मत्स्य विश्वविद्यालय की भर्ती पर राजनीति हो रही हावी, अब भर्ती प्रभारी के साथ किया कुछ ऐसा, आपको भी होगा संदेह

अलवर के मत्स्य विश्वविद्यालय में राजनीति हावी हो गई है। अब भर्ती प्रभारी सहित ६ व्याख्याताओं को कार्यमुक्त कर दिया गया है।

By: Prem Pathak

Published: 20 Jul 2018, 04:23 PM IST

राजर्षि भर्तृहरि मत्स्य विश्वविद्यालय में भर्ती और परीक्षाओं पर राजनीति पूरी तरह हावी हो गई है। यहां से गुरुवार को 6 व्याख्याताओं को कार्यमुक्त कर दिया गया जिनमें परीक्षा नियंत्रक और आईटी प्रभारी भी हैं।
गुरुवार को कॉलेज शिक्षा निदेशालय ने परीक्षा नियंत्रक डॉ. सप्तेश कुमार, भर्ती प्रभारी डॉ. मुकेश मीणा, योगेन्द्र सिंह धामा, एचएच वेदवान, रवि विजय और वीएन पांडे को कार्यमुक्त कर इन्हें इनके कॉलेज भेज दिया गया है। यहां कई दिनों से आपसी उठापटक चल रही है। इस कार्य मुक्ति के पीछे व्याख्याताओं के एक संगठन के पदाधिकारियों का हाथ है।

कैसे आएगा परीक्षा परिणाम

विश्वविद्यालय में इन दिनों परीक्षा परिणाम कई कक्षाओं का नहीं आया है। इसके कारण यहां आए दिन विरोध प्रदर्शन हो रहे हैं। यहां प्रतिनियुक्ति पर 12 में से 6 व्याख्याओं की प्रतिनियुक्ति निरस्त होने से परीक्षा परिणाम में और देरी होगी। भर्ती प्रक्रिया देख रहे प्रभारी को ही हटा दिया गया है। इससे भती प्रक्रिया में बाधा आ सकती है।

शुरू से ही विवादों में रहा विश्वविद्यालय

विश्वविद्यालय में व्याख्याताओं की प्रतिनियुक्ति को लेकर प्रारंभ से ही विवाद रहा है। यहां कई व्याख्याता प्रति नियुक्ति पर आए जो बाद में स्वयं ही अपने कॉलेज में चले गए। यहां काफी समय से प्रति नियुक्ति पर आए व्याख्याताओं के दो गुट बने हुए हैं। विश्वविद्यालय में पहले ही स्टाफ की कमी चली आ रही है। यहां काफी समय से रजिस्ट्रार तक नहीं है। विश्वविद्यालय में एक संगठन से जुड़े व्याख्याता भर्ती व परीक्षा में अपनी मनमर्जी चलाना चाहते हैं जिसको लेकर विवाद बढ़ गया है। इसका खामियाजा विद्यार्थियों को उठाना होगा।

राजगढ़ में 54 एमएम बारिश

अलवर. जिले में बारिश का दौर गुरुवार को भी बना रहा। इस दिन अलवर सहित जिले के कई हिस्सों में हल्की व तेज बारिश हुई। सबसे अधिक बारिश राजगढ़ में 54 एमएम दर्ज की गई। बारिश से मौसम खुशनुमा हो गया। इससे तापमान में भी गिरावट आई। सिंचाई विभाग के अनुसार बुधवार शाम 4 बजे से लेकर गुुरुवार शाम 4 बजे तक अलवर शहर में 7, मालाखेड़ा में 15, बानसूर में 20, गोविन्दगढ़ में 15, टपूकड़ा में 16, सोडावास में 20, मंगलसर में 22, मुण्डावर में 14, बहरोड़ में 7, रामगढ़ में 14 एमएम बारिश रिकॉर्ड की गई।

बांधों का बढ़ा जलस्तर

बारिश से बांधों के जलस्तर में भी बढ़ोतरी हुई है। सिंचाई विभाग के अनुसार सिलीसेढ़ में बुधवार को 18 फीट 10 इंच पानी था, जो गुरुवार को बढकऱ 18 फीट 11 इंच हो गया। मंगलसर का भी जलस्तर 8 इंच बढकऱ 11 फीट 10 इंच पर पहुंच गया।

 

Prem Pathak Reporting
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned