पुलिस ने इस तरह किया गैंगस्टर अरुण का एनकाउंटर, यहां से मिली थी सूचना, जानिए इनसाइड स्टोरी

अलवर पुलिस ने कुख्यात गैंगस्टर हरिया के राइट हैंड माने जाने वाले अरुण गुर्जर का इस तरह किया था एनकाउंटर।

By: Himanshu Sharma

Published: 10 Feb 2018, 10:49 AM IST

जिस रात अरुण का पुलिस ने एनकाउंटर किया, उस रात करीब 8 बजे कुख्यात अपराधी हरिया के फरीदाबाद में होने की सबसे पहले सूचना यूपी एसटीएफ को मिली। बाद में देर रात 11 से 12 बजे तक सूचना की पुष्टि हो पाई। अपराधी हरिया की गाड़ी एक अन्य बदमाश के घर के बाहर खड़ी देखी गई। इस पर अलवर पुलिस, यूपी एसटीएफ व फरीदाबाद क्राइम ब्रांच की टीम संयुक्त रूप से हरिया की तलाश में जुट गई। उसी दौरान हरिया को पुलिस के आने की भनक लग गई। बाद में फरीदाबाद के छायसा गांव के पास बदमाशों व पुलिस बीच फायङ्क्षरग हुई, जिसमें अरुण ढेर हो गया।

पुलिस सूत्रों ने बताया कि हरिया का दोस्त बदमाश ज्ञानी एक दिन पहले ही जेल से छूट कर आया था। ज्ञानी की बदमाश अन्नी गुर्जर व एक अन्य बदमाश से दुश्मनी थी। इसलिए ज्ञानी ने हरिया को बुलाया व अन्नी को ठिकाने लगाने की योजना बनाई। इसकी सूचना यूपी एसटीएफ को मिली। इस पर बदमाशों की लॉकेशन पता चलने पर ज्ञानी व अन्नी का गांव हरिया के गांव से 15-20 किमी दूर पर मिला। चार घंटे बाद हरिया की कार अन्नी के घर के बाहर खड़ी होने की जानकारी मिली तो तीनों पुलिस टीमें फरीदाबाद रवाना हो गई। हरिया के खिलाफ ज्यादातर मामले नोएडा व ग्रेटर नोएडा थाने में दर्ज हैं।

सुंदर भाटी गैंग से संबंध

एनसीआर व पश्चिमी उत्तर प्रदेश की बड़ी गैंग में से एक सुंदर भाटी गैंग से हरिया गैंग के सम्बंध सामने आ रहे हैं। पुलिस सूत्रों ने बताया कि पहले हरिया नोएडा, ग्रेटर नोएडा, बुलंदशहर व उसके आसपास क्षेत्र में ही लूटपाट करता था। कुछ दिन पहले वह अलवर में आया था।
पुलिस यूपी रवाना
कुख्यात अपराधी हरिया की लॉकेशन का पता चलने पर पुलिस की पांच टीमें अलवर से पश्चिमी उत्तर प्रदेश के लिए रवाना हुई हैं। वहीं नीमराणा में हुई लूट के मामले में अलवर से गिरफ्तार तीन बदमाशों ने पूछताछ में बताया कि हरिया उनका उपयोग करता था। अलवर से नीमराणा, खैरथल, चौपानकी व क्यूआरटी की दो टीमें उसे पकडऩे के लिए पश्चिमी उत्तर प्रदेश के लिए रवाना हुई हैं।

सूचना देने वाले को मिलेगा पुरस्कार

पवन उर्फ हरिया की सूचना देने एवं गिरफ्तारी में सहयोग करने वाले को पुलिस की तरफ से प्रोत्साहन के रूप में 10 हजार रुपए का पुरस्कार दिया जाएगा। एसपी राहुल प्रकाश ने बताया कि हरिया के खिलाफ भिवाड़ी व नीमराणा में मामले दर्ज हैं। हरिया पर घोषित इनाम पांच हजार रुपए से बढ़ाकर 25 हजार रुपए करने की अनुशंषा की गई है।

Show More
Himanshu Sharma
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned