्तार कर छोटा-मोटा केस बना खानापूर्ति कर देते हैं, लेकिन अवैध शराब कारोबारियों को धंधा बदस्तूर जारी रहता है।

कोतवाली इलाका बना गढ़

जिला मुख्यालय पर शहर कोतवाली थाना इलाका अवैध शराब कारोबारियों का गढ़ बन चुका है। पुलिस की शह पर यहां अखैपुरा लालखान, हजूरी गेट, देहली दरवाजा क्षेत्र, स्वर्ग रोड, तीजकी रोड, धोबी घट्टा, रेलवे स्टेशन के सामने, अंडेवाली गली, पुलिस कंट्रोल रूम के बाजू और पीछे, बस स्टैण्ड के सामने और अंदर खुलेआम अवैध रूप से शराब बिक रही है। पुलिस की चेतक और सिगमा रोजाना यहां आती है, लेकिन मंथली सेट होने के कारण बिना कार्रवाई किए देखते हुए निकल जाती है।

यहां भी बिक रही अवैध शराब

इसके अलावा शिवाजी पार्क थाना इलाके में खारबास कच्ची बस्ती, धोबी घट्टा, दशहरा मैदान के आसपास, ट्रांसपोर्ट नगर, एनईबी थाना इलाके के लोहा मंडी, मंडी मोड़, मूंगस्का, हनुमान चौराहा के आसपास, अरावली विहार थाना इलाके के नयाबास, कालाकुआं व जयपुर रोड पर खुलेआम अवैध शराब बिक रही है।

जिम्मेदारों पर हो कार्रवाई

पूर्व में अलवर जिला पुलिस अधीक्षक ने आदेश जारी किए थे कि यदि किसी भी क्षेत्र में अवैध रूप से शराब बिकती है तो उसकी जिम्मेदारी बीट कांस्टेबल और सम्बन्धित थानाधिकारी की होगी। ऐसी स्थिति में जिम्मेदारी पुलिसकर्मियों के खिलाफ सख्त कार्रवाई की जाएगी। अवैध शराब तो सभी जगह बिक रही है, लेकिन जिम्मेदार पुलिसकर्मियों के खिलाफ आज तक कोई कार्रवाई नहीं हुई। दोषी पुलिसकर्मियों के खिलाफ कार्रवाई हो तो अवैध शराब कारोबार पर लगाम लग सकती है।

कस्बे व गांवों में हथकढ़ का जोर

जिला मुख्यालय सहित कस्बे और गांवों में शराब की अवैध ब्रांचें खुली हुई हैं। जहां 24 घंटे शराब बिकती है। अंग्रेजी व देसी शराब के इसके अलावा कस्बे और गांवों में हथकढ़ शराब का कारोबार भी बड़े स्तर पर हो रहा है। जिले के सदर, एमआईए, रामगढ़, नौगांवा, गोविंदगढ़, बड़ौदामेव, लक्ष्मणगढ़, खेरली, कठूमर, राजगढ़, थानागाजी, किशनगढ़बास, खैरथल, तिजारा, टपूकड़ा, भिवाड़ी, बहरोड़, मुण्डावर, बानसूर आदि थाना इलाकों में खुलेआम अवैध शराब का धंधा जोरों पर चल रहा है।

सख्ती से कार्रवाई करेंगे

जिले के सभी पुलिस अधिकारियों को अवैध शराब और नशे के कारोबार के खिलाफ कार्रवाई के लिए निर्देश दिए हुए हैं। एनडीपीएस एक्ट में सख्ती से कार्रवाई की जा रही है। अवैध शराब के खिलाफ भी अभियान चलाकर सख्त कार्रवाई
की जाएगी।
परिस देशमुख, जिला पुलिस अधीक्षक, अलवर।

Lubhavan Desk
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned