अमीर बनने के लिए डाक्टर ने की मकान मालिक- मालकिन की हत्या, डाक्टर के नौकर ने खोला राज

अमीर बनने के लिए डाक्टर ने की मकान मालिक- मालकिन की हत्या,  डाक्टर के नौकर ने खोला राज

| Publish: Feb, 28 2017 09:00:00 AM (IST) Alwar, Rajasthan, India

अलवर जिले के नारायणपुर कस्बे में 16 फरवरी को वृद्ध दम्पती की हत्या मामले का खुलासा कर पुलिस ने दम्पत्ती के मकान में रह रहे एक झोलाछाप बंगाली डॉक्टर को गिरफ्तार किया है।

 अलवर.  अलवर जिले के नारायणपुर कस्बे  में 16 फरवरी को वृद्ध दम्पती की हत्या मामले का खुलासा कर पुलिस ने दम्पत्ती के मकान में रह रहे एक झोलाछाप बंगाली डॉक्टर को गिरफ्तार किया है। 


आरोपित ने आर्थिक तंगी को दूर करने के लिए वृद्ध दम्पत्ती की हत्या की और उनकी आलमारी व बक्से में रखे नगदी व आभूषण चोरी कर लिए। 


किरायेदार ने की हत्या

जिला पुलिस अधीक्षक राहुल प्रकाश ने बताया कि नारायणपुर के तलुण्डी मोहल्ला निवासी वृद्ध दम्पत्ती गणेश शंकर (82) व उसकी पत्नी विमला देवी (70) की 16 फरवरी को सुबह करीब 11 बजे किसी ने हत्या कर दी। 


पुलिस को गणेश शंकर का शव कमरे में पलंग के नीचे फर्श पर पड़ा मिला, जिसकी किसी ने गला रेतकर निर्ममता से हत्या की। वहीं उसकी पत्नी का शव नीचे बाथरूम में पड़ा मिला।


 जांच में दम्पत्ती के कमरे में रखे बक्से व आलमारी का ताला टूटा मिला, जिसमें से आभूषण व नगदी गायब थी। मामले के खुलासे के लिए पुलिस ने एफएसएल, एमओबी सहित जयपुर से डॉग स्क्वाड बुलाई।


 पुलिस जांच में यह स्पष्ट हुआ कि इस दोहरे हत्याकांड का हत्यारा कोई बाहरी व्यक्ति नहीं बल्कि कोई परिचित है। पुलिस को बाहरी किसी व्यक्ति के जबरन मकान में प्रवेश के कोई सबूत भी नहीं मिले। 


इस पर पुलिस ने मकान में रह रहे किराएदारों से पूछताछ की। जिसमें इस दोहरे हत्याकांड का खुलासा हुआ। 


आर्थिक तंगी दूर करने के लिए  की हत्या

पुलिस के अनुसार वृद्ध दम्पत्ती के मकान में 7-8 किराएदार रहते थे। मकान की दूसरी मंजिल पर वृद्ध दम्पत्ती रहते थे, जिनके अगल-बगल के कमरों में पढऩे वाले लड़के रहते थे। 


 मकान के नीचे एक पोर्शन में एक झोलाछाप बंगाली डॉक्टर विरेन्द्र उर्फ नरेश राय अपने एक सहायक रियाज उर्फ सुल्तान के साथ रहता था। बंगाली इस मकान में पिछले करीब 20 साल से रह रहा था, उसे वृद्ध दम्पत्ती व उसके पास रखे पैसों व गहनों के बारे में जानकारी थी। 


पुलिस के अनुसार बंगाली डॉक्टर पिछले काफी समय से आर्थिक तंगी से जूझ रहा था, जिससे छुटकारा पाने के लिए उसने वृद्ध दम्पत्ती की हत्या कर पैसे व जेवरात लूटने की साजिश रची।


 पुलिस ने आरोपित पश्चिम बंगाल के चौबीस परर्गन्ना के गोपलनगर निवासी झोलाछाप डॉक्टर विरेन्द्र राय उर्फ नरेश पुत्र निरापद राय को गिरफ्तार कर न्यायालय में पेश किया। 


डाक्टर के नौकर ने खोला राज

पुलिस पूछताछ में डॉ. बंगाली के नौकर चेले ने राज खोला। इसके बाद जब पुलिस ने सख्ती से पूछताछ की तो डॉ. बंगाली ने सारा राज खोला।


 पुलिस के अनुसार डॉ. बंगाली के सहायक रियाज ने पूछताछ में बताया कि 14-15 फरवरी की अल-सुबह करीब चार बजे उसने किसी की चीख व पैर पटकने की आवाज सुनी। 


इस पर उसने जब डॉ. बंगाली को जगाना चाहा तो वह अपने बिस्तर से गायब मिला। बाद में करीब 40 मिनट बाद डॉ. बंगाली हाथ धोकर कमरे में आया। इस पर पुलिस ने डॉ. बंगाली से पूछताछ की। 


शुरुआत में वह बार-बार अपने बयान बदलता रहा। बाद में उसने वृद्ध दम्पत्ती की हत्या करना कबूला।


यूं दिया वारदात को अंजाम

 पुलिस पूछताछ में आरोपित डॉ. बंगाली ने बताया कि 14-15  फरवरी को अल सुबह करीब 4-5 बजे वृद्धा विमलादेवी शौच के लिए नीचे आई तो उसने गला दबाकर उसकी हत्या कर दी और शव को बाथरूम में पटक दिया। 


इसके बाद वह ऊपर गया, जहां वृद्ध गणेश शंकर सो रहा था, जिसकी उसने धारदार हथियार से हत्या कर दी।  उसने आलमारी व सूटकेश की चाबी निकाल उसमें रखे नगदी व जेवरात चुराए। वह कमरे का ताला लगा बाहर निकल आया और अगले दिन लोगों से कहा कि बुड्ढा-बुढि़या बाहर गए हैं।


राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned