scriptपानी, वाटर लॉगिंग, ईको—सेंसेटिव जोनजैसे मुद्दे मेरे संज्ञान में हैं-भूपेंद्र यादव | Patrika News
अलवर

पानी, वाटर लॉगिंग, ईको—सेंसेटिव जोनजैसे मुद्दे मेरे संज्ञान में हैं-भूपेंद्र यादव

केंद्रीय वन एवं पर्यावरण मंत्री भूपेंद्र यादव ने कहा है कि पानी की किल्लत, सरिस्का और भिवाड़ी में वाटर लॉगिंग जैसे मुद्दे मेरे संज्ञान में हैं। इन समस्याओं को दूर करने की दिशा में जल्द काम शुरू होगा।

अलवरJun 23, 2024 / 12:54 pm

Umesh Sharma

अलवर

केंद्रीय वन एवं पर्यावरण मंत्री भूपेंद्र यादव ने कहा है कि पानी की किल्लत, सरिस्का और भिवाड़ी में वाटर लॉगिंग जैसे मुद्दे मेरे संज्ञान में हैं। इन समस्याओं को दूर करने की दिशा में जल्द काम शुरू होगा। जनता ने जिस विश्वास के साथ मुझे यह जिम्मेदारी दी है, उसे पूरा करूंगा और अलवर की जनता के बीच रहकर उनके सुख-दुख में भागीदार बनूंगा।
दो दिवसीय दौरे पर अलवर आए यादव ने कहा कि मेरी संसदीय क्षेत्र में लगातार उपस्थिति रहेगी। धन्यवाद कार्यक्रम की मैंने शुरुआत कर दी है। चुनाव के दौरान मुझे जो भी समस्या लोगों ने बताई है, उसे लेकर काम शुरू कर दिया है। चाहे पानी हो, अलवर का विकास हो या फिर यहां का पर्यटन सभी विषयों पर मैं अधिकारियों से बैठक कर चुका हूं। राजस्थान के बजट से पहले अलवर के संबंध में प्रस्ताव दिए जाएंगे, ताकि अलवर को ज्यादा से ज्यादा फायदा मिले।
विकास कार्य का रोडमैप करें तैयार

यादव ने सर्किट हाउस में महत्वपूर्ण विभागों के अधिकारियों की समीक्षा बैठक लेकर आवश्यक दिशा-निर्देश दिए। इस दौरान वन एवं पर्यावरण राज्यमंत्री (स्वतंत्र प्रभार) संजय शर्मा भी मौजूद रहे। यादव ने अलवर में सुचारू पेयजल आपूर्ति, सरिस्का अभ्यारण्य, भिवाड़ी में जलभराव की समस्या एवं अलवर जिले के विकास के संबंध में अधिकारियों से चर्चा कर फीडबैक लिया। इसके बाद संबंधित अधिकारियों से विकास कार्यों एवं समस्याओं के निदान के लिए रोडमैप तैयार करने की बात कही। उन्होंने जलदाय विभाग के अधिकारियों को निर्देश दिए कि अलवर शहर की पेयजल आपूर्ति नगर विकास न्यास के परिक्षेत्र के आधार पर कार्य योजना तैयार करें। इसमें घरेलू पेयजल के साथ-साथ संस्थागत जल व्यवस्था को भी समाहित किया जाए।
यह भी पढ़ें
-

ये कैसा खेल…शपथ पत्र में पार्किंग बताई, फिर भी घर के बाहर खड़ी हो रही गाड़ियां

विभिन्न मुद्दों पर हुई चर्चा

इस दौरान अलवर जिले की पेयजल आपूर्ति व्यवस्था व जल संरक्षण एवं भूजल रिचार्ज आदि विषयों पर चर्चा हुई। इसके बाद सरिस्का अभयारण्य के समग्र विकास पर वन विभाग के अधिकारियों से फीडबैक लेकर अभ्यारण के विकास व संरक्षण आदि से जुड़े पहलूओं पर कार्य योजना बनाने की बात कही। वहीं, भिवाड़ी में जल भराव की समस्या के निराकरण के संबंध में नगर परिषद भिवाडी, रीको, डीआईसी, प्रदूषण मंडल व संबंधित अधिकारियों से समन्वित कार्य योजना बनाकर कार्य करने को कहा।

Hindi News/ Alwar / पानी, वाटर लॉगिंग, ईको—सेंसेटिव जोनजैसे मुद्दे मेरे संज्ञान में हैं-भूपेंद्र यादव

ट्रेंडिंग वीडियो