Video : शिक्षा राज्य मंत्री वासुदेव देवनानी, महाराणा प्रताप से हारने वाला अकबर महान् कैसे हो गया?

राज्य के शिक्षा राज्य मंत्री वासुदेव देवनानी ने कहा है कि हल्दीघाटी में अकबर को विजयी बताया गया जबकि इस युद्ध में वे हार गए थे।

By: Dharmendra Adlakha

Published: 18 Aug 2017, 06:39 AM IST

अलवर.

राज्य के शिक्षा राज्य मंत्री वासुदेव देवनानी ने कहा है कि अब तक अकबर को महान पढ़ाते आ रहे हैं। हल्दीघाटी में अकबर को विजयी बताया गया जबकि इस युद्ध में वे हार गए थे। महाराणा प्रताप से हारने वाला अकबर महान कैसे बन सकता है? अब नई पीढ़ी को ये पढ़ाया जाना चाहिए कि हल्दी घाटी के युद्ध में महाराणा प्रताप जीता था। शिक्षा राज्य मंत्री देवनानी अलवर के एसएमडी विद्यालय में आयोजित अभिनंदन समारोह में बोल रहे थे। उन्होंने कहा कि शिक्षक कक्षा में पढ़ाते समय विद्यार्थियों में देश भक्ति के भाव जागृत करे।

अलवर की धरती ने दिए भामाशाह


देवनानी ने कहा कि अलवर की धरती ने कई भामाशाह दिए हैं, इस धरती को मैं नमन करता हूं। भामाशाहों के सहयोग से अलवर के स्कूलों में पानी और बिजली की समस्या का समाधान किया जा सकता है। प्रदेश में सरकारी स्कूलों की तस्वीर बदलने के लिए १५ हजार करोड़ रुपए की आवश्यकता है, इसके लिए भामाशाहों को जोडऩा होगा। विद्या दान योजना में अजमेर में ३६.५० लाख रुपए आए हैं। वैसे तो अजमेर के बाद अलवर का स्थान है लेकिन अलवर प्रथम नम्बर पर आ सकता है। सरकारी स्कूलों में अक्षय पेटिका लगी है जिसमें लोग तथा विद्यार्थी दान करने की संस्कार डाले जिससे वंचित विद्यार्थियों को पूरी सुविधाएं मिल सके। इस अवसर पर उन्होंने एप निर्माता इमरान के कार्यों की सराहना की।

 

कार्यक्रम में शहर विधायक बनवारी लाल सिंघल ने कहा कि अलवर जिले में शिक्षा के क्षेत्र में कई नवाचार हुए हैं। यहां के भामाशाह और लोग शिक्षा के क्षेत्र में सुधार के लिए हमेशा तत्पर हैं। समारोह में भाजपा जिलाध्यक्ष धर्मवीर शर्मा ने स्वागत भाषण दिया। मंच संचालन प्रदीप पंचोली ने किया। इस अवसर पर पंचायती राज शिक्षक संघ के प्रदेशाध्यक्ष मूलचंद गुर्जर आदि भी उपस्थित थे।

 

कई संगठनों ने दिए ज्ञापन


शिक्षा राज्य मंत्री के अलवर आगमन पर उन्हें कई संस्थाओं की ओर से ज्ञापन सौंपे गए। शिक्षक व पंचायती राज कर्मचारी संघ के प्रदेशाध्यक्ष मूलचंद गुर्जर के नेतृत्व में प्रवक्ता मुकेश मीणा सहित कई शिक्षक नेताओं ने ज्ञापन सौंपा जिसमें लिखा कि शिक्षकों की सात सूत्रीय मांगों का निराकरण किया जाए। शारीरिक शिक्षक संघ के प्रदेशाध्यक्ष सुजीत नेहरा, जिला महामंत्री पन्ना लाल सैनी सहित कई पदाधिकारियों ने ज्ञापन सौंपकर शारीरिक शिक्षकों की मांगों को पूरा करने की मांग की। इधर, शिवाजी पार्क स्कूल की शारीरिक शिक्षक भावना चौधरी ने शिक्षा मंत्री को ज्ञापन सौंपा। सर्किट हाउस में हुई पत्रकार वार्ता में पत्रकारों ने शिवाजी पार्क स्कूल में हुए विवाद के मामले में शिक्षा मंत्री से जानकारी ली तो उन्होंने इस मामले में कहा कि वे जिला शिक्षा अधिकारी को जांच के आदेश दे रहे हैं जिसकी रिपोर्ट पर कार्रवाई की जाएगी।

 

शिवाजी पार्क स्कूल देखकर हुए अभिभूत


राज्य के शिक्षा मंत्री देवनानी ने शिवाजी पार्क राजकीय बालिका उच्च प्राथमिक विद्यालय के जीर्णोद्धार कार्य को देखकर अभिभूत हो गए। उन्होंने यहां हुए विकास कार्य, स्टाफ का ड्रेस कोड तथा विद्यार्थियों के लिए प्रदान की गई सुविधाओं की सराहना की। इस अवसर पर मंत्री ने पौधरोपण भी किया। यहां वे शिक्षक इमरान की ओर से स्कूल के विकास पर बनी प्रोजेक्ट फिल्म को देखा। यहां इन्होंने राजकीय उच्च प्राथमिक विद्यालय बसंत विहार, स्कूल नम्बर ५ तथा मालाखेड़ा गेट स्कूल की शिला पट्टिकाओं का लोकार्पण किया। शिक्षा मंत्री ने अलवर के सरकारी स्कूलों में एेसे विकास कार्यों को प्रदेश के लिए मॉडल के रूप में बताया। शिक्षा मंत्री ने प्रधानाध्यापिका हेमलता शर्मा के कार्यों की भी सराहना की।

Show More
Dharmendra Adlakha
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned