अलवर गौ तस्करी मामला: इस वजह से हुई थी गोतस्कर तालीम की मौत, पोस्टमार्टम में हुआ खुलासा

अलवर गौ तस्करी मामला: इस वजह से हुई थी गोतस्कर तालीम की मौत, पोस्टमार्टम में हुआ खुलासा

Rajeev Goyal | Updated: 11 Dec 2017, 10:05:34 AM (IST) Alwar, Rajasthan, India

अलवर गोतस्करी मामले में गोतस्कर तालीम की मौत की वजह सामने आई है। तालीम की मौत गर्दन में गोली फंसने से हुई थी।

गोतस्कर तालीम खां की मौत गर्दन में गोली फंसने से हुई। पुलिस मुठभेड़ में एक गोली उसके जबड़े को चीरती हुई निकल गई, वहीं दूसरी उसकी गर्दन में जा फंसी। जो श्वांस व भोजन नली सहित गले की रक्त वाहिनियों को भेदती हुई गर्दन के पीछे रीड की हड्डी के पास तक पहुंच गई, जिससे उसकी मौके पर ही मौत हो गई।


शनिवार को पुलिस ने गोतस्कर तालीम के शव का मेडिकल बोर्ड से पोस्टमार्टम कराया। मेडिकल ज्यूरिष्ट डॉ. केके मीणा के नेतृत्व में डॉ. योगेश चौधरी, डॉ. दिनेश यादव व रेडियोलॉजिस्ट श्याम मोहन ने तालीम के शव का पोस्टमार्टम किया। इस दौरान चिकित्सकों को उसकी गर्दन में एक गोली फंसी मिली। पोस्टमार्टम में साफ हो गया कि गोतस्कर की मौत गोली लगने से हुई है। इस पर फाइनल ओपिनियन के लिए विसरा लेकर बैलेस्टिक, एफएसएल एवं स्टो पैथोलॉजी जांच के लिए भेजा गया है।


एक्सरा व वीडियोग्राफी कराई


पोस्टमार्टम के दौरान पुलिस ने तालीम के शव का एक्स-रे भी कराया, ताकि उसके शरीर में कहीं और बुलट हो तो पता चल सके, लेकिन पोस्टमार्टम के दौरान केवल उसकी गर्दन में गोली के कुछ टुकड़े मिले। पुलिस ने पूरे पोस्टमार्टम की वीडियोग्राफी भी कराई है।


करीब साढ़े तीन घंटे चला पोस्टमार्टम


तालीम के शव के पोस्टमार्टम में मेडिकल टीम को करीब साढ़े तीन घंटे का समय लगा। मेडिकल बोर्ड की टीम सुबह करीब ११ बजे पोस्टमार्टम में जुटी, जो दोपहर करीब 2.30 बजे तक चला। मेडिकल ज्यूरिष्ट ने बताया कि पुलिस उपाधीक्षक जयसिंह नाथावत ने तालीम पुत्र शरीफ खां का मेडिकल बोर्ड से पोस्टमार्टम की तहरीर दी। इस पर डिप्टी कंट्रोलर के आदेश पर बोर्ड गठित कर पोस्टमार्टम किया गया। गोतस्कर के पोस्टमार्टम के दौरान मोर्चरी के बाहर मेव समाज के लोग व बड़ी संख्या में पुलिस बल तैनात रहा।


दो जांचें चलेंगी साथ-साथ

सीआईडी-सीबी के साथ-साथ मामले की मजिस्ट्रेट जांच भी होगी। अतिरिक्त जिला कलक्टर शहर महेन्द्र मीणा मामले की मजिस्ट्रेट जांच कर तीन माह के भीतर जिला कलक्टर को रिपोर्ट प्रस्तुत करेंगे।

10-11 सेन्टीमीटर तक भेदी गर्दन


पोस्टमार्टम रिपोर्ट में सामने आया है कि गोतस्कर तालीम को लगी एक गोली उसके गले को भेदती हुई करीब 10-11 सेन्टीमीटर तक गर्दन में जा धंसी। गौरतलब है कि पुलिस ने गोतस्करों पर 7 राउण्ड फायर किए। जिनमें से दो गोलियां गोतस्करों के वाहन के शीशे को भेदती हुई तालीम को लगी। वहीं, दो अन्य गोलियां उनकी गाड़ी की बॉडी को छेदती पार निकल गईं।

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned