अलवर वृद्धा हत्याकांड: जिस पर किया विश्वास, उसी ने कराई हत्या, बदमाशों के गिरेबां तक पहुंची पुलिस

Prem Pathak

Publish: Mar, 14 2018 09:09:33 AM (IST)

Alwar, Rajasthan, India
अलवर वृद्धा हत्याकांड: जिस पर किया विश्वास, उसी ने कराई हत्या, बदमाशों के गिरेबां तक पहुंची पुलिस

अलवर के ट्रांसपोर्ट नगर में वृद्धा की हत्या के मामले का पुलिस आज कर सकती है खुलासा।

 

अलवर. शहर के ट्रांसपोर्ट नगर प्रीत विहार में 80 वर्षीया वृद्धा की हत्या मामले में पुलिस के हाथ बदमाशों की गिरेबां तक पहुंच गए हैं। पुलिस मामले का कभी भी खुलासा कर सकती है। पुलिस सूत्रों के अनुसार वृद्धा ने जिस पर विश्वास किया, उसी ने उसकी हत्या करवा दी। वृद्धा तारा गुप्ता पत्नी जगदीश चंद गुप्ता घर में अकेली रहती थी। उसका बेटा परिवार सहित फरीदाबाद रहता था। अकेले मन नहीं लगने पर वह घर में किराएदार भी रखती थी। ऐसी ही एक किराएदार महिला से उसके गहरे व पारिवारिक संबंध थे।

महिला का वृद्धा के घर मकान खाली करने के बाद भी आना-जाना रहता था। बस, यही विश्वास व संबंध वृद्धा की हत्या के कारण बन गए। सूत्रों के अनुसार इसी महिला ने अपने दो प्रेमियों की मदद से वृद्धा की हत्या कराई। गौरतलब है कि प्रीत विहार निवासी वृद्धा तारादेवी रविवार सुबह अपने बिस्तर पर मृत पड़ी मिली। वृद्धा के हाथ व मुंह कपड़े से बंधे थे। कान कटे व उनसे खून बह रहा था। किसी ने बड़ी बेरहमी से उसके कान में पहने टॉप्स को खींचा था। पुलिस को जांच में वृद्धा के कान के टॉप्स, हाथों में पहनी सोने की चूडिय़ां सहित घर में रखे करीब 14 हजार रुपए गायब मिले।

सीसीटीवी फुटेज से खुली वारदात

वृद्धा की हत्या के खुलासे में पुलिस को सीसीटीवी कैमरों की फुटेज से काफी मदद मिली। फुटेज के आधार पर ही पुलिस ने वृद्धा की हत्या करने वाले दोनों आरोपितों की पहचान की। बाद में इनकी निशानदेही पर पुलिस वृद्धा के घर में रह चुकी किराएदारनी तक पहुंची। गौरतलब है कि वृद्धा की हत्या के बाद ‘पत्रिका’ ने सबसे पहले आरोपितों के सीसीटीवी फुटेज प्रकाशित किए थे।

अलवर में बढ़ता जा रहा है अपराध

अलवर में अपराध बढ़ता जा रहा है। अलवर के शिवाजी पार्क की घटना हो, या गोतस्करी की, या नीमराणा मे ज्वैलर में लूट की, खैरथल में व्यापारी की, अब वृद्धा की, इन सभी घटनाओं ने अलवर को शर्मसार किया है।

डाउनलोड करें पत्रिका मोबाइल Android App: https://goo.gl/jVBuzO | iOS App : https://goo.gl/Fh6jyB

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

Ad Block is Banned