यहां से नोटबंदी के दौरान बोरे भर-भर दिल्ली पहुंचाए गए नोट

यहां से नोटबंदी के दौरान बोरे भर-भर दिल्ली पहुंचाए गए नोट

Rajeev Goyal | Updated: 11 Dec 2017, 09:56:58 AM (IST) Alwar, Rajasthan, India

बोरे में नोट ले जाने से बदला मन, चालक से अपराधी बन लूट की वारदात को दिया अंजाम

 


पुलिस पूछताछ में आरोपी ने किया खुलासा

नोटबंदी के दौरान जहां एक-एक नोट को बदलवाने के लिए आमजन को कतार में लगना पड़ा, वहीं पूंजीपतियों ने सरकार की नाक के नीचे ही करोड़ों रुपए बदल लिए। अलवर से भी इस दौरान नोट बदलने के लिए बोरे भर-भरकर नोट भेजे गए।
इसका खुलासा नोटबंदी के दौरान तो नहीं हो सका, लेकिन शनिवार को सुपरवाइजर से 50 लाख रुपए की लूट के आरोपितों ने पुलिस पूछताछ में अलवर से बड़ी मात्रा में भेजे गए नोट के इस खेल की कलई खोल दी।

पूछताछ में आरोपित विपिन कुशवाह ने बताया कि नोटबंदी के दौरान वह गुरुग्राम (हरियाणा) स्थित सिद्ध डाटा पैकेजिंग कम्पनी में गाड़ी चलाता था। इस दौरान वह कई बार अलवर आया और शिकारीबास स्थित एक गुटखा फैक्ट्री से बोरे भर-भरकर नोट बदलने के लिए ले गया। नोटों से उसका ईमान भी डोल गया और वह चालक से अपराधी बन गया। विपिन ने पुलिस को बताया कि नोटबंदी के बाद उसने नौकरी छोड़ दी और वह टैक्सी चलाने लगा। इसके बाद भी उसका मन नोटों में अटका रहा।उसने कम्पनी के दूसरे चालक सुनील से सम्पर्क साधा और नोटों को लूटने की योजना बनाई। सुनील ने उसे बताया कि कम्पनी का सुपरवाइजर संतोष कुमार जब भी उसके साथ अलवर जाता है। नोटों का भारी-भरकम पैकेट लेकर आता है। पैकेट में कम से कम 40-50 लाख रुपए होते हैं। इस पर उसने लूट की योजना बनाई और अपने अन्य दोस्तों को भी शामिल किया।


जिसका लगा दांव,उसने उतने बदले नोट


नोटबंदी के दौरान जिसका जितना दांव लगा, उसने उतने नोट बदले। इस दौरान कई लोग पकड़े भी गए। अलवर अरबन को-ऑपरेटिव बैंक में 15 करोड़ के गबन का मामला भी नोटबंदी से चर्चा में आया। किशनगढ़बास थाना पुलिस ने तीन लग्जरी गाडि़यों से 1 करोड़ 32 लाख 43 हजार की रकम जब्त की। यह राशि दिल्ली बदलने के लिए ले जाई जा रही थी। बाद में यह मामला अलवर अरबन को-ऑपरेटिव बैंक में गबन का निकला।

नोटबंदी के दौरान अलवर में ये पकड़े मामले

-19 नवम्बर - 2016 किशनगढ़बास पुलिस ने नाकाबंदी के दौरान तीन लग्जरी गाडि़यों से 1 करोड़ 32 लाख 43 हजार रुपए की रकम जब्त की।
-23 नवम्बर-2016 तिजारा थाना पुलिस ने एक कार से 18 लाख रुपए की रकम बरामद की। यह राशि भिवाड़ी ले जाई जा रही थी।
-4 दिसम्बर-2016 अरावली विहार थाना पुलिस ने ईटाराणा ओवरब्रिज के पास एक कार से 11 लाख रुपए बरामद किए। यह रकम नए नोटों में थी।
-28 दिसम्बर-2016 शिवाजी पार्क थाना पुलिस ने एक कार से 7 लाख रुपए की रकम बरामद की।

 

50 लाख की लूट के एक आरोपित ने पुलिस पूछताछ में नोटबंदी के दौरान अलवर से तीन बार दो-दो बोरे भरकर नोट बदलने के लिए ले जाने की बात कबूली है। यह पैसा एक गुटखा फैक्ट्री से गया था। इससे जाहिर होता है कि नोटबंदी के दौरान अलवर में भी काफी रकम बदली गई।
जितेन्द्र यादव, थाना प्रभारी खैरथल

 

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned