दिल्ली में ट्रकों की एंट्री पर बैन का राजस्थान पर पड़ रहा यह नकारात्मक असर, इन क्षेत्रों के लोगों को हो रही परेशानी

दिल्ली में ट्रकों की एंट्री पर बैन का राजस्थान पर पड़ रहा यह नकारात्मक असर, इन क्षेत्रों के लोगों को हो रही परेशानी

Hiren Joshi | Publish: Nov, 10 2018 04:02:09 PM (IST) Alwar, Rajasthan, India

https://www.patrika.com/alwar-news/

दिल्ली एनसीआर में बढ़ते हुए प्रदूषण को देखते हुए दीवाली के बाद सरकार ने दिल्ली में ट्रक, ट्रॉला व डंपर सहित अन्य भारी वाहनों के प्रवेश पर रोक लगा दी है। 8 नवंबर से भारी वाहनों को दिल्ली में प्रवेश नहीं दिया जा रहा। इससे दिल्ली-जयपुर हाईवे सहित दिल्ली की तरफ जाने व आने वाले सभी मार्गों पर जाम के हालात हैं।

दिल्ली एनसीआर क्षेत्र में प्रदूषण का स्तर तेजी से बढ़ रहा है। दीवाली के बाद पटाखों की दुआ से इसमें खासी बढ़ोतरी देखी गई है। ऐसे में लोगों को थोड़ी राहत देने के लिए सरकार ने भारी वाहनों के प्रवेश पर रोक लगा दी है। अकेले दिल्ली - जयपुर हाईवे से प्रतिदिन 20 हजार से अधिक भारी वाहन गुजरते हैं व दिल्ली में प्रवेश करते है। इसी तरह के हालात अन्य नेशनल हाईवे व स्टेट हाईवे के रहते हैं। ऐसे में वाहनों के प्रवेश पर रोक लगने से आमजन को खासी परेशानी उठानी पड़ सकती है।

अलवर के बहरोड़ व नीमराना क्षेत्र में लोगों को जाम से जूझना पड़ रहा है। बीते साल भी दीवाली पर इसी तरह के हालात देखने को मिले थे। उस समय लोगों को खासी परेशानी उठानी पड़ी थी, तो दिल्ली से जयपुर तक वाहनों की लंबी कतार लग गई थी। तो वहीं ट्रक चालकों ने वैकल्पिक मार्ग चुना था। ऐसे में बहरोड से वैकल्पिक मार्ग अलवर होते हुए भिवाडी से दिल्ली की तरफ जाता है । ऐसे में इस मार्ग पर भी वाहनों का भारी दबाव देखने को मिलेगा। अलवर में राष्ट्रीय राजमार्ग संख्या 8 पर शाहजहांपुर के पास ट्रकों की कतार नजर आ रही है।

ट्रकों के रोक से जरूरत की चीजों के लिए लोगों को थोड़ी परेशानी उठानी पड़ सकती है। क्योंकि प्रतिदिन सब्जी, मसाले सहित अन्य जरूरत का सामान ट्रकों के माध्यम से दिल्ली आता है और बड़ी मात्रा में सामान दिल्ली से आसपास के शहर में राज्यों में जाता है। यह बैन 11 नवंबर तक है। कल तक यह ट्रक भिवाड़ी, बहरोड़, नीमराणा, शाहजहांपुर आदि क्षेत्रों में खड़े रहेगे, बैन हटने के बाद इन्हें यहां से आगे जाने दिया जाएगा।

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

खबरें और लेख पड़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते है । हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते है ।
OK
Ad Block is Banned