बेटी का कोख में मारने वाला डाक्टर खोलेगा कई राज, कई जिलों में फैला रखा था जाल

बेटी का कोख में मारने वाला डाक्टर खोलेगा कई राज,  कई जिलों में फैला रखा था जाल

| Publish: Feb, 23 2017 08:48:00 AM (IST) Alwar, Rajasthan, India

अलवर जिले के किशनगढ़बास कस्बे में पीसीपीनडीटी टीम की ओर से गिरफ्तार चिकित्सक, कम्प्यूटर से कई राज खुल सकते हैं। प्रदेश में अपनी तरह की हुई इस कार्रवाई में कई और चिकित्सकों के जाल के पर्दाफाश होने की संभावना है।

अलवर. अलवर जिले के किशनगढ़बास कस्बे में पीसीपीनडीटी टीम की ओर से गिरफ्तार चिकित्सक, कम्प्यूटर से कई राज खुल सकते हैं।


 प्रदेश में अपनी तरह की हुई इस कार्रवाई में कई और चिकित्सकों के जाल के पर्दाफाश होने की संभावना है।


कई साल से चल रहा था खेल

अलवर जिले के किशनगढ़बास कस्बे में भ्रूण लिंग परीक्षण का खेल कई सालों से चल रहा था। लिंग की जांच कराने वाले दलाल गर्भवती महिलाओं को 50 हजार रुपए का पैकेज देते थे। इसमें 25 हजार रुपए भ्रूण लिंग की जांच कराने व 25 हजार रुपए गर्भपात कराने के लेते थे। 



पीसीपीएनडीटी जांच दल ने बताया कि जांच के दौरान कई तरह की खुलासे हुए हैं। इसमें एक पैकेज सिस्टम का मामला सामने आया है। दलाल महिलाओं से 50 हजार रुपए लेते थे।


खुलासे होने की भी उम्मीद


 सेंटर के कम्प्यूटर ऑपरेटर व अन्य गिरफ्तार आरोपितों से पूछताछ में पीसीपीएनडी टीम को कई ओर खुलासे होने की भी उम्मीद है। किशनगढ़बास मामले में दलालों ने 25 हजार रुपए लिए थे।  जो टीम ने बरामद कर लिए हैं। 


मशीन सीज करने का पहला मामला


अलवर जिले में मशीन सीज करने का यह पहला मामला है। इससे पहले बिना अनुमति लिए दूसरे अस्पताल में सोनोग्राफी मशीन शुरू करना, दस्तावेज में कमी सहित अन्य मामले है। 


 2 अगस्त 2016 को प्रदेश की टीम ने अलवर की एक दलाल के साथ मथुरा में एक डॉक्टर को गिरफ्तार किया था।


 इसी साल फरवरी में हरियाणा की टीम ने शहर  के एक सेंटर पर कार्रवाई करते हुए एक दलाल को भू्रण लिंग परीक्षण की झूठी सूचना देने के आरोप में गिरफ्तार किया था।

 

अब तक 59 कार्रवाई

पीसीपीएनडीटी टीम अलवर सहित प्रदेशभर में अब तक भू्रण लिंग परीक्षण की 59 कार्रवाई कर चुकी है। जबकि 11 कार्रवाई  प्रदेश के बाहर अन्य राज्यों में की गई है। इसमें पांच कार्रवाई यूपी, गुजरात में पांच व एक कार्रवाई  हरियाणा में की गई है।



जिला प्रशासन ने कहा मिल रही थी शिकायतें

जिला कलक्टर मुक्तानंद अग्रवाल ने बताया कि इस सोनोग्राफी सेंटर द्वारा लिंग जांच किए जाने की सूचना मिल रही थी। जिस पर राज्य पीसीपीएनडीटी सेल को सूचित किया गया। 


उसी के अनुरूप बुधवार को जिला प्रशासन के साथ मिलकर पीसीपीएनडीटी सेल ने एक डॉक्टर सहित दो दलालों का गिरफ्तार किया हैं। अग्रवाल ने बताया कि सेंटर में मशीन व उपकरण तथा कुछ दस्तावेज जब्त किए गए हैं।

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned