सरकार के रेट पर बच्चों को नहीं मिल रहा दूध

सरकार के रेट पर बच्चों को नहीं मिल रहा दूध

Dharmendra Adlakha | Updated: 17 Jul 2019, 12:46:24 PM (IST) Alwar, Alwar, Rajasthan, India

सरकार की ओर से रेट किए गए दूध के भाव बच्चों पर भारी पड़ रहे हैं। ग्रामीण क्षेत्रों में मिड -डे-मील में मिलने वाला दूध सरकारी भाव में नहीं मिल रहा है जिससे प्रभारी शिक्षक के लिए मुसीबत बन गई है।

सरकार की ओर से रेट किए गए दूध के भाव बच्चों पर भारी पड़ रहे हैं। ग्रामीण क्षेत्रों में मिड -डे-मील में मिलने वाला दूध सरकारी भाव में नहीं मिल रहा है जिससे प्रभारी शिक्षक के लिए मुसीबत बन गई है।

 

शिक्षा विभाग ने दूध के भाव सरकारी स्तर पर 35 रुपए प्रति लीटर तय किए है। इस वर्ष बरसात में देरी के कारण दूध की खपत के अनुसार दूध नहीं मिल रहा है जिसके चलते दूध महंगा हो गया है। कई ग्रामीण क्षेत्रों में जहां से डेयरी दूर है जिनमें दूध इस भाव में देने से दुधिए मना कर रहे हैं।

 

गोविन्दगढ़ के समीपवर्ती गांव दोंगड़ी के राजकीय आदर्श उच्च माध्यमिक विद्यालय में पिछले 15 दिन से विद्यार्थियों को दूध का वितरण नहीं किया जा रहा है। सरकार की ओर से प्रत्येक सरकारी विद्यालय में कक्षा एक से आठवीं तक पढऩे वाले बच्चों को विद्यालय में दूध वितरण करने के निर्देश दे रखे हैं लेकिन नवीन सत्र शुरु होने के बाद विद्यालय में पोषाहार वितरण करने वाले ठेकेदार ने दूध का वितरण शुरू नहीं किया है जिससे बच्चे परेशान हैं। इस बाबत विद्यालय के प्रधानाचार्य नरेश कुमार लूथरा ने बताया कि इस समय दूध का रेट काफी महंगा है और सरकार ने 35 रुपए का रेट फिक्स कर रखा है और दूध 50 रुपए लीटर से कम नहीं मिल रहा है इसलिए दूध का वितरण नहीं हो रहा है।

बरसात आने के बाद सस्ते होंगे दूध-

इन दिनों जिले भर में बरसात नहीं होने के कारण दूध के भाव बढ़ गए है। ऐसे में सरकारी स्कूलों के बच्चों को दूध उपलब्ध कराना परेशानी का सबब बन गया है।

यह कहते हैं सम्बन्धित लोग-

जिला शिक्षा अधिकारी पूनम गोयल का कहना है कि दूध के भाव 35 रुपए लीटर सरकार ने तय किए हैं। इस भाव में दूध आसानी से मिल रहा है। यदि किसी स्कूल में बच्चों को दूध की सप्लाई नहीं हो रही है तो इस मामले की जांच कराई जाएगी।


इस बारे में शिक्षक कांग्रेस के जिलाध्यक्ष मनोज यादव कहते हैं कि सरकार ने दूध के भाव कम तय कर रखे हैं। इस भाव पर कई गांवों में दूध नहीं मिल पा रहा है। इसके रेट क्षेत्र के अनुसार रिवाइज करने चाहिए।

इस बारे में पंचायती राज शिक्षक संघ के प्रवक्ता मुकेश मीणा का कहना है कि दूध के रेट बढ़ाने की मांग को लेकर प्रदेशाध्यक्ष मूलचंद गुर्जर के नेतृत्व में शिक्षा मंत्री को ज्ञापन दिया जाएगा।

 

 

 

 

 

 

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned