जनता कर्फ्यू और लॉक-डाउन के बाद भी यहां सरकारी कर्मचारी ने आयोजित कर दिया 21 गांवों के लिए मृत्युभोज, मौके पर पहुंचे पुलिस-प्रशासन, फिर...

जनता कर्फ्यू और लॉक-डाउन के बाद भी यहां सरकारी कर्मचारी ने आयोजित कर दिया 21 गांवों के लिए मृत्युभोज

By: Lubhavan

Published: 22 Mar 2020, 03:10 PM IST

अलवर. एक ओर जहां कोरोना वायरस के रोकथाम के लिए पूरे देश में रविवार को जनता कर्फ्यू लगा हुआ है तथा राजस्थान सरकार की ओर से 31 मार्च तक पूरे प्रदेश को लॉक डाउन करने की घोषणा की है, इसके बाद भी एक सरकारी कर्मचारी ने अपने घर पर 21 गांवों का मृत्युभोज आयोजित कर दिया।

अलवर जिले के बहरोड़ के नागलखोडिया गांव में पंचायतीराज विभाग में कार्य करने वाले लिपिक की ओर से अपनी माँ के निधन पर रविवार को 21 गांवों का मृत्युभोज कार्यक्रम आयोजित किया गया था। जिसमे गांव के साथ ही बाहर के गांवों से लोग मृत्यु भोज में पहुच रहे थे। बहरोड प्रशासन को जैसे ही जनता कर्फ्यू व राजस्थान लॉक डाउन के बाद भी इस तरह के आयोजन की सूचना मिली तो उपखंड अधिकारी सन्तोष कुमार मीणा, डीएसपी अतुल साहू, तहसीलदार रोहिताश पारीक, थानाधिकारी जितेंद्र सोलंकी जाप्ते के साथ लिपिक सुरेश चन्द यादव के घर पर पहुचे। वहाँ देखा कि सुरेश चन्द यादव द्वारा अपनी माँ के निधन पर मृत्युभोज के लिए बड़े क्षेत्र में टेण्ट लगा रखा है तथा आने जाने वाले लोगो के खाने की व्यवस्था कर रखी है। ऐसे में प्रशासन द्वारा कोरोना वायरस की रोकथाम के लिए कड़े इंतजाम किए जा रहे है लेकिन उसके बाद भी आयोजक सुरेश चन्द ने मृत्यु भोज के कार्यक्रम को रद्द नही किया।

चेतावनी देकर आ गया प्रशासन

उपखंड अधिकारी द्वारा पंचायतीराज विभाग के कर्मचारी सुरेश चन्द यादव को जल्द से जल्द टेन्ट हटाने, मृत्यु भोज के लिए बनाए गए खाने के पैकेट बनाकर लोगो को घरो में पहुंचाने के निर्देश दिए।

Corona virus
Lubhavan Desk
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned