जानिए अलवर के फलाहारी बाबा केस व शिवाजी पार्क हत्याकांड में अब आगे क्या होने वाला है

जानिए अलवर के  फलाहारी बाबा केस व शिवाजी पार्क हत्याकांड में अब आगे क्या होने वाला है

Rajeev Goyal | Publish: Dec, 13 2017 02:07:11 PM (IST) Alwar, Rajasthan, India

देशभर में चर्चित अलवर के दो फलाहारी बाबा व अलवर हत्याकांड में पुलिस ने केस फाइल तैयार की है।

बिलासपुर निवासी 21 वर्षीय युवती से यौन शोषण के मामले में जेल में बंद फलाहारी बाबा के खिलाफ पुलिस संभवतया 16 दिसम्बर को न्यायालय में चालान पेश करेगी। इसके लिए पुलिस ने करीब एक हजार पेज की केस फाइल तैयार कराई है। इसमें मुकदमे की शुरुआत से लेकर आखिर तक के तथ्य पेश किए गए हैं। दरअसल, न्यायिक अभिरक्षा में जेल में बंद फलाहारी बाबा की 16 दिसम्बर को न्यायालय में पेशी है।

इस दिन पुलिस बाबा के खिलाफ न्यायालय में चालान पेश करेगी। उधर, प्रेमी के साथ मिलकर पति व बच्चों को मौत के घाट उतारने वाली संतोष उर्फ संध्या व उसके साथियों के खिलाफ भी पुलिस इसी माह चालान पेश करने की तैयारी में है। पुलिस ने संतोष, उसके प्रेमी व साथियों के खिलाफ लगभग 700 पेज की केस फाइल तैयार की है।


90 दिन के भीतर पेश करना होता है चालान

दस साल या उससे अधिक सजा के मामलों में आरोपित की गिरफ्तारी के 90 दिन में पुलिस को आरोपित के खिलाफ न्यायालय में चालान पेश करना होता है। इससे कम सजा के मामलों में चालान पेश करने के लिए 60 दिन की अवधि निर्धारित है। फलाहारी बाबा को पुलिस ने 23 सितम्बर को गिरफ्तार किया था। इस हिसाब से 23 दिसम्बर तक पुलिस बाबा के खिलाफ न्यायालय में चालान पेश कर सकती है। एेसे ही संतोष उर्फ संध्या, उसके प्रेमी व साथियों को पुलिस ने 7 अक्टूबर को गिरफ्तार किया था। पुलिस इनके खिलाफ 7 जनवरी से पूर्व न्यायालय में चालान पेश करेगी।

दोनों रहे हैं चर्चित मामले


खाने में फल व पानी की जगह गंगाजल पीने वाले फलाहारी बाबा के खिलाफ यौन शोषण का मामला हो या अपने प्रेमी के साथ मिलकर पति व बच्चों को मौत के घाट उतारने वाली ताइक्वांडो खिलाड़ी संतोष उर्फ संध्या का मामला। दोनों ही मामले शहर में काफी चर्चित रहे हैं। इन मामलों में आरोपितों को कड़ी से कड़ी सजा दिलाने में पुलिस भी कोई कोर कसर नहीं छोडऩा चाहती। आरोपितों के खिलाफ चालान पेश करने से पहले पुलिस ने विधि विशेषज्ञों से भी राय ली है।

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned