फिर खून से सनी अलवर की सड़कें, कार की टक्कर से मां व दो बेटों की दर्दनाक मौत

फिर खून से सनी अलवर की सड़कें, कार की टक्कर से मां व दो बेटों की दर्दनाक मौत

Nidhi Mishra | Publish: Sep, 10 2018 03:15:04 PM (IST) | Updated: Sep, 10 2018 03:28:29 PM (IST) Alwar, Rajasthan, India

https://www.patrika.com/rajasthan-news/

अलवर। अलवर में सोमवार को फिर सड़कें खून से सन गईं। जिले के बहरोड़ में कार ने एक बाइक को टक्कर मार दी। इससे बाइक सवार मां व दो बेटों की मौत हो गई। वहीं कार में सवार लोगों का अस्पताल में इलाज चल रहा है। आपको बता दें कि अलवर में लगातार दूसरे दिन बड़ा सड़क हादसा हुआ है। रविवार को हुए सड़क हादसे में 6 लोगों ने अपनी जान गंवाई थी।

 

दो साल के मासूम सहित 6 की मौत
प्रदेश में भिवाड़ी राष्ट्रीय राजमार्ग संख्या आठ पर जयसिंहपुर खेड़ा बार्डर पर रविवार सुबह एक तेज रफ्तार कार व ट्रक की भिड़ंत हो गई, जिसमें एक दो साल के बच्चे सहित छह लोगों की मौत हो गई। जबकि एक महिला गंभीर रूप से घायल हो गई, जिसे उपचार के लिए रोहतक रैफर कर दिया गया है। हादसे के बाद घटनास्थल पर कोहराम मच गया। चीख-पुकार सुनकर आसपास के लोगों ने कार में फंसे लोगों को निकालने का प्रयास किया।

सूचना के बाद डीएसपी सुरेया हुडडा पुलिस बल के साथ मौके पर पहुंच गए। पुलिस कर्मियों ने कार में फंसे लोगों को बाहर निकाल कर बावल के सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र पहुंचाया। कार सवार सभी लोग जयपुर के समीप एक धाम की यात्रा के बाद वापस दिल्ली लौट रहे थे।

पुलिस के अनुसार मूल रूप से जयपुर के शिवदासपुरा हाल दिल्ली के बदरपुर निवासी 35 वर्षीय चंपी अपनी पत्नी 32 वर्षीय अनीता, दो वर्षीय बेटा आर्यन, 24 वर्षीय सुनील व उसकी पत्नी 20 वर्षीय रेखा, 30 वर्षीय लिच्छो देवी व जयपुर निवासी चंपी का रिश्तेदार 25 वर्षीय नरेश 7 सितंबर शुक्रवार को जयपुर के समीप स्थित नाई का धाम पर दर्शन करने के लिए गए थे। दर्शन करने के बाद सभी शनिवार रात को एसेंट कार में सवार होकर वापस दिल्ली लौट रहे थे। कार को चंपी चला रहा था।

इसी दौरान राष्ट्रीय राजमार्ग संख्या आठ पर जयसिंहपुर खेड़ा बैरियल पर कार अनियंत्रित होकर रोड किनारे खड़े पेड से टकराई उसके बाद दूसरी साइड में दिल्ली की ओर से आ रहे एक ट्रक में जा घुसी, जिससे कार के परखच्चे उड़ गए। घटना के बाद वहां चीख-पुकार मच गई। आसपास के लोगों ने कार में फंसे लोगों को बाहर निकालने का प्रयास किया, लेकिन कार बुरी तरह से पिचक गई थी।

सूचना के बाद पुलिस भी मौके पर पहुंच गई। पुलिस‌क‌र्मियों ने कार में फंसे लोगों को बाहर निकालकर बावल के सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र पहुंचाया, जहां चिकित्सकों ने लिच्छो देवी की गंभीर हालत को देखते हुए रोहतक रैफर कर दिया, जबकि अन्य लोगों को मृत घोषित कर दिया। देखते ही देखते सीएचसी बावल में लोगों की भीड़ जमा हो गई। डीएसपी सुरेश हुडडा व डीएसपी गजेंद्र भी अस्पताल पहुंच गए। पुलिस ने मामला दर्ज कर रविवार को शवों को पोस्टमार्टम कराकर परिजनों को सौंप दिया।

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

Ad Block is Banned