अलवर में मॉब लिचिंग का मामला

चौपानकी कथित मॉब लिंचिंग प्रकरण में अलवर पुलिस बचाव की गलियां ढूंढ़ रही है। प्रकरण में शुरू में पुलिस अधिकारियों ने बिना जांच और पोस्टमार्टम रिपोर्ट के ही मॉब लिंचिंग की घटना से इनकार कर दिया था, लेकिन अब चारों तरफ से सवाल उठने और पोस्टमार्टम रिपोर्ट के तथ्यों को देख पुलिस अधिकारी बयान बदल रहे हैं।

By: Dharmendra Adlakha

Updated: 26 Jul 2019, 03:25 PM IST

चौपानकी के फलसा गांव से 16 जुलाई की रात पुलिस ने झिवाणा निवासी हरीश पुत्र रतिराम जाटव गंभीर घायल और अचेत अवस्था में भिवाड़ी सीएचसी में भर्ती कराया था। दिल्ली के सफदरजंग अस्पताल में उपचार के दौरान 18 जुलाई को हरीश की मौत हो गई। इससे एक दिन पहले 17 जुलाई हरीश के पिता रतिराम ने फलसा गांव के कुछ लोगों पर हरीश के साथ गंभीर मारपीट करने का प्रकरण दर्ज कराया।

दूसरे पक्ष के जमालुदीन ने हरीश के खिलाफ नशे में बाइक से उसकी पत्नी हकीमन को टक्कर मारने का मामला दर्ज कराया। हरीश की मौत पर मॉब लिंचिंग का मामला गरमाते ही जिला पुलिस अधीक्षक परिस देशमुख ने 19 जुलाई को प्रेसवार्ता की, जिसमें मॉब लिंचिंग की घटना से इनकार करते हुए प्रथम दृष्टया हरीश की मौत सडक़ हादसे में होना बताया था। अब पुलिस पोस्टमार्टम रिपोर्ट पर विशेषज्ञों की राय और चश्मदीदों के बयानों के आधार पर मौत के कारण स्पष्ट होने की बात कह रही है।

उच्चाधिकारियों को भी हादसे का फीडबैक दियाजिले के पुलिस अधिकारियों ने बिना जांच और पोस्टमार्टम रिपोर्ट के ही उच्चाधिकारियों को भी हरीश की मौत हादसे में होना बताया। लेकिन अब पोस्टमार्टम रिपोर्ट अलवर पुलिस को झूठा साबित करती दिख रही है।

पोस्टमार्टम रिपोर्ट में हरीश की मौत का कारण सिर में चोट लगना लिखा है। पुलिस ने हरीश की मौत सडक़ हादसे में होना बताया था, लेकिन उसकी बाइक पर कहीं भी खरोंच के निशान तक नहीं हैं। वहीं, पुलिस जिस महिला को बाइक से टक्कर मारना बता रही है। उस महिला के भी कहीं चोट नहीं है।

विशेषज्ञों की राय लेंगे

हरीश की मौत प्रकरण में पोस्टमार्टम रिपोर्ट मिल चुकी है। पोस्टमार्टम रिपोर्ट पर विशेषज्ञों की राय ली जाएगी। इसके बाद ही मौत के कारण स्पष्ट हो सकेंगे।

- परिस देशमुख, जिला पुलिस अधीक्षक, अलवर।

Dharmendra Adlakha Reporting
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned