Video : #Falaharibaba : फलाहारी गिरफ्तार, न्यायिक अभिरक्षा में जेल भेजा, जेल में नहीं मिलेगा फल

Video : #Falaharibaba : फलाहारी गिरफ्तार, न्यायिक अभिरक्षा में जेल भेजा, जेल में नहीं मिलेगा फल
Falahari arrested sent to alwar jail

Rajeev Goyal | Publish: Sep, 23 2017 09:18:17 PM (IST) | Updated: Sep, 24 2017 11:35:18 AM (IST) Alwar, Rajasthan, India

न्यायालय ने फलाहारी को न्यायिक अभिरक्षा में 6 अक्टूबर तक जेल भेज दिया गया। पुलिस ने बाबा का मेडिकल भी कराया, जिसमें वे स्वस्थ निकले।

अलवर.

युवती से यौन शोषण मामले में पुलिस ने शनिवार को निजी अस्पताल में भर्ती मधुसूदन आश्रम के फलाहारी बाबा को गिरफ्तार कर न्यायालय में पेश किया, जहां से फलाहारी को न्यायिक अभिरक्षा में ६ अक्टूबर तक जेल भेज दिया गया। पुलिस ने बाबा का मेडिकल भी कराया, जिसमें वे स्वस्थ निकले। यौन शोषण का मामला दर्ज होने के बाद फलाहारी आनन-फानन में एक निजी चिकित्सालय में भर्ती हो गए।

 

शनिवार को जांच प्रक्रिया पूर्ण होने के बाद पुलिस निजी अस्पताल पहुंची और बाबा को गिरफ्तार कर सामान्य चिकित्सालय लाई। यहां बाबा का मेडिकल कराया गया। मेडिकल में बाबा के स्वस्थ निकलने पर दोपहर बाद पुलिस उसे लेकर अतिरिक्त मुख्य न्यायिक मजिस्ट्रेट संख्या-३ परवीन मिश्रा की अदालत में पहुंची, जहां सुनवाई के बाद फलाहारी को ६ अक्टूबर तक न्यायिक अभिरक्षा में जेल भेज दिया गया।

कोर्ट में वकीलों ने की नारेबाजी, पीडि़ता विधि की छात्रा

फलाहारी के कोर्ट पहुंचते ही न्यायालय परिसर में भीड़ जमा हो गई। जेल भेजने के आदेश के बाद जैसे ही पुलिस आरोपित फलहारी को लेकर बाहर आई। कोर्ट परिसर में जमा वकीलों ने जमकर नारेबाजी की। वकीलों का कहना था कि फलाहारी ने घिनौना कृत्य किया है। पीडि़ता विधि की छात्रा थी। उन्होंने जोर-जोर से चिल्लाकर कहा कि ले जाओ इसे जेल में। इसे समाज में रहने का कोई हक नहीं।

मिलेगा जेल मैन्यू के मुताबिक खाना

भोजन में सिर्फ फल खाने से फलाहारी के नाम से मशहूर कौशलेन्द्र प्रपन्नाचार्य उर्फ फलाहारी को अब फल नहंी जेल मैन्यू के मुताबिक खाना मिलेगा। शाम ४ बजकर २५ मिनट पर जेल पहुंचे फलाहारी को जेल प्रशासन ने सामान्य बंदियों की भांति जेल में रखा है।

 

यूं चला घटनाक्रम

- बिलासपुर निवासी पीडि़ता का परिवार १९८६ में बाबा के सम्पर्क में आया।

- ७ अगस्त २०१७ को पीडि़ता इंटर्नशिप में मिले ३ हजार रुपए बाबा को भेंट करने अलवर आई और दिव्य धाम के कमरा नम्बर एक में ठहरी।
- शाम ७ बजे बाबा के एक शिष्य ने उसका दरवाजा खटखटाया और कहा कि बाबा ने बुलाया है।

- शाम ७.३० बजे वह बाबा के कमरे में पहुंची।
- बाबा ने पहले घरवालों के बारे में पूछताछ की, फिर लैपटॉप चालू कराया।

- इसके बाद बाबा ने सभी शिष्यों को जाप के लिए नहाने भेज दिया और अपने कमरे की कुंडी लगा अश्लील हरकतें शुरू कर दीं।
- बाद में बाबा के एक शिष्य के कुंडी खटखटाने पर जैसे-तैसे पीडि़ता बाबा के कक्ष से बाहर निकली।

- ८ अगस्त २०१७ को बाबा के शिष्य उसे स्टेशन छोडकर आए।
- ११ सितम्बर २०१७ को युवती ने बाबा के खिलाफ बिलासपुर में कराया यौन शोषण का मामला दर्ज।

- वहां पुलिस ने युवती का मेडिकल करा १६४ के बयान दर्ज किए।
- २० सितम्बर २०१७ को विलासपुर पुलिस का एक एएसआई मामले की डायरी लेकर अलवर पहुंचा और अरावली विहार थाना पुलिस ने बाबा के खिलाफ यौन शोषण का मामला दर्ज किया।

- २१ सितम्बर को पीडि़ता अपने माता-पिता के साथ अलवर आई। पुलिस ने पीडि़ता के १६१ के बयान दर्ज किए।
- २२ सितम्बर को पुलिस पीडि़ता को आश्रम लेकर पहुंची। यहां जांच में बाबा के कमरे में जड़ी-बूटियां सहित महिलाओं की पायल मिली।

-२३ सितम्बर २०१७ को पुलिस ने अस्पताल में भर्ती बाबा को गिरफ्तार कर न्यायालय में पेश किया, जहां से उसे न्यायिक अभिरक्षा में जेल भेज दिया गया।

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned