यमुनानगर में प्रवासी मजदूरों पर लाठी बरसाना गलत

गऱीब मजदूरों के साथ संवेदना से पेश आए सरकार

By: Chandra Prakash sain

Published: 17 May 2020, 11:13 PM IST

रोहतक. पूर्व मुख्यमंत्री और नेता प्रतिपक्ष भूपेंद्र सिंह हुड्डा ने यमुनानगर में प्रवासी मजदूरों पर हुए लाठीचार्ज की निंदा की है। उन्होंने कहा कि हालात के मारे गऱीब मजदूरों पर लाठी बरसाना अमानवीय है। सरकार को इस मुश्किल दौर में मजदूरों से संवेदना के साथ पेश आना चाहिए। सरकार को कोशिश करनी चाहिए कि किसी मजदूर को यहां से पलायन ना करना पड़े। उनके लिए रहने, खाने-पीने,तुरंत राहत राशि या रोजगार की व्यवस्था की जाए। अगर सरकार ऐसा करने में सक्षम नहीं है या गरीब मज़दूर घर जाना चाहते है तो प्रवासियों के घर जाने का उचित बंदोबस्त किया जाना चाहिए।
नेता प्रतिपक्ष ने एक और गंभीर मुद्दे की तरफ सरकार का ध्यान खींचते हुए आग्रह किया कि गुरुग्राम और दूसरे कई जि़लों से ज्यादातर कोरोना मरीजों को पीजीआई रोहतक रेफर किया जा रहा है। इससे पीजीआई पर दबाव बढ़ता जा रहा है। मेवात , करनाल और खानपुर समेत प्रदेश में कई मेडिकल कॉलेज हैं। हर जगह कोरोना के इलाज की सुविधाओं को बढ़ाना ज़रूरी है। हालात को देखते हुए लगता है कि कोरोना से लड़ाई अभी लंबी चलेगी। इसलिए सरकार स्वास्थ्य सेवाओं और सुविधाओं इज़ाफा करे। ताकी कोरोना के साथ दूसरी बीमारियों का इलाज भी जारी रह सके और मरीजों को दूसरे प्रदेशों में ना जाना पड़े। नेता प्रतिपक्ष ने कहा कि सरकार को ज़रूरत पडऩे पर प्राइवेट हॉस्पिटल्स को कोविड-19 के लिए बदलने में गुरेज नहीं करना चाहिए।
हरियाणा की अन्य खबरों के लिए क्लिक करें

Chandra Prakash sain Desk
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned