छह दिन बाद खुली मंडियां, किसानों को मिली राहत

छह दिन बाद खुली मंडियां, किसानों को मिली राहत

Jyoti Patel | Publish: Sep, 07 2018 02:29:48 PM (IST) Alwar, Rajasthan, India

https://www.patrika.com/rajasthan-news/

अलवर. अलवर की किसान मंडी छह दिन बाद खुलने से किसानो ने रहत की सांस ली है। अलवर की मंडियों में छह दिन बाद काम का शुरू हुआ। मंडी में इन दिनों सरसों और गेहूं की आवक हो रही है। मंडी में प्रतिदिन तीन से चार हजार बोरी सरसों और गेंहू पहुंच रहा है। वहीं 6 दिन से मंडी के बंद होने पर व्यापारी और किसानों को खासी परेशानी उठानी पड़ रही थी। 1 से 5 सितंबर मंडी में हड़ताल थी, जिसके कारण पिछले ६ दिनों से मंडी बंद थी और कारोबार पूरी तरह ठप पड़ा था। छह सितंबर को भारत बंद के चलते मंडी बंद रही।

इससे अलवर की मंडियों में प्रतिदिन 50 करोड़ रुपए का कारोबार प्रभावित हो रहा था। किसान पृथ्वी की फसल लेकर मंडी पहुंच रहे थे लेकिन उनको परेशान होकर वापस लौटना पड़ रहा था। यह की मंडी में अलवर के साथ साथ भरतपुर, दौसा, जयपुर ग्रामीण व हरियाणा के किसान सरसों व गेंहू बेचने के लिए आते हैं। छह दिनों से मंडी बंद होने से किसानों को खासी परेशानी उठानी पड़ रही थी। अलवर मंडी सरसो, प्याज, गेंहू व ग्वार की बड़ी मंडी है। मंडी में साल भर फसलों की आवक होती है। अलवर मंडी के अलावा खैरथल, खेड़ली, रामगढ सहित कई बड़ी मंडी है। मंडी में फसलों के रेट भी पुराने चल रहे है। अलवर जिले में सरसों के तेल की कई बड़ी यूनिट है। इनमें साल भर सरसों की मांग रहती है। इसलिए भी यहा देशभर के व्यापारियों की नजर रहती है।

Read more : 4G उपलब्धता में पहले स्थान पर कोलकाता, जानिए किस स्थान पर है राजस्थान

Read more : सावधान! घर के पास जमा बरसाती पानी में लार्वा मिला तो लगेगा 500 रूपए जुर्माना, किस शहर में जारी हुआ ये फरमान, जानिए

Read more : आश्चर्यजनक! फोगिंग भूलकर शहर में लार्वा ढूंढ़ने निकले निगमकर्मी, 500 रुपए का लगा रहे जुर्माना

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

Ad Block is Banned