बड़ी शातिर है यह लुटेरी दुल्हन, अलग-अलग लोगों से शादी करके लूट लाती है गहने और लाखों रुपए, अब हुई गिरफ्तार

Looteri Dulhan Arrested : पुलिस ने इस लुटेरी दुल्हन को गिरफ्तार कर लिया है। पूछताछ से इसके गिरोह तक पहुंचने का भी प्रयास किया जा रहा है।

By: Lubhavan

Published: 06 Jan 2020, 03:07 PM IST

अलवर. looteri dulhan Arrested : एक लुटेरी दुल्हन जो अलग-अलग लोगों ने शादी कर उसे लूटकर फरार हो जाती। यह महिला नाम बदलकर शादी रचाती, शादी करने के भी पैसे लेती और फिर शादी में मिलने वाले और अन्य गहने लेकर फरार हो जाती। मामला अलवर जिले के तिजारा थाने का है। थानाधिकारी जितेंद्र नावरिया ने बताया कि राजेंद्र पुत्र किशनलाल निवासी जेरोली ने इस्तगासे के जरिये रिपोर्ट दर्ज कराई है कि साहून पुत्र दरेसी निवासी जेरोली थाना तिजारा गांव का ही रहने वाला है। जो अक्सर घर पर आता-जाता रहता था। उसने मुझसे कहा कि मेरी निगाह में मेरे मिलने वाले मित्र की एक लड़की है। जिससे मैं तेरा विवाह करा देता हूं। मैंने शादी के लिए हां कर दी और कहा कि मैं अपने परिवार से पूछकर आपको बता दूंगा। कुछ समय बाद मैंने अपने परिवार से बातचीत कर साहून को विवाह के लिए कहा तो साहून ने कहा कि लड़की का पिता गरीब है, इसलिए मुझे कुछ खर्चा करना पड़ेगा। जिस पर मैंने खर्च के लिए भी हां कर दी तथा विवाह के लिए उसने अपने घर पर 1.20 लाख रुपए प्राप्त कर लिए।

इसके दूसरे दिन उसने अंजलि पुत्री राजन पत्नी राकेश निवासी उजीना-हथीन पलवल, श्रीपाल पुत्र प्यारेलाल निवासी बरेली यूपी, फकरू पुत्र अजमत निवासी बाईखेड़ा तहसील फिरोजपुर झिरका से मुझे मिलवाया तो इन्होंने भी शादी कराने के लिए हां कर दी। साहून, अंजलि, श्रीपाल व फखरु मेरे परिवार को ग्राम उजीना लेकर गए और ममता से मिलवाया तो ममता ने भी मेरे साथ विवाह करने के लिए हां कह दी। इसके बाद समस्त आरोपी, मैं व परिवारजन ग्राम जेरोली आ गए। जेरोली के मंदिर में मेरा व ममता का आपस में विवाह करा दिया। जिस पर ममता को एक सोने का ओम, डेढ़ तोला सोने की चैन व 200 ग्राम चांदी की पायजेब उपहार स्वरूप दिए। उसके बाद हम जेरोली में पति-पत्नी के रूप में अपने दांपत्य जीवन का निर्वाह करने लगे।

विवाह के बाद ममता ने गत 21 सितंबर को मेरे पक्ष में विवाह बाबत एक शपथ पत्र लिखकर दिया। जिस पर अंजलि, श्रीपाल व फखरु ने बतौर गवाह अपने हस्ताक्षर किए। विवाह के 15 दिन बाद ममता ने मेरे को अपने घर वालों से मिलाने को कहा तो मैं शाम साहून के घर गया। साहून के घर पर अंजलि, श्रीपाल व फखरु भी पहले से ही मौजूद थे। जिस पर मैंने साहून से कहा कि मेरी पत्नी अपने पीहर वालों से मिलने की कह रही है। इस पर साहून ने कहा कि आप अपनी पत्नी ममता को ले जाकर उसके पीहर मिला लाओ, मैं आपके साथ फखरु, श्रीपाल व अंजलि को भी भेज देता हूं। जिस पर मैंने गत 6 अक्टूबर को एक गाड़ी में अंजलि, श्रीपाल व फकरु के साथ अपनी पत्नी ममता को लेकर ग्राम उजीना गया, रास्ते में इन्होंने गाड़ी को खाना खाने के लिए एक होटल पर रुकवाया। मैं होटल के पास ही शौच करने चला गया। वापस आने पर पत्नी ममता और अंजलि, श्रीपाल व फखरु मौजूद नहीं थे।

मैंने साहून को फोन किया तो उसने कहा कि मैं बात कर आपको बताता हूं। उसका शाम तक भी फोन नहीं आने पर फिरफोन किया तो साहून ने कहा कि आप घर पर आ जाओ वे अपने आप आ जाएंगे। मंै वापस अपने घर लौट आया। इसके बाद 7 अक्टूबर को मैं साहून के घर पर जाकर मिला तथा बातचीत की तो साहुन ने कहा कि हमने तुझे धोखे में रखते हुए रुपए ऐंठने थे, जो हमने ऐंठ लिए और अब ना तुझे ममता मिलेगी और ना ही तेरे पैसे वापस मिलेंगे। हम इसी प्रकार से लोगों का झूठा विवाह कराकर उनसे पैसे ऐंठते हैं। इतना कहकर साहून ने मुझसे अभद्रता और धक्कामुक्की कर घर से बाहर भगा दिया। पुलिस ने मामला दर्ज कर जांच शुरू की। एसआई विक्रमसिंह के अनुसार तलाशी के दौरान विवाह करने वाली महिला को पुलिस प्रोटेक्शन में भरतपुर जेल से तिजारा थाने लाया गया। पूछताछ के दौरान पता लगा कि इस महिला ने 8 नवंबर 2019 को गांव हथिनी में रमेश नामक युवक से सीमा नाम बताकर भी 2 लाख रुपए लेकर विवाह किया है। विवाह के 4 दिन रुकने पर पांचवें दिन नशीला पदार्थ देकर रमेश को अचेतावस्था में छोड़कर 2 लाख रुपए लेकर भाग गई।

Lubhavan
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned