राजस्थान उपचुनाव में शांति हो सकती है बहाल, पुलिस के लिए होगी बड़ी चुनौती, जानिए क्या है वजह

राजस्थान उपचुनाव में शांति हो सकती है बहाल, पुलिस के लिए होगी बड़ी चुनौती, जानिए क्या है वजह

Rajeev Goyal | Publish: Jan, 17 2018 11:14:19 AM (IST) Alwar, Rajasthan, India

अलवर लोकसभा उपचुनावों में शातिं व कानून व्यवस्था बहाल हो सकती है। इसको लेकर पुलिस महकमा भी तैयार है।

अलवर. लोकसभा उपचुनाव के दौरान शांति व कानून व्यवस्था को लेकर पुलिस ने तैयारी शुरू कर दी है। सलाखों से बाहर शहर व जिले में घूम रहे हिस्ट्रीशीटर व हार्डकोर अपराधियों को चुनाव के दौरान शांति बनाए रखनेे के लिए पाबंद किया गया है। जिला पुलिस अधीक्षक ने बताया कि जिले में 343 हिस्ट्रीशीटर हैं, जिनमें से 50 वर्तमान में जेल में बंद हैं। जिले में 116 हार्डकोर अपराधी हैंं, जिनमें से 35 फिलहाल जेल में बंद हैं। वहीं, 81 जेल से बाहर हैं। इनमें से एक को छोडकऱ सभी को पाबंद किया गया है। एक हार्डकोर अपराधी शिवाजी पार्क थाने का सन्नी पंजाबी है, जो पिछले कई सालों से दिल्ली रह रहा है।

सात दिन पहले सीमाओं की नाकाबंदी

लोकसभा चुनाव को लेकर जिले की सीमाओं को पुलिस मतदान से लगभग सात दिवस पहले ही सील कर देगी। इस दौरान सीमाओं पर पुलिस नाकाबंदी रहेगी और किसी भी बाहरी व्यक्ति को जांचे-परखे बिना जिले में प्रवेश नहीं दिया जाएगा। सीमाओं की चौकसी और शांतिपूर्ण मतदान को लेकर बाहर से भी पुलिस बल बुलाया जाएगा।

16 हजार 842 को किया पाबंद

पुलिस ने लोकसभा उपचुनाव को देखते हुए जिले में 16 हजार 842 को पाबंद किया है। जिला पुलिस अधीक्षक ने बताया कि इनमें कई ऐसे भी लोग शामिल हैं, जिनके खिलाफ कोई आपराधिक मुकदमा नहीं है। लेकिन ये लोग चुनाव प्रक्रिया को प्रभावित कर सकते हैं। इसलिए कानून एवं शांति व्यवस्था को ध्यान में रखकर इन्हें पाबंद किया है।

एनईबी व कोतवाली में सबसे ज्यादा हिस्ट्रीशीटर

जिले में सबसे ज्यादा हिस्टीशीटर कोतवाली व एनईबी थाना क्षेत्र में हैं। पुलिस रिकॉर्ड के अनुसार एनईबी में सबसे अधिक 30 व कोतवाली क्षेत्र में 29 हिस्टीशीटर हैं। सबसे अधिक हार्डकोर अपराधी अरावली विहार थाना क्षेत्र में 15 हैं। वहीं, सदर में 11, लक्ष्मणगढ़ व कठूमर में 10-10 व तिजारा में 11 हार्डकोर अपराधी हैं।

लोकसभा उपचुनाव में शांति एवं कानून व्यवस्था को लेकर 16 हजार 842 लोगों को पाबंद किया गया है। इनमें हिस्टीशीटर, हार्डकोर अपराधी सहित चुनाव प्रक्रिया को किसी भी रूप में प्रभावित कर सकने वाले लोग शामिल हैं।
राहुल प्रकाश, जिला पुलिस अधीक्षक, अलवर

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned