वनकर्मियों को बताया, ऐसे करते हैं टाइगर की ट्रैकिंग

वन्यजीव सुरक्षा व प्रबंधन का दिया प्रशिक्षण

By: Prem Pathak

Published: 20 Jul 2020, 10:36 PM IST

अलवर. सरिस्का बाघ परियोजना में सोमवार को विभिन्न जिलों के गैर वन्यजीव वन मंडलों में पदस्थापित स्टाफ को वन्यजीव प्रबंधन की फील्ड ट्रेनिंग शुरू की गई। प्रथम चरण में प्रदेश के 12 वन मंडलों के 60 वनकर्मियों को वन्यजीव सुरक्षा एवं प्रबंधन का प्रशिक्षण दिया जाएगा।

प्रशिक्षण कार्यक्रम का शुभारंभ मुख्य वन संरक्षक एवं क्षेत्र निदेशक घनश्याम प्रसाद शर्मा, उप वन संरक्षक सेडूराम यादव, सहायक वन संरक्षक एवं क्षेत्रीय वन अधिकारियों की उपस्थिति में किया गया। यह प्रशिक्षण कार्यक्रम आगामी 15 दिनों तक जारी रहेगा। इस दौरान सभी प्रादेशिक वन मंडलों के कर्मचारियों को विभिन्न रेंजों के क्षेत्रीय वन अधिकारियों के अधीन टाइगर ट्रेकिंग एवं मॉनिटरिंग, अवैध चराई की रोकथाम, एवं वन्य जीव शिकार की रोकथाम आदि कार्यों के सम्बन्ध में प्रशिक्षण दिया जा रहा है। सभी प्रशिक्षार्थियों को प्रशिक्षण अवधि में कोविड-19 संबंधी सुरक्षा नियमों की पालना के निर्देश दिए गए। यह प्रशिक्षण कार्यक्रम आगामी तीन महीने तक चलेगा। इसमें प्रत्येक बैच को 15 दिन का प्रशिक्षण दिया जाएगा। एक बैच का प्रशिक्षण पूरा होने पर अगले बैच का प्रशिक्षण शुरू होगा।

Prem Pathak Reporting
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned