तो सरिस्का में इस वजह से मर रहे हैं मोर, यह बड़ी वजह आई सामने

अलवर मे बाला किला क्षेत्र में पिछले दिनों कई मोरों कीे मौत हो चुकी है, अब इसकी वजह भी सामने आई है।

By: Prem Pathak

Published: 25 Apr 2018, 01:25 PM IST

अलवर. सरिस्का के अलवर बफर क्षेत्र में राष्ट्रीय पक्षी पर गहराए संकट का कारण जानने के लिए मृत मोरों के लिए गए नमूने जांच के लिए भारतीय वन्यजीव संस्थान देहरादून तथा आईवीआरआई केन्द्र पर भेजे जाएंगे। हालांकि मृत मोरों की पोस्टमार्टम रिपोर्ट में मोरों के मरने का कारण लीवर में संक्रमण बताया गया है।

सरिस्का बाघ परियोजना के अलवर बफर रेंज में लंबे समय से राष्ट्रीय पक्षी मोर के मरने का सिलसिला जारी है। इसमें भी किशनकुंड, अंधेरी, बाला किला तिराहा, जयविलास सहित कई अन्य क्षेत्रों में पिछले दिनों में मृत मोर मिले हैं। निरंतर मोरों की मौत के बाद सरिस्का प्रशासन ने मृत मोरों के नमूनों की जांच कराने का निर्णय किया है। इसमें एफएसएल सहित भारतीय वन्यजीव संस्थान व आईवीआरआई केन्द्र पर इन नमूनों की जांच कराई जाएगी।

जहरीले चुग्गे से संक्रमण व मौत का खतरा

बाला किला जंगल में बड़ी संख्या में लोग सुबह-शाम घूमने जाते हैं। इनमें कई लोग पक्षियों की सहायता के लिए उन्हें चुग्गा डाल देते हैं। इसमें बाजार से अनाज खरीदकर डाला जाने वाला चुग्गा नुकसान देह है। कारण है कि बाजार व घरों में अनाज को सुरक्षित रखने के लिए कई प्रकार के कीटनाशक व दवा डाली जाती है। ऐसा अनाज चुग्गे के रूप में डाला जाता है। जहरीला चुग्गा खाने से मोरों के लीवर में संक्रमण व मौत की आशंका ज्यादा रहती है। हालांकि सरिस्का प्रशासन कई बार लोगों से पक्षियों को चुग्गा नहीं डालने को कह भी चुका है, लेकिन चुग्गे पर पूरी तरह रोक नहीं लग पाई है।

पक्षियों को जंगल का भोजन श्रेयस्कर

अलवर बफर जोन के एसीएफ सज्जन कुमार का कहना है राष्ट्रीय पक्षी मोर सहित अन्य पक्षियों के लिए जंगल का भोजन श्रेष्ठ होता है। वहीं बाजार से लाकर डाला जाने वाला चुग्गा पक्षियों के लिए नुकसानदेह होता है। राष्ट्रीय पक्षी मोरों के बचाने के लिए जल स्रोतों की सफाई के साथ ही उनमें दवा डलवाई जा रही है। मृत मोरों के नमूनों को जांच के लिए भेजा जाएगा। इसके बाद ही मोरों की मौतों का असल कारण सामने आ सकेगा।

Show More
Prem Pathak Reporting
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned