राजस्थान के इस जिले में तनाव न झेल पाने से बढ़ रही आत्महत्याएं

राजस्थान के इस जिले में तनाव न झेल पाने से बढ़ रही आत्महत्याएं

Rajeev Goyal | Updated: 28 Dec 2017, 04:26:56 PM (IST) Alwar, Rajasthan, India

राजस्थान के अलवर जिले में बीते साल कई जानें गई जिसमें आत्महत्या के आंकड़े बढ़ रहे हैं।

अलवर. अलवर में आत्महत्या की घटनाओं में तेजी से बढ़ोतरी हो रही है। एक जनवरी से अब तक 65 लोगों ने आत्महत्या की है। ज्यादातर लोगों ने विषाक्त पदार्थ खाकर अपनी जीवन लीला समाप्त की है। जबकि सड़क हादसों में 149 लोगों की जान गई है। ऐसे में हमे जागरूक होने की जरूरत है। ट्रैफिक पुलिस को भी विशेष अभियान चलाकर लोगों को जागरूक करने व यातायात नियमों की जानकारी देनी चाहिए।
राजीव गांधी सामान्य अस्पताल में अब तक 377 लोगों का पोस्टमार्टम हुआ है, जबकि 1540 लोग मारपीट की घटनाओं में घायल हुए व 519 रेप की घटनाएं हुई है। इन लोगों की डॉक्टरों ने मेडिकल जांच की है। इससे साफ है कि जिले में क्राइम का ग्राफ तेजी से बढ़ रहा है। इस साल अस्पताल में 55 आत्महत्या के मामले सामने आए हैं। इसमें 33 लोगों ने विषाक्त पदार्थ खाकर आत्महत्या की है, तो 18 लोगों ने फांसी लगाई, 9 लोगों ने पानी में डूबकर अपनी जीवन लीला समाप्त की है व 5 लोगों ने अन्य तरीके अपनाएं हैं। इसका एक बड़ा मानसिक तनाव है, तो दूसरी तरफ सड़क हादसों में 149 लोगों जान गई है। यह हालात अकेले सामान्य अस्पताल में हुए पोस्टमार्टम का है। सड़क हादसों में बीते साल भी अलवर प्रदेश में सबसे आगे था। दिल्ली जयपुर नेशनल हाईवे पर अलवर जिला में सबसे अधिक हादसे होते हैं।


क्या कदम उठाने चाहिए


जिला प्रशासन व पुलिस को मिलकर विशेष अभियान चलाना चाहिए। हादसों के प्वाइंट को चिहिंत करके वहां साइन बोर्ड लगाने चाहिए। घटना स्थालों पर यातायात नियमों के हिसाब से डिवाइडर सहित अन्य जरूरी कदम उठाने चाहिए।


बीमारी भी है मौत का बड़ा कारण


एक जनवरी से अब तक अज्ञात बीमारी के चलते 24 लोगों की मौत हुई है। जबकि जलने से 10 लोगों की जान गई है। करंट लगने से 9 लोग, शराब पीने से 3, सामान्य कारणों से 18 लोग, ट्रेन से कटकर व ट्रेन के चपेट में आने से 22 लोगों की जान गई है। पांच लोगों की अन्य कारणों से मौत हुई है।

Show More

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned