scriptसड़क बनाने के नाम पर खेतों के पास बना दी गहरी खाई, किसानों के लिए बन रही दुखदाई…पढ़ें यह न्यूज | Patrika News
अलवर

सड़क बनाने के नाम पर खेतों के पास बना दी गहरी खाई, किसानों के लिए बन रही दुखदाई…पढ़ें यह न्यूज

अलवर-करौली मेगा हाईवे से उद्योग नगर को जोड़ने वाली 30 करोड़ की सड़क का कार्य 6 माह से बंद। बारिश का जमा पानी दे रहा दुर्घटना को निमंत्रण। सीएम बजट घोषणा की सड़क का कार्य शुरू नहीं होने पर विधानसभा पर करेंगे प्रदर्शन

अलवरJun 29, 2024 / 07:32 pm

Ramkaran Katariya

मालाखेड़ा. अलवर-करौली मेगा हाईवे से उद्योग नगर को जोड़ने वाली मुख्यमंत्री बजट घोषणा की सड़क का निर्माण कार्य 6 महीने से बंद है। अब मानसून सीजन की बारिश होने से सड़क पर पानी जमा होने लगा है, जिससे यह दुर्घटना का सबब बन रही है। इतना ही नहीं सड़क बनाने के नाम पर खेतों के दोनों और गहरी खाई बनाकर छोड़ दी गई, जो अब किसानों के लिए भी परेशानी का कारण बन रही है।
गहलोत सरकार में मुख्यमंत्री सड़क योजना के तहत बजट घोषणा 2023 में करीब 29 किलोमीटर लंबी सड़क के लिए 30 करोड रुपए स्वीकृत किए गए थे। जिसका शिलान्यास अक्टूबर माह में कैबिनेट मंत्री रहे टीकाराम जूली ने किया था। शिलान्यास के दो महीने तक कार्य तेज गति से चला, लेकिन जैसे ही प्रदेश में सरकार बदली निर्माण कार्य पर रोक लग गई। सड़क निर्माण सुदृढ़ीकरण का कार्य ठप हो गया, जो इस सड़क से आने जाने वालों के लिए दुर्घटना का कारण बन रहा है।
बाबूलाल मीणा, विश्राम मीणा, सोमदेव यादव, नसीब खान, रोहताश वर्मा, राजेश मीणा, हरीश सुखवानी, भूरजी बैरवा, श्यामसिंह, मूल सिंह, धर्मी चौधरी, रामजीलाल शर्मा आदि का कहना है कि सड़क निर्माण के नाम पर अक्टूबर के महीने में गेहूं की फसल को बर्बाद कर खेतों में गहरी खाई बना दी गई, जो अब दुर्घटना का कारण बन रही है।
इन क्षेत्रों को मिलता लाभ

सड़क के बनने से राजगढ़-लक्ष्मणगढ़ विधानसभा के अलवर-करौली मेगा हाईवे पर बहाली से सताना, श्याम गंगा, बिलंदी, चौमू, निठारी, नगली राजावत, खेड़ली सैयद, उद्योग नगर आदि को जोड़ने से लाभ मिलता। करीब 29 किलोमीटर लंबी सड़क निर्माण के साथ इसका चौड़ाईकरण एवं सुदृढ़ीकरण कार्य किया जाना था। इस मामले में वन मंत्री संजय शर्मा से मोबाइल के जरिए संपर्क का प्रयास किया, लेकिन उन्होंने फोन ही रिसीव नहीं किया। इसके बाद अलवर ग्रामीण विधानसभा क्षेत्र से विधायक रहे जयराम जाटव से बातचीत की गई तो उन्होंने बताया कि सड़क का कार्य शीघ्र शुरू कर पूरा किया जाए, इसके लिए विभाग को पत्र लिखकर अवगत कराया जाएगा।
…………..

यह है सड़क का प्रारूप

– मुख्यमंत्री सड़क योजना के तहत बजट घोषणा की 2023 में

– निर्माणाधीन सड़क की लंबाई करीब 29 किमी

– लागत स्वीकृत की गई 30 करोड़ रुपए
– सड़क निर्माण के साथ इसका किया जाना था चौड़ाईकरण एवं सुदृढ़ीकरण कार्य

– हालात यह है कि सड़क के दोनों ओर गहरी खाई खोद कर छाह माह से कार्य बंद

……………..
विभाग ने बीच में निर्माण कार्य पर रोक लगा दी थी

सार्वजनिक निर्माण विभाग, मालाखेड़ा के सहायक अभियंता बीएल मीणा का कहना है कि मुख्यमंत्री बजट घोषणा की सड़क निर्माण का कार्य बंद रहने से लोगों को परेशानी हो रही है। विभाग ने बीच में निर्माण कार्य करने पर रोक लगा दी थी। इस वजह से यह कार्य विलंब से हुआ।
………………..

सरकार की पोल खोली जाएगी

नेता प्रतिपक्ष टीकाराम जूली का कहना है कि तीन विधानसभा क्षेत्र को एक ही सड़क से जोड़कर आने-जाने के लिए सुगम रास्ता बनाया जाए, इसके लिए मुख्यमंत्री से 30 करोड़ की राशि सड़क निर्माण के लिए स्वीकृत कराई थी, लेकिन जनहित के इस सड़क के कार्य को भाजपा सरकार ने रोक दिया, जो क्षेत्र के लोगों के साथ विश्वासघात और कुठाराघात है। समय पर ठेकेदार का भुगतान करें और सड़क के कार्य को शुरू करें, जिससे सड़क पर हो रही दुर्घटना पर अंकुश लग सके। सड़क का कार्य शुरू नहीं किया गया तो विधानसभा में प्रश्न लगाकर सरकार की पोल खोली जाएगी।

Hindi News/ Alwar / सड़क बनाने के नाम पर खेतों के पास बना दी गहरी खाई, किसानों के लिए बन रही दुखदाई…पढ़ें यह न्यूज

ट्रेंडिंग वीडियो