अलवर बफर जोन में लोगों पर लगातार हमला कर रहा पैंथर, आज दो लोगों को किया घायल, दो दिन में 6 जनों पर किया हमला

Panther Attack In Alwar : अलवर बफर जोन के पास हाजीपुर डढीकर गांव में पैंथर ने आज फिर खेत में काम कर रहे दो जनों पर हमला कर उन्हें घायल कर दिया।

By: Lubhavan

Published: 27 Nov 2019, 02:54 PM IST

अलवर. panther attack : अलवर बफर जोन ( Alwar Buffer Zone ) के समीप स्थित हाजीपुर डढीकर ( Hajipur Dadhikar Village ) गांव में ( Panther Attack ) पैंथर ने आज फिर से ग्रामीणों पर हमला कर दिया। पैंथर ने एक महिला और एक बुजुर्ग पर हमला कर दिया। दोनों को अलवर के सामान्य अस्पताल के ट्रोमा सेंटर में भर्ती कराया गया है। पैंथर के इन हमलों के बाद से गांव में दहशत का माहौल है। पैंथर ने बुधवार को गांव के ही मिश्रो देवी जाटव और रामकुंवर गुर्जर को हमला कर घायल कर दिया। गांव के सरपंच राजेश जाटव ने बताया कि यह लोग खेत में काम कर रहे थे, तभी अचानक पैंथर आया और उसने ग्रामीणों पर हमला कर दिया। पैंथर के हमले से मिश्रो देवी और रामकुंवर बुरी तरह जख्मी हो गए। पैंथर ने मिश्रो देवी के चेहरे, गले और हाथ पर हमला किया है, वहीं रामकुंवर के भी हाथों पर भी पैंथर ने हमला किया है।

कल चार लोगों को किया था जख्मी

इससे पहले कल भी पैंथर ने हाजीपुर डढीकर गांव में शाम 6 बजे 4 लोगों को घायल कर दिया था। हाजीपुर डढीकर में मंगलवार शाम करीब 6 बजे खेत में बैठे लोगों पर पैंथर ने हमला कर दिया, जिससे चार लोग घायल हो गए। इनमें दो को गंभीर घायल होने पर सामान्य अस्पताल में भर्ती कराया गया है। सूचना मिलने पर वन विभाग की टीम मौके पर पहुंची, तब तक पैंथर वहां से जा चुका था।

अलवर वन मंडल के एसीएफ गिर्राज मंगल ने बताया कि हाजीपुर डढीकर में शाम करीब 6 बजे कुछ लोग बैठे थे, तभी वहां पैंथर ने गाय पर हमला किया। खेत में बैठे लोगों ने पैंथर से गाय छुड़ाने का प्रयास किया, इस दौरान पैंथर ने लोगों पर भी हमला कर दिया। हमले में हाजीपुर डढीकर निवासी मातादीन पुत्र गिर्राज के हाथों में गंभीर चोट आई, वहीं रणजीत पुत्र कन्हैयालाल के पैर में चोट आई। दोनों को इलाज के लिए अलवर के सामान्य अस्पताल में भर्ती कराया गया है। इसके अलावा कालू राम व राम कुंवार पुत्र सुल्तान को भी पैंथर ने पंजा मारकर घायल कर दिया। लेकिन गंभीर चोट नहीं होने के कारण दोनों का गांव में इलाज कराया जा रहा है। घटना के बाद पैंथर वहां से जंगल की ओर निकल गया।

मौके पर पहुंची वन विभाग की टीम

लगातार हो रहे वन्यजीव के हमले की जानकारी के बाद सरिस्का से वन विभाग की टीम हाजीपुर डढीकर गांव में पहुंची है। हालांकि वन विभाग के अधिकारियों का कहना है कि इस क्षेत्र में हाइना के पगमार्क मिले हैं। ऐसे में यह भी संभव है कि यह हमले हाइना ने किए हों, लेकिन ग्रामीण लगातार पैंथर के हमले करने की बात कर रहे हैं। अब वन विभाग की टीम मौके पर पहुंचकर वन्यजीव की तलाश कर उसे टैंक्यूलाइज करने का प्रयास कर रही है।

Lubhavan Desk
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned