सीएए पर ये बोले केन्द्रीय राज्यमंत्री, गुर्जर सुनने वाले हो गए जागरूक

सीएए पर ये बोले केन्द्रीय राज्यमंत्री, गुर्जर सुनने वाले हो गए जागरूक

By: Kailash

Published: 03 Jan 2020, 12:59 AM IST


अलवर. केन्द्रीय राज्य मंत्री कृष्ण पाल गुर्जर ने कहा कि नागरिकता संशोधन विधेयक में हिन्दुस्तान के किसी भी मुस्लिम के साथ कोई भेदभाव नहीं होगा। कांग्रेस व दूसरे विपक्षी दल खास वर्ग को भ्रमित कर रहे हैं कि इससे हिन्दुस्तान में रहने वाले मुसलमानों को नागरिकता से वंचित किया जाएगा। यह सब दुष्प्रचार है। इस बिल में एेसी कोई बात नहीं है। मुसलमान भाइयों को डरने की जरूरत नहीं है। राज्य मंत्री गुर्जर गुरुवार को सीएए के जन-जागरण के कार्यक्रम के तहत अलवर आए हैं। यहां पत्रकारों से बातचीत में केन्द्रीय राज्य मंत्री गुर्जर ने कहा कि पाकिस्तान, बांग्लादेश व अफगानिस्तान तीनों मुस्लिम देश है। इसलिए वहां मुस्लिमों को धर्म के आधार पर प्रताडि़त किए जाने का मतलब ही नहीं है। वहां केवल हिन्दू, सिख, इसाई, जैन व बौद्ध धर्म के लोगों को प्रताडि़त किया जाता रहा है। जिसके कारण कानून में इन्हीं धर्मों को शामिल किया गया है। जिसका मतलब यह है कि इन तीन देशों में धर्म के आधार पर प्रताडि़त करने वालों के लिए यह कानून बनाया गया है। कांग्रेस पूरी तरह गुमराह करने में लगी है। किसी भी मुस्लिम को डरने की जरूरत नहीं है।
हमारी नजर में ये हैं घुसपैठिया : उन्होंने कहा कि सरकार की नजर में घुसपैठिया वो हैं जो अवैध रूप से बिना किसी वीजा व कागजात के भारत में आकर रहने लग गए। दूसरे वे भी घुसैपठिया हैं जो कागजात से आए लेकिन समयावधि के बाद भी अपने देश वापस नहीं गए। इन छह धर्मों के प्रताडि़त लोग जो हिन्दुस्तान आ गए। उनको कोई सबूत देने की जरूरत नहीं है। शरणार्थी तो १९५५, १९६०, १९९० के अलावा भी बीच-बीच में आते रहे हैं। उनको नागरिकता भी दी गई है। इसके बावजूद कांग्रेस दुष्प्रचार कर माहौल बिगाडऩे का काम रही है।
उन्होंने कहा कि सीएए के जरिए एनआरसी लाने की बात कहना गलत है। एेसे कहने वाले औछी राजनीति करते हैं। वे देश में अराजकता का माहौल पैदा करना चाहते हैं। जिसे देखते हुए ही सरकार ने जनजागरण करने का काम शुरू किया है। ताकि आमजन को इस कानून की हकीकत का पता चल सके। इस दौरान भाजपा जिलाध्यक्ष संजय नरूका, बलवान सिंह यादव, पूर्व अध्यक्ष पं. धर्मवीर शर्मा, पूर्व मंत्री हेम सिंह भड़ाना, भाजयुमो अध्यक्ष पं. जले सिंह, सीएए के जिला संयोजक शशि यादव, भाजपा उपाध्यक्ष महा सिंह चौधरी, जिला प्रवक्ता सतीश यादव, पवन जैन व उप सभापति घनश्याम गुर्जर सहित भाजपा के नेता मौजूद थे।

उदारता : जिला प्रमुख ने सेनाभर्ती में आने के लिए खाली कर दिया बंगला, अब नहीं सोना पड़ेगा सडक़ों पर
अलवर. जिले में रिकॉर्ड सर्दी को देखते हुए सेना भर्ती रैली में आने वाले युवाओ के लिए अलवर जिला प्रमुख का दिल पसीजा है। अलवर, दौसा व सवाईमाधोपुर जिलों से सेना भर्ती में आने वाले युवा अब जिला प्रमुख आवास पर रुक सकेंगे। जिसके लिए जिला प्रमुख रेखा राजू यादव ने सेना भर्ती तक अपना सरकारी आवास खाली कर दिया है। वे खुद किराए के फ्लैट में जाने के लिए अपना सामान समेट चुके हैं। सेना भर्ती में भाग लेने के लिए तीनों जिलों से करीब ३८ हजार युवाओं ने पंजीकरण कराया है।
रुक सकेंगे १ हजार से ज्यादा युवा
जिला प्रमुख के अनुसार मोती डूंगरी स्थित उनके सरकारी आवास का बड़ा परिसर है। बगल का आवास भी खाली है। सामने बड़ा पार्क है। इसके अलावा भी खाली मैदान है। पिछले साल टैण्ट लगाकर युवाओं को रात्रि विश्राम व खाने की व्यवस्था की थी। लेकिन, इस बार सर्दी ज्यादा है। जिसके कारण पूरा मकान खाली कर दिया है। जिसमें करीब पांच कमरे हैं। बड़ा हॉल है। सामने बरामदा है। एक छप्परनुमा दूसरा बड़ा हॉल है। इन सब जगहों पर करीब ७०० से अधिक युवा जमीन पर विश्राम कर सकते हैं।
टैण्ट लगाने की तैयारी भी
जिला प्रमुख रेखा राजू ने बताया कि एक दिन में दो से तीन हजार युवाओं के आने की संभावना है। भर्ती स्थल स्टेडियम के नजदीक उनका आवास है। जिसके कारण यहां सबसे अधिक युवा पहुंचते हैं। यह देखते हुए बाहर टैंट भी लगाया जाएगा। ताकि जरूरत पडऩे पर टैण्ट में भी विश्राम किया जा सके। इसी जगह पर युवाओं के खाने का इंतजाम भी किया गया है।
पिछले साल टैण्ट लगाया प्रमुख ने बताया कि पिछले दो सालों से टैण्ट लगाकार युवाओं के ठहरने व खाने का इंतजाम किया है। जिसमें डेढ़ हजार से अधिक युवा प्रति दिन आए हैं। इस बार सर्दी अधिक होने के कारण ज्यादा लोगों के आने की संभावना है।

Kailash Reporting
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned