मंत्री भड़ाना के पुत्र की दबंगई, रेस्टोरेंट में तोडफ़ोड, अंदर सो रहे शैफ का हुआ ऐसा हाल

मंत्री भड़ाना के पुत्र की दबंगई, रेस्टोरेंट में तोडफ़ोड, अंदर सो रहे शैफ का हुआ ऐसा हाल

Prem Pathak | Publish: May, 18 2018 10:07:53 AM (IST) Alwar, Rajasthan, India

राजस्थान सरकार में हेमसिंह भडाना के मंत्री होने का फायदा उनके बेटे उठा रहे हैं, अब भडाना के बेटे पर रेस्टोरेंट में तोडफ़ोड़ का आरोप लगा है।

सामान्य प्रशासन मंत्री हेमसिंह भड़ाना के पुत्रों की दबंगई का एक और मामला सामने आया है। तिजारा-भिवाड़ी मार्ग पर अपनाघर शालीमार के समीप स्थित एक रेस्टोरेंट (अल लजीज) के संचालक ने मंत्री पुत्र धीरेन्द्र पर रेस्टोरेंट पर पत्थर फिंकवाने एवं धमकी देने का आरोप लगाते हुए पुलिस में मामला दर्ज कराया है। रेस्टोरेंट संचालक सूर्य नगर निवासी इमरान पुत्र कमरू ने बताया कि गुरुवार तडक़े करीब 3.50 बजे बाइक सवार दो अज्ञात बदमाश रेस्टोरेंट आए और इनमें से एक ने पत्थर मारकर रेस्टोरेंट के शीशे तोड़ दिए। बदमाशों का एक पत्थर रेस्टोरेंट में सो रहे शैफ ताहिर के पैर में आकर लगा। इससे वह और उसका पुत्र सोहेल घबरा गए। पत्थर से रेस्टोरेंट में जगह-जगह कांच के टुकड़े बिखर गए। रेस्टोरेंट संचालक का आरोप है कि मंत्री पुत्र के इशारे पर बदमाशों ने उसके रेस्टोरेंट पर पथराव किया।

बदमाशों की करतूत रेस्टोरेंट में लगे सीसीटीवी कैमरों में कैद हुई है, जिसका वीडियो भी वायरल हुआ है। मामले में पुलिस ने धारा 336, 427 मेें मामला दर्ज कर जांच शुरू कर दी है। मामले की जांच एसआई महेन्द्र राठी कर रहे हैं।
पैसे मांगे तो दी तोडफ़ोड़ की धमकी

रेस्टोरेंट संचालक ने दर्ज रिपोर्ट में बताया कि सामान्य प्रशासन मंत्री भड़ाना का पुत्र धीरेन्द्र उसके रेस्टोरेंट पर खाना खाने आता रहता है। खाने के बाद वह बिल के पैसे उधार कर जाता था। उसके मंत्री पुत्र पर खाने के 20 हजार रुपए बकाया चल रहे थे, जिनमें से 8 हजार रुपए का उसने भुगतान कर दिया था। गत 29 अप्रेल को मंत्री पुत्र का फोन आया और उसने अपनाघर शालीमार स्थित एक फ्लैट में खाना भेजने को कहा। इस दौरान पहले पिछला बकाया चुकाने की कहने पर मंत्री पुत्र भडक़ गया और शराब के नशे में धुत होकर रेस्टोरेंट पहुंचा। उसने धक्का-मुक्की एवं बदसलूकी कर रेस्टोरेंट के शीशे दो मिनट में तोडऩे की धमकी दी।

मैं और मेरा बेटा रेस्टोरेंट में सो रहे थे। बदमाशों का फेंका पत्थर मेरे पैर में लगा। घबराकर बेटा और मैं उठ गए। पत्थर काफी बड़ा था। हमने इसकी सूचना रेस्टोरेंट संचालक को दी।-

ताहिर, शैफ रेस्टोरेंट

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

Ad Block is Banned