हरियाणा से पैदल चले, राजस्थान के रास्ते मध्य प्रदेश जाएंगे ये मजदूर, हर कोई अपनी सीमा से निकाल रहा

लॉक डाउन में मजदूरों की समस्या अभी समाप्त नहीं हुई है, मजदूर अब भी हजारों किलोमीटर दूर अपने घर पैदल जाने को मजबूर है

By: Lubhavan

Published: 18 Apr 2020, 11:36 AM IST

अलवर. जिले में दूसरे प्रदेशों से आने वाले लोगों से कोरोना वायरस के संक्रमण फैलने का खतरा कम नहीं हो सका है। शुक्रवार को भी हरियाणा से पैदल चकर आए काफी महिला-पुरुष अलवर जिले के खैरथल से पडि़सल होते हुए निकले हैं। जिनको मध्यप्रदेश पहुंचना है। मतलब ये लोग तीन राज्यों की सीमाओं से होते हुए निकलेंगे। किसी एक में भी कोरोना का संक्रमण हुआ तो खतरा जगह-जगह हैं। जिधर से भी निकलेंगे उधर से ही कोरोना वायरस के फैलने का डर रहेगा।

हर कोई अपनी सीमा से निकाल रहा

ये लोग जिधर से भी निकल रहे हैं वहां की पुलिस व प्रशाासन अपने क्षेत्र से निकालने के अलावा कोई बड़ा कदम नहीं उठा पा रहे हैं। सबको यही लग रहा है कि अपने क्षेत्र की सीमा से आगे निकालें। ताकि दूसरे अधिकारियों की जिम्मेदारी बने। इसी फेर में कोरोना वायरस का चक्र आगे बढऩे लगा है। न इन लोगों की स्क्रीनिंग हुई है न सैंपल की जांच। मतलब कोरोना पॉजिटिव हुए तो संक्रमण फैलना तय है। जबकि चिकित्सा विभाग के अधिकारी बार-बार सावचेत करने में लगे हैं कि दूसरे प्रदेश व जिलों से आने वाले लोगों को हर हाल में रोका जाए।

ऐसे सैकड़ों लोग निकल रहे

इस तरह अलवर जिले से हर दिन सैकड़ों लोग निकल रहे हैं। कुछ रात्रि को पैदल निकलते हैं तो कुछ सुबह-शाम। ताकि उनके सामने प्रशासन की बाधा कम से कम आए। वैसे भी रोड पर चल रहे इन लोगों को रोकने का इंतजाम भी नहंीं हैं। इस तरह लोगों को निकलते हुए खासकर जिले में बहरोड़, नीमराणा, भिवाड़ी, तिजारा, खैरथल, नौगांवा सहित आसपास की सीमाओं के आसपास खूब देखा गया है।

Corona virus
Lubhavan Desk
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned