मिनी सचिवालय के निर्माण कार्य में मिला अनियमितता व फर्जीवाड़ा

अलवर. पूर्व केन्द्रीय मंत्री जितेन्द्र सिंह रविवार को श्रम राज्य मंत्री टीकाराम जूली के साथ रविवार को पूर्व में उनकी ओर से स्वीकृत कराए विकास कार्यों का हाल जानने पहुंचे तो घटिया निर्माण एवं फर्जीवाड़े की पोल खुली।

By: Hiren Joshi

Published: 01 Jul 2019, 01:10 PM IST


सबसे ज्यादा अनियमितता व फर्जीवाड़ा मिनी सचिवालय के निर्माण कार्य में मिला। यहां टाइल्स लगाने में फर्जीवाड़ा पकड़ा, निर्माण कार्य में तय ब्रांड की जगह दूसरी कम्पनी की टाइलें लगाई जा रही थी। उन्होंने टाइल्स लगाने का कार्य बंद कराने और तीसरी एजेंसी से फर्जीवाड़े की जांच कराकर ठेकेदार को ब्लैक लिस्ट करने के निर्देश दिए। टीकाराम जूली एवं जितेन्द्र सिंह ने निर्माण कार्य में ठेकेदारों व अधिकारियों की मिलीभगत से निर्माण सामग्री काम लिए जाने पर नाराजगी जताई।
निरीक्षण के दौरान निविदा शर्तों के अनुसार कार्य नहीं मिलने पर श्रम राज्यमंत्री व पूर्व केन्द्रीय मंत्री सिंह ने नाराजगी जताई। उन्होंने नगर विकास न्यास सचिव को मिनी सचिवालय निर्माण में गडबड़ी की स्वतंत्र व निष्पक्ष जांच करवाने तथा दोषी अधिकारियों के खिलाफ सख्त कार्रवाई करने के निर्देश दिए।
लटकी मिली आरसीसी
मंत्री ने मिनी सचिवालय के निरीक्षण के दौरान दीवारों पर किए गए प्लास्तर की गुणवत्ता भी जांची। उन्होंने जैसे ही प्लस्तर को हाथ से खुरचा तो वह नीचे गिरने लगा। इस पर मंत्री व पूर्व मंत्री ने नाराजगी जताई। निर्माण कार्य पूरा होने से पहले आरसीसी के लटकने व अन्य खामियों पर भी नाराजगी जताई।

Hiren Joshi
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned