scriptsariska good news | सरिस्का से सुखद खबर, आग सिमटी, अपने विचरण क्षेत्र में ही नजर आए बाघिन व नन्हें राजकुमार | Patrika News

सरिस्का से सुखद खबर, आग सिमटी, अपने विचरण क्षेत्र में ही नजर आए बाघिन व नन्हें राजकुमार

सरिस्का बाघ परियोजना से सुखद खबर है। जंगल की आग सिमट गई है। पांच दिन दावानल के बाद भी सरिस्का के बाघ व नन्हें राजकुमार सुरक्षित हैं। सरिस्का प्रशासन को बाघिन एसटी-17 व उसके दो शावक नारेंडी एनिकट के समीप नजर आए। आग के बाद भी बाघिन एसटी-17 ने अपनी टैरिटरी नहीं बदली है।

अलवर

Published: April 01, 2022 05:56:10 pm

सरिस्का बाघ परियोजना से सुखद खबर है। जंगल की आग सिमट गई है। पांच दिन दावानल के बाद भी सरिस्का के बाघ व नन्हें राजकुमार सुरक्षित हैं। सरिस्का प्रशासन को बाघिन एसटी-17 व उसके दो शावक नारेंडी एनिकट के समीप नजर आए। आग के बाद भी बाघिन एसटी-17 ने अपनी टैरिटरी नहीं बदली है। बाघिन एसटी-17 व शावकों का नारेंडी एनिकट के आसपास ही मूवमेंट रहा। आग से पहले जहां बाघिन व शावकों की साइटिंग हुई थी, वन विभाग की टीम को उसी क्षेत्र में बाघिन व शावक नजर आए हैं। आग के दौरान सरिस्का व वन विभाग के अधिकारी बाघिन एसटी व शावकाें पर नजर बनाए हुए थे। लगातार बाघिन के पगमार्क को फॉलो किया। बाघिन के विचरण क्षेत्र के चारों तरफ वनकर्मियों ने सुरक्षा चैन बनाई। ऐहतियात के तौर पर अग्निशमन सिलेंडर व बचाव के अन्य उपकरण साथ रखे। आग से अन्य बाघों के विचरण क्षेत्र पर भी असर नहीं हुआ है। सरिस्का के अकबरपुर रेंज के बालेटा, पृथ्वीपुरा का जंगल बाघ एसटी-20 व एसटी-23 का आवास है। आग सिमटने के बाद अब यह बाघ भी सुरक्षित हैं।
सरिस्का से सुखद खबर, आग सिमटी, अपने विचरण क्षेत्र में ही नजर आए बाघिन व नन्हें राजकुमार
सरिस्का से सुखद खबर, आग सिमटी, अपने विचरण क्षेत्र में ही नजर आए बाघिन व नन्हें राजकुमार
जूते-चप्पल जले, फिर भी डटे रहे वनकर्मी

सरिस्का में आग के दौरान सरिस्का, अलवर व अन्य जिलों के वनकर्मी पांच दिनों तक जंगल में डटे रहे। ऑपरेशन के दौरान कई वनकर्मियों के जूते-चप्पल जल गए, ग्रामीणों को चोट आई, मधुमक्खियों ने डंक मारे, तमाम परेशानियों के बीच वनकर्मी लगातार जुटे रहे और आग पर नियंत्रण पाया। राज्य के मुख्य वन्यजीव प्रतिपालक अरिंदम तोमर, सरिस्का के क्षेत्र निदेशक आर.एन.मीणा, डीएफओ सुदर्शन शर्मा सहित अन्य अधिकारियों ने आग पर नियंत्रण के बाद वनकर्मियों के पास जाकर उनके कार्य की सराहना की व हौसला बढ़ाया।
आग के दौरान भी बेहतर रहा पर्यटन

सरिस्का वन क्षेत्र में पांच दिन आग के कारण चिंताजनक हालात बने रहे, लेकिन इस दौरान पर्यटन बेहतर रहा। सरिस्का राष्ट्रीय उद्यान में बड़ी संख्या में पर्यटकों ने सफारी का आनंद लिया। पर्यटकों को वन्यजीवों की साइटिंग भी हुई। अधिकारियों का कहना है कि वीकेंड पर भी बड़ी संख्या में पर्यटकों की प्री-बुकिंग हुई है।

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

Veer Mahan जिसनें WWE में मचा दिया है कोहराम, क्या बनेंगे भारत के तीसरे WWE चैंपियनName Astrology: इन नाम वाले लोगों के जीवन में अचानक से धनवान बनने का होता है योगफटाफट बनवा लीजिए घर, कम हो गए सरिया के दाम, जानिए बिल्डिंग मटेरियल के नए रेटबुध जल्द वृषभ राशि में होंगे मार्गी, इन 4 राशियों के लिए बेहद शुभ समय, बनेगा हर कामबेहद शार्प माइंड होते हैं इन 4 राशियों के लोग, बुध और शनि देव की रहती है इन पर कृपाज्योतिष: रूठे हुए भाग्य का फिर से पाना है साथ तो करें ये 3 आसन से कामराजस्थान में देर रात उत्पात मचा सकता है अंधड़, ओलावृष्टि की भी संभावनाशादी के 3 दिन बाद तक दूल्हा-दुल्हन नहीं जा सकते टॉयलेट! वजह जानकर हैरान हो जाएंगे आप

बड़ी खबरें

टेरर फंडिंग केस में यासीन मलिक को उम्र कैद की सजा, 10 लाख का जुर्मानायासीन मलिक की सजा से तिलमिलाया पाकिस्तान, PM शहबाज शरीफ, इमरान खान, शाहिद आफरीदी को आई मानवाधिकार की यादAir Force के 4 अधिकारियों की हत्या, पूर्व गृहमंत्री की बेटी का अपहरण सहित इन मामलों में था यासीन मलिक का हाथअमरनाथ यात्रियों को तीन लेयर में मिलेगी सिक्योरिटी, ड्रोन व CCTV कैमरों के जरिए भी रखी जाएगी नजरमहबूबा मुफ्ती ने बीजेपी पर हमला करते हुए कहा- आप बता दो कि मुसलमानों के साथ क्या करना चाहते होकपिल सिब्बल समाजवादी पार्टी के टिकट से जाएंगे राज्यसभा, बताई कांग्रेस छोड़ने की वजह16 वर्षीय ग्रैंडमास्टर आर प्रज्ञानानंद ने रचा इतिहास, चेसेबल मास्टर्स के फाइनल में पहुँचने वाले पहले भारतीयलोकसभा चुनाव वाला Yogi का बजट, धर्म के साथ रोजगार, युवा, किसान, महिलाओं को जोड़ेगी सरकार
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.