टोल फ्री से मत होइए खुश, भार अब भी है जनता पर

टोल फ्री से मत होइए खुश, भार अब भी है जनता पर

Prem Pathak | Publish: Apr, 02 2018 07:07:32 PM (IST) Alwar, Rajasthan, India

टोल फ्री से मत होइए खुश, भार अब भी है जनता पर

अलवर. राज्य के सभी राजमार्गों (राष्ट्रीय उच्च मार्गों के अतिरिक्त) पर भले ही सरकार ने निजी वाहनों को टोल मुक्त कर दिया, लेकिन इसमें खुश होने जैसी बात नहीं है। निजी वाहनों के टोल मुक्त होने का भार न सिर्फ अब भी जनता की जेब पर पड़ेगा, बल्कि इससे महंगाई बढऩे का अंदेशा भी बन गया है। दरअसल, सरकार निजी वाहनों की टोल मुक्त कर इस घाटे की वसूली व्यावसायिक वाहनों की टोल अवधि बढ़ाकर करेगी। इससे व्यावसायिक वाहनों को अधिक अवधि तक टोल टैक्स देना पड़ेगा। इसकी वसूली सामान की कीमतों में बढ़ोतरी से होगी। जानकारी के अनुसार सरकार ने निजी वाहनों को टोल फ्री करने से पहले घाटे की समीक्षा की।

इस दौरान पहले सरकार ने व्यावसायिक वाहनों की टोल दरों में बढ़ोतरी करने का विचार किया, लेकिन इससे जनाक्रोश भड़कने की संभावना से विचार को निरस्त कर दिया गया। बाद में सरकार ने व्यावसायिक वाहनों की टोल अवधि बढ़ाकर टोल कम्पनियों के घाटे की पूर्ति करना तय किया। हालांकि अभी इसकी अधिकृत घोषणा नहीं हुई है, लेकिन यह तय किया जा चुका है। सरकार ने प्रदेशभर के टोल प्लाजाओं से प्रतिदिन गुजरने वाले वाहनों की वीडियोग्राफी कराई है, ताकि टोल प्लाजा से गुजरने वाले वाहनों का आंकलन हो सके। उसके आधार पर ही टोल प्लाजाओं की टोल वसूली की अवधि बढ़ाएगी।

अलवर में करीब 30 प्रतिशत आय निजी वाहनों से

टोल प्लाजा संचालकों के अनुसार अलवर में स्थापित टोल प्लाजाओं से प्रतिदिन करीब 28 लाख रुपए की टोल वसूली होती थी, जिसमें से 70 प्रतिशत राशि व्यावसायिक वाहनों से प्राप्त होती थी। वहीं, तीस प्रतिशत राशि निजी वाहनों से प्राप्त होती थी। सरकार के निजी वाहनों को टोल मुक्त करने से अब इस 30 प्रतिशत राशि की वसूली सरकार टोल अवधि में बढ़ोतरी कर करेगी।

टोल प्लाजाओं पर लगाई सूचना

राज्य सरकार के एक अप्रेल से निजी वाहनों को टोल मुक्त किए जाने की घोषणा के बाद अलवर सहित प्रदेश भर में टोल संचालकों ने टोल प्लाजाओं पर निजी वाहनों की टोल मुक्ति की सूचना चस्पा कर दी। अलवर में भी रविवार को निजी वाहनों से कोई टोल नहीं वसूला गया।

राज्य सरकार ने पूरे प्रदेश में निजी वाहनों को टोल मुक्त कर दिया है। सभी टोलों पर इसकी सूचना चस्पा कर दी गई है। निजी वाहनों को टोल मुक्त करने से हुए नुकसान की पूर्ति सरकार टोल अवधि बढ़ाकर करेगी।
सीएल टांक, प्रोजेक्ट डायरेक्टर आरएसआरडीसी।

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned