अलवर केन्द्रीय बस स्टेण्ड पर मिल रही खाद्य सामग्री कर सकती है आपको बीमार, सफाई पर भी नहीं है ध्यान

Prem Pathak

Publish: Apr, 17 2018 03:19:14 PM (IST)

Alwar, Rajasthan, India
अलवर केन्द्रीय बस स्टेण्ड पर मिल रही खाद्य सामग्री कर सकती है आपको बीमार, सफाई पर भी नहीं है ध्यान

अलवर के केन्द्रीय बस स्टेण्ड पर बिकने वाली खाद्य सामग्री बेहद ही निम्न स्तर की है। यहां सफाई का तो कोई अता पता ही नहीं है।

अलवर के केन्द्रीय बस स्टेण्ड पर खुले में रखे खाद्य सामग्री खरीदने से पहले सावधान हो जाएं। बस स्टेण्ड पर मिलने वाले खाद्य सामग्री को खाने के बाद आप बीमार भी पड़ सकते है। केन्द्रीय बस स्टेण्ड पर मिलने वाले खाद्य सामग्री कई दिन पुराने होते हैं व इनकी गुणवत्ता भी सबसे निचले स्तर की है। यहां मिलने वाले पकौड़े, समोसे सहित अन्य खाद्य पदार्थ कई दिन पुराने होते हैं, यहां ग्राहक के मांगने पर पकौड़ों को उसी समय तेल में तलकर दे दिया जाता है। जिस तेल में इन चीजों को तला जाता है, वह भी 3 से 4 दिन पुराना होता है। कई दुकानों पर तो इतना पुराना तेल काम में लिया जाता है जो जलकर काला हो चुका होता है। बस स्टेण्ड पर मिलने वाली खाद्य सामग्री खुले में रखे रहते हैं जिनपर मक्खियां बैठ जाती है। अलवर केन्द्रीय बस स्टेण्ड से प्रतिदिन 10 हजार यात्री यात्रा करते हैं। बस स्टेण्ड पर खुले में रखी खाद्य सामग्री से इन यात्रियों की सेहत से भी खिलवाड़ हो रहा है।

जांच के नाम पर हो रही लापरवाही

केन्द्रीय बस स्टेण्ड पर मिलने वाली खाद्य सामग्री के कभी सैम्पल तक नहीं लिए जाते हैं। यहां खुले मे रखी खाद्य सामग्री की भी कोई जांच नहीं की जाती। दुकानदार बेफिक्र होकर इन खाद्य सामग्री को बेच रहे हैं। इन पर प्रशासन की ओर से कोई कार्रवाई भी नहीं की जा रही है, जिससे इनके हौंसले और भी बुलंद हो गए हैं।

बीमारी का भी है खतरा

इन अशुद्ध खाद्य पर्दाथों को खाने से कई प्रकार की बीमारियों का भी खतरा है। इन्हें खाने से फूड पॉइजनिंग का खतरा है। फूड पॉइजनिंग के कारण व्यक्ति को भर्ती भी करना पड़ सकता है। ऐसे खाद्य पर्दाथों का सेवन करने से पेट दर्द, डायरिया आदि प्रकार की बीमारियां भी हो सकती है।

कलाकंद भी पुराना

केन्द्रीय बस स्टेण्ड पर बिकने वाले कलाकंद की गुणवत्ता भी निम्न स्तर की है। अलवर का कलाकंद मशहूर होने के कारण यात्री यहां से कलाकंद खरीदते हैं, लेकिन यहां दुकानदार काफी दिन पुराना कलाकंद बेच रहे हैं। इसके साथ ही यहां बिकने वाली जलेबियां भी काफी पुरानी और अशुद्ध हैं।

गंदे बर्तन और फैली गंदगी

जिन बर्तनों में इन खाद्य सामग्रियों को बनाया जाता है, वे भी साफ नहीं है। यहां कढ़ाई में काला तेल जमा हुआ है। वहीं जहां यह बर्तन रखे हुए हैं वहां भी गंदगी फैली हुई है।

डाउनलोड करें पत्रिका मोबाइल Android App: https://goo.gl/jVBuzO | iOS App : https://goo.gl/Fh6jyB

Rajasthan Patrika Live TV

1
Ad Block is Banned