Third Grade Teacher Recruitment: सामाजिक विज्ञान आैर संस्कृत विषय के पदाें काे लेकर आर्इ ये खबर

पिछली बार REET में सामाजिक विज्ञान आैर संस्कृत विषय के लाखाें अभ्यर्थी शामिल हुए। पिछली भर्ती में पद सृजित नहीं होने के कारण नौकरी का अवसर नहीं मिला।

By: santosh

Updated: 23 Feb 2018, 01:26 PM IST

अलवर। प्रदेश भर में कई हजार बीएड डिग्रीधारी अभ्यर्थियों के सामने असमंजस की स्थिति बनी हुई है। पिछली बार REET परीक्षा में सामाजिक विज्ञान आैर संस्कृत विषय के करीब साढ़े चार लाख अभ्यर्थी शामिल हुए। पिछली भर्ती में पद सृजित नहीं होने के कारण नौकरी का अवसर नहीं मिला।

 

अब फिर से इन दो विषयों के करीब 5 लाख
अभ्यर्थियों ने रीट की परीक्षा दी है। इस बार भी भर्ती का कैलेण्डर पहले जारी नहीं हुआ, जिससे अभ्यर्थियों में यह संशय है कि आगे आने वाली भर्तियों में पर्याप्त पद आएंगे या नहीं। पिछली बार की तुलना में इस बार रीट परीक्षा में करीब एक लाख अभ्यर्थी बढ़ गए हैं। एेसे में हर एक पद के लिए प्रतिस्पर्धा भी बढ़ गई है।

 

दो विषय वालों की यह स्थिति
जानकारी के मुताबिक पिछली बार रीट के साथ भर्ती का कैलेण्डर जारी नहीं होने से दो विषयों की योग्यता रखने वाले अभ्यिर्थियों में असमंजस की स्थिति है। किसी के पास सामाजिक विज्ञान व अंग्रेजी विषय की योग्यता है। चाहे जिस विषय से रीट परीक्षा दे सकता है। लेकिन इस उम्मीद में सामाजिक विज्ञान विषय से परीक्षा दी कि पद अधिक आएंगे, लेकिन इस विषय के पद ही नहीं दिए गए।

 

10 लाख में से आधे इन दो विषय के
हाल में हुई रीट परीक्षा में कुल 10 लाख में से करीब 5 लाख अभ्यर्थी सामाजिक विज्ञान व संस्कृत विषय के हैं। इस बार भी अभ्यर्थियों को डर है कहीं फिर से दोनों विषयों के पद रह नहीं जाएं।

 

करेंगे आंदोलन
बाहरी राज्यों के युवाओं का आरक्षण सीमित करने की मांग को लेकर प्रदेश स्तरीय आंदोलन तेज किया जाएगा। कैलेण्डर जारी नहीं होने से पिछली बार भी अभ्यर्थियों को निराश होना पड़ा। दो विषयों के अभ्यर्थियों को नौकरी का अवसर नहीं मिला। कैलेण्डर पहले जारी होना चाहिए।
उपेन यादव, प्रदेशाध्यक्ष, एकीकृत बेरोजगार महासंघ

 

अंग्रेजी में एक साल की पढ़ाई, विषयाध्यापक बनाने पर रोक, हाईकोर्ट ने दिया आदेश

 

Show More

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned