scriptWrong with vaccination? Vaccine administered three months after the de | टीकाकरण में गड़बड़ी तो नहीं? बुजुर्ग दंपती की मौत के तीन माह बाद लगी वैक्सीन | Patrika News

टीकाकरण में गड़बड़ी तो नहीं? बुजुर्ग दंपती की मौत के तीन माह बाद लगी वैक्सीन

 

मालाखेड़ा के कैरवाड़ा निवासी दंपती की पिछले साल हुई थी मृत्यु

अलवर

Updated: January 19, 2022 01:40:13 am

अलवर ञ्च पत्रिका. टीकाकरण की गति को लेकर भले ही तमाम दावे किए जा रहे हों, लेकिन इसकी वास्तविकता पर सवाल उठने लगे हैं। अलवर जिले में टीकाकरण को लेकर एक ऐसा मामला सामने आया है जिसमें बुजुर्ग दंपती की मौत पिछले साल हुई और फोन पर कोरोना वैक्सीन की दूसरी डोज लगने का मैसेज 18 जनवरी को आया।
टीकाकरण में गड़बड़ी तो नहीं? बुजुर्ग दंपती की मौत के तीन माह बाद लगी वैक्सीन
टीकाकरण में गड़बड़ी तो नहीं? बुजुर्ग दंपती की मौत के तीन माह बाद लगी वैक्सीन

कोविन एप पर उनके नाम का टीकाकरण प्रमाण पत्र भी जारी हो गया। दरअसल, मालाखेड़ा क्षेत्र के कैरवाड़ा गांव निवासी उम्मेद सिंह की पिछले साल 29 अक्टूबर और उनकी पत्नी हीरा बाई की 26 सितंबर को मृत्यु हो गई थी, लेकिन उनके बेटे के मोबाइल पर मंगलवार को दूसरी डोज लगने का मैसेज आया। मृतक दंपति के बेटे जितेन्द्र सिंह ने बताया कि उन्होंने पहले इस संदेश को फ्रॉड समझा, लेकिन फिर कोविन एप पर लॉगिन किया तो वहां उनके माता-पिता को हल्दीना प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्र में दोपहर पौने तीन बजे वैक्सीन की दूसरी डोज लगना पाया गया। प्रमाण पत्र में टीका लगाने वाली स्वास्थ्यकर्मी का नाम राधारानी लिखा हुआ है।
दोनों वैक्सीन के समय में 10 माह का अंतराल
बुजुर्ग दंपती को कोरोना वैक्सीन की पहली डोज गत वर्ष 15 मार्च को लगाई गई थी, इसके 84 दिन बाद दोनों को दूसरी डोज भी लगवा दी गई। लेकिन कोविन वेबसाइट पर उम्मेद सिंह और हीराबाई को वैक्सीन की दूसरी डोज लगने की तारीख 18 जनवरी 2022 लिखी गई है। परिवार ने इस गड़बड़ी की शिकायत सीएमएचओ कार्यालय में दी। लेकिन वहां इस खामी का कारण पता नहीं चल सका। चिकित्सा अधिकारियों ने केवल शिकायत दर्ज कर लेने की बात कही। जिले में पहले भी गलत कोरोना प्रमाण पत्र को लेकर भी शिकायतें मिल चुकी हैं।

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

यहाँ बचपन से बच्ची को पाल-पोसकर बड़ा करता है पिता, जैसे हुई जवान बन जाता है पतियूपी में घर बनवाना हुआ आसान, सस्ती हुई सीमेंट, स्टील के दाम भी धड़ामName Astrology: पिता के लिए भाग्यशाली होती हैं इन नाम की लड़कियां, कहलाती हैं 'पापा की परी'इन 4 राशियों के लड़के अपनी लाइफ पार्टनर को रखते हैं बेहद खुश, Best Husband होते हैं साबितजून में इन 4 राशि वालों के करियर को मिलेगी नई दिशा, प्रमोशन और तरक्की के जबरदस्त आसारमस्तमौला होते हैं इन 4 बर्थ डेट वाले लोग, खुलकर जीते हैं अपनी जिंदगी, धन की नहीं होती कमी1119 किलोमीटर लंबी 13 सड़कों पर पर्सनल कारों का नहीं लगेगा टोल टैक्ससंयुक्त राष्ट्र की चेतावनी: दुनिया के पास बचा सिर्फ 70 दिन का गेहूं, भारत पर दुनिया की नजर

बड़ी खबरें

पाकिस्तान ने भेजी है विषकन्या: राजस्थान इंटेलिजेंस ने सेना को तस्वीरें भेज कर किया अलर्टPooja Singhal Case: झारखंड की 6 और बिहार के मुजफ्फरपुर में ED की एक साथ छापेमारी, अहम सुराग मिलने की उम्मीदकर्नाटक के पूर्व सीएम सिद्धारमैया का विवादित बयान, 'मैं हिंदू हूं, चाहूं तो बीफ खा सकता हूं..'सबसे आगे मोदी, पीछे से बाइडेन सहित अन्य नेता, QUAD Summit से आई PM मोदी की ये तस्वीर वायरलआर्थिक तंगी और तेल की कमी से जूझ रहे पाकिस्तान ने ढूंढा अजीब तरीका, कर्मचारियों को ज्यादा छुट्टियां देने की तैयारी!QUAD Summit: अमरीकी राष्ट्रपति ने उठाया रूस-यूक्रेन युद्ध का मुद्धा, मोदी बोले- कम समय में प्रभावी हुआ क्वाड, लोकतांत्रिक शक्तियों को मिल रही ऊर्जाWhat is IPEF : चीन केंद्रित सप्लाई चैन का विकल्प बनेंगे भारत, अमरीका समेत 13 देशबेरोजगारों के लिए सबसे बड़ी खबर: राजस्थान में अब अधिकांश भर्तियों में नहीं होगा साक्षात्कार
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.