सोने की ईंट सस्ते में देने का झांसा देकर बुलाते और फिर लूट लेते

सोने की ईंट सस्ते में देने का झांसा देकर बुलाते और फिर लूट लेते

| Publish: Apr, 09 2017 07:16:00 PM (IST) Alwar, Rajasthan, India

अलवर जिले की किशनगढ़बास थाना पुलिस ने लूटपाट, टटलू काटने, फिरोती मांगने व हत्या के प्रयास करने वाले दो आरोपितों को गिरफ्तार किया है।

अलवर जिले की किशनगढ़बास थाना पुलिस ने लूटपाट, टटलू काटने, फिरोती मांगने व हत्या के प्रयास करने वाले दो आरोपितों को गिरफ्तार किया है। थानाधिकारी सुरेन्द्र सिंह रावत ने बताया कि पांच अप्रेल को यूपी के गोवर्धन थाना पुलिस पर फयरिंग कर दो आरोपित अलवर जिले की ओर जाने की सूचना मिली। जिस पर पुलिस अधीक्षक राहुल प्रकाश के निर्देशानुसार टीम बनाई गई। उक्त टीम ने आरोपितों की किशनगढ़बास के आस-पास तलाश की। 


 इस दौरान मुखबिर से सूचना मिली कि झिरका फिरोजपुर मंदिर के पास किसी वारदात को अंजाम देने के लिए दो संदिग्ध बैठे है। पुलिस टीम ने मोबाइल लोकेशन पर घेराबन्दी कर हथियारों सहित  ग्राम दोसरत (गोवर्धन,मथुरा) गांव निवासी अरसद पुत्र नब्बा मेव, दोंगड़ी थाना (गोविन्दगढ, अलवर) निवासी हसन पुत्र दीनू मेव को धर दबोचा। 



पुलिस की पूछताछ में अरसद उर्फ कोचू ने बताया कि 2013 में हैदराबाद में राहुल, ताहिब, हनीफ उर्फ रोड़ू ने मिलकर टटलू काटा। गौरखपुर (उत्तर प्रदेश) में भी तीन मामलों में सोने की ईंट का झांसा देकर लगभग नौ लाख रुपए व मोबाइल लूटा। वर्ष 2014 में हैदराबाद से आए एक व्यक्ति से एक लाख 60 हजार रूपए लूटे।  



इसी तरह पंजाब से आए एक जने से 90 हजार रुपए लूटे। इसी प्रकार करीब तीन दर्जन से अधिक नकली सोने की ईंट देकर पैसे ऐंठना, सस्ते दामों पर चावले बेचने का दावा करके लूट करना, वर्ष 2016 में व्यापारियों से सस्ते दामों पर बासमती चावल देने के नाम पर लूट के मामले में गोवर्धन थाना पुलिस हमारे पीछे भाग रही थी तो कई राउंड फायर किए। तभी से फरार थे। 



इसी दौरान 5 अप्रेल को ईसर, शौकत, ईसलू, जफरू, लाबिर, राहुल, ईस्लाम, अरसद ने दोसरत पुलिस पर हथियारों से लगभग 150 फायर किए थे। पूछताछ में हसन ने पुलिस को बताया कि उसने 14 मार्च 2017 को हैदराबाद के नवीन कुमार व सैमी विल्सन से ग्राम बाझोट की पहाडिय़ों पर फिरौती के ढाई लाख रुपए वसूले और मारपीट कर भगा दिया था।


 


इसी तरह 24 मार्च 2017 को बाझोट ग्राम में कट्टे के की नोक पर अपने साथी सलमान, अमरूदीन, मौसम, अरसद उर्फ लंगडा, साबिर व मुबीन के द्वारा अजय नाम के एक हैदराबादी से 30 हजार रूपए व मोबाइल लूट लिया व बंधक बनाकर और रकम की मांग की। इसके घर वालों से अपने खाते में डेढ लाख रुपए जमा कराए थे। उसने हैदराबाद, उत्तरप्रदेश, पंजाब, राजस्थान, गुजरात आदि प्रदेशों में कई वारदातें करना कबूला है।



 किशनगढ़बास थाना पुलिस ने हैदराबाद से आई पुलिस को दोनों आरोपितों को सौंप दिया। वहीं दोनो आरोपितों को लेने आई उत्तरप्रदेश पुलिस के इंस्पेक्टर कमलेश सिंह को बैरंग लौटना पडा।



अपराध करने का तरीका


 गिरफ्तार किए गए आरोपितों ने बताया कि बाहरी राज्यों के मोबाइल नम्बरों से सम्पर्क कर खुदाई में सोने की ईंट मिलने की बात कह कर सस्ते दामों पर बेचने का झांसा देकर वे लोगों को बुलाते थे। इसके बाद अपने साथियों के साथ मिलकर बंदूक की नोक पर उनको लूटते थे। जो रुपए लेकर नहीं आता था उसे अपने खातों में पैसे जमा कराकर मारपीट के बाद छोड़ देते हैं।



राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned