scriptNow the 'tracker dogs' of SSB are in search of the poor | अब एसएसबी के 'ट्रैकर डॉग्स जुटे दरिंदों की तलाश में ! | Patrika News

अब एसएसबी के 'ट्रैकर डॉग्स जुटे दरिंदों की तलाश में !

शहर के कई इलाकों में ट्रैकिंग कराई

अलवर

Published: January 15, 2022 01:53:27 am

सुजीत कुमार
अलवर. मूक बधिर नाबालिग से गैंगरेप करने वाले दरिंदों तक पहुंचने के लिए अब एसएसबी (सशस्त्र सीमा बल) के 'ट्रैकर डॉग्सÓ की मदद ले रही है। अलवर जिले के रैणी उपखण्ड के डेरा स्थित एसएसबी के डॉग ट्रेनिंग सेंटर से चार स्पेशल बुलाए गए हैं। इन ट्रैकर डॉग्स के माध्यम से पुलिस पीडि़ता का पूरा रूट मैप बनाने और दरिंदों तक पहुंचने के प्रयासों में जुटी है।
रैणी के डेरा स्थित एसएसबी के डॉग ट्रेनिंग सेंटर से बेल्जियन शेफर्ड नस्ल के चार ट्रैकर डॉग्स बुलाए गए हैं। जिनका नाम लिंका, लेसी, थोर और ओला है। ये चारों श्वान एसएसबी के स्पेशल ट्रैकर डॉग्स के रूप में जाने जाते हैं। जो कि मुख्य रूप से हत्या, लूट, डकैती एवं सर्च ऑपरेशन में काम आते हैं। इन डॉग्स के साथ रश्मि रंजन लिंका और अनूप कुमार आए हैं जो कि इनके ट्रेनर हैं।
पीडि़ता के कपड़े और जूते सुंघाकर पता लगा रहे : पुलिस और एसएसबी की टीम इन ट्रैकर डॉग को पीडि़ता के कपड़े और जूते सुंघाकर ट्रैकिंग करा रहे हैं। इन डॉग्स के माध्यम से पुलिस को पीडि़ता के रूट का पता लगाने में काफी मदद मिली है।
देशभर में दे चुके हैं अपने कौशल का परिचय : अलवर में मूक बधिर नाबालिग से गैंगरेप मामले में आरोपियों को पकडऩे के लिए अपनी अहम भूमिका निभा रहे चारों खोजी डॉग बेल्जियन शेफर्ड नस्ल के हैं। जिनमे से थोर, लिंका व लेसी मेल और ओला फीमेल डॉग है। ये चारों देश के विभिन्न् जगहों से रैणी क्षेत्र के डेरा में स्थित एसएसबी के डॉग ट्रेनिंग सेंटर में प्रशिक्षण के लिए आए हुए हैं। डॉग थोर डेरा डीटीसी का, ओला उड़ीसा पुलिस का, लेसी 5 बटालियन चंपावत का और लिंका 68 बटालियन देवेंद्र नगर आसाम का है, जो कि और अधिक दक्षता के लिए यहां आए हुए हैं। इन चारों डॉग्स ने देश में कई जगह अपने कौशल का परिचय दिया है।
चार ट्रैकर डॉग्स भेजे
&गैंगरेप मामले में अपराधियों की तलाश के लिए पुलिस के पास एसएसबी ट्रेनिंग सेंटर से बेल्जियन शेफर्ड नस्ल के चार स्पेशल ट्रैकर डॉग्स भेजे गए हैं। जो कि हत्या, लूट, डकैती और सर्च आपरेशन आदि के विशेष रूप से प्रशिक्षित किए गए हैं।
- डॉ. सुशांत पारेकर, डिप्टी कमांडेंट, एसएसबी डॉग ट्रेनिंग सेंटर, डेरा।
अब एसएसबी के 'ट्रैकर डॉग्स जुटे दरिंदों की तलाश में !
अब एसएसबी के 'ट्रैकर डॉग्स जुटे दरिंदों की तलाश में !
पहले भी कर चुके हैं बडएसएसबी के ये ट्रैकर डॉग्स पहले भी कई बड़े मामलों का खुलासा कर चुके हैं। बेल्जियन शेफर्ड नस्ल के डॉग थोर को अलवर पुलिस की ओर से इससे पहले राजगढ़ में हुए एक हत्याकांड के खुलासे में काम में लिया था। वहीं, शेष तीन डॉग्स पहली बार काम में लिए जा रहे हैं।़े
मामलों का
शहर के कई इलाकों में ट्रैकिंग कराई
एसएसपी के इन ट्रैकर डॉग्स के माध्यम से पुलिस गैंगरेप पीडि़ता के पूरे रूट मैप का खंगालने में जुटी है। गुरुवार को पुलिस की ओर से ट्रांसपोर्ट नगर, एनईबी, 60 फीट रोड आदि इलाकों में इन डॉग्स के माध्यम से ट्रैकिंग की गई। ट्रांसपोर्ट नगर इलाके में एक दुकान के सामने से पड़े ब्लड का सेम्पल भी लिया गया। खुलासा

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

Video Weather News: कल से प्रदेश में पूरी तरह से सक्रिय होगा पश्चिमी विक्षोभ, होगी बारिशVIDEO: राजस्थान में 24 घंटे के भीतर बारिश का दौर शुरू, शनिवार को 16 जिलों में बारिश, 5 में ओलावृष्टिदिल्ली-एनसीआर में बनेंगे छह नए मेट्रो कॉरिडोर, जानिए पूरी प्लानिंगश्री गणेश से जुड़ा उपाय : जो बनाता है धन लाभ का योग! बस ये एक कार्य करेगा आपकी रुकावटें दूर और दिलाएगा सफलता!पाकिस्तान से राजस्थान में हो रहा गंदा धंधाइन 4 राशि वाले लड़कों की सबसे ज्यादा दीवानी होती हैं लड़कियां, पत्नी के दिल पर करते हैं राजहार्दिक पांड्या ने चुनी ऑलटाइम IPL XI, रोहित शर्मा की जगह इसे बनाया कप्तानName Astrology: अपने लव पार्टनर के लिए बेहद लकी मानी जाती हैं इन नाम वाली लड़कियां
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.