अलवर में पुलिस की बड़ी कार्रवाई, देह व्यापार के लिए लाई गई बालिकाएं मुक्त काराई

अलवर में पुलिस की बड़ी कार्रवाई, देह व्यापार के लिए लाई गई बालिकाएं मुक्त काराई

Rajeev Goyal | Updated: 14 Feb 2018, 04:50:54 PM (IST) Alwar, Rajasthan, India

अलवर पुलिस की मानव तस्करी विरोधी यूनिट ने देह व्यापार के लिए लाई गई चार बालिकाएं मुक्त कराई ।

अलवर.अलवर में मानव तस्करी का जाल बिछता ही जा रहा है, अलवर व आसपास के क्षेत्र में देह व्यापार भी तेजी से बढ़ रहा है, लेकिन इसको रोकने के लिए अलवर पुलिस की मानव तस्करी यूनिट भी पूरी तरह से मुस्तैद है। मानव तस्करी विरोधी यूनिट एवं चाइल्ड लाइन ने थानागाजी के लाहा का बास से देह व्यापार के लिए लाई गई चार बालिकाओं को मुक्त कराया। बाद मेें इन बालिकाओं को बाल कल्याण समिति के समक्ष पेश किया गया, जहां से इन्हें केडलगंज स्थित मदर टेरेसा शिक्षा समिति अस्थाई आश्रय भेज दिया गया। चाइल्ड लाइन के समन्वयक सतीश चौधरी ने बताया कि 12 फरवरी को सूचना मिली कि थानागाजी के लाहा का बास में देह व्यापार के लिए बाहर से बालिकाओं को लाकर बंधक बनाया गया है। इस पर चाइल्ड लाइन व मानव तस्करी विरोधी यूनिट की टीम लाहा का बास पहुंची और चार बालिकाओं को मुक्त कराया। बाल कल्याण समिति के अध्यक्ष श्रवण सिंघल ने बताया कि इनमें से तीन बालिकाएं भरतपुर जिला एवं एक अलवर की रहने वाली है। बालिकाओं का बुधवार को मेडिकल कराया जाएगा।

कार्रवाई में मानव तस्करी विरोधी यूनिट प्रभारी रामरूप मीणा, हैड कांस्टेबल पप्पूराम मीणा, कांस्टेबल फजरूदीन, लोकेश कुमार, चाइल्ड लाइन के राकेश कुमार सहित थानागाजी के थाना प्रभारी महेन्द्र सिंह, महिला कांस्टेबल रीना कुमारी आदि शामिल थे।

महिलाओं व बच्चियों की खरीद-फरोख्त से अलवर शहर सहित आस-पास के क्षेत्रों में रेड लाइट एरिया पनप रहे है, जिन्हे चमकाने के लिए बड़ी संख्या में महिलाओं व बच्चियों का खरीद व बेचान हो रहा है। दूसरे राज्यों से भी महिलाओं को लाया जा रहा है। शहर से बाहर निकलते ही सडक़ किनारे ऐसे अड्डे आसानी से दिखने लगे हैं वहीं गावों में भी यह काम गुपचप तरीके से चल रहा है। अलवर पुलिस समय-समय पर अलग अलग जगहों पर दबिश देकर देह व्यापार को रोकने का प्रयास कर रही है।

 

Show More

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned