आश्वासन के पांच माह बाद भी मांगे नहीं पूरी होने पर कर्मचारी संघ ने मुख्यमंत्री को भेजा मांगपत्र

आश्वासन के पांच माह बाद भी मांगे नहीं पूरी होने पर कर्मचारी संघ ने मुख्यमंत्री को भेजा मांगपत्र

Mahendra Pratap | Publish: Sep, 09 2018 05:42:24 PM (IST) Lucknow, Uttar Pradesh, India

उत्तर प्रदेशीय मिनिस्ट्रियल कर्मचारी संघ ने बीते मार्च में एनेक्सी भवन में मुख्यमंत्री के साथ बैठक कर अपनी कई मांगों के संबंध में चर्चा की

अम्बेडकर नगर. प्रदेश भर के जिलाधिकारी कार्यालय में तैनात लिपिक संवर्ग के उत्तर प्रदेशीय मिनिस्ट्रियल कर्मचारी संघ ने बीते मार्च में एनेक्सी भवन में मुख्यमंत्री के साथ बैठक कर अपनी कई मांगों के संबंध में चर्चा की थी, जिस पर मुख्यमंत्री ने शीघ्र ही विचार कर उचित मांगों की मंजूरी के आश्वासन भी दिया था। लेकिन पांच माह से अधिक समय बीत जाने के बावजूद कर्मचारी संघ की मांगों पर शासन स्तर से कोई ठोस निर्णय नहीं लिया गया है। इस संबंध में अम्बेडकर नगर में उत्तर प्रदेशीय मिनिस्ट्रियल कलेक्ट्रेट कर्मचारी संघ की जिला इकाई की तरफ से एक मुख्यमंत्री से वार्ता के क्रम अपनी 13 सूत्रीय मांगों की विज्ञप्ति भाजपा विधायक संजू देवी को सौंपकर मांगे माने जाने का मुख्यमंत्री से अनुरोध किया है।

कर्मचारी संघ की ये हैं प्रमुख मांगे

जिलाधिकारी कार्यालय और कलेक्ट्रेट को सामान्य तौर पर मिनी सचिवालय की संज्ञा दी गई है। यहां तैनात लिपिक संवर्ग प्रदेश के सचिवालय पद्धति पर ही कार्य करता है। लेकिन जो सुविधाएं सचिवालय के कर्मचारियों को दी जाती हैं, वह इन कर्मचारियों को नहीं मिलती है।

रविवार को छुट्टी के दिन अवकाश होने कारण जिला इकाई की कर्मचारी संघ के अध्यक्ष शिव शंकर पांडेय और जिला मंत्री प्रतीक टंडन के नेतृत्व टांडा विधानसभा क्षेत्र की भाजपा विधायक संजू देवी को उनके कार्यालय पर 13 सूत्रीय मांगपत्र सौंपा गया। उसमें प्रमुख रूप से जिलाधिकारी कार्यालय का नाम बदल कर मिनी सचिवालय का नाम किये जाने, सचिवालय कर्मचारियों की भांति समान वेतन, नायब तहसीलदार पद पर कर्मचारियों में 10 प्रतिशत प्रोन्नति देकर तैनाती, वेतन विसंगतियों को दूर करने की मांग, प्रदेश स्तर पर दारुल साफ में जिला इकाई के लिए कार्यालय समेत कुल तरह मांगे हैं।

विधायक ने दिया आश्वासन

कर्मचारी संघ की तरफ से विधायक संजू देवी को उनके कार्यालय पर सौंपे गए इस मांगपत्र पर विधायक ने इसे मुख्यमंत्री तक पहुंचाने और कर्मचारी संघ की मांगों पर सहानुभूति पूर्वक विचार करने का आश्वासन भी दिया है। मांगपत्र सौंपने में जिलाध्यक्ष शिवशंकर पांडेय और जिला मंत्री प्रतीक टंडन के साथ-साथ संघ के संगठन मंत्री राम किशन, कोषाध्यक्ष अनुराग श्रीवास्तव के अलावा तहसील इकाई के अध्यक्ष धीरज श्रीवास्तव व कई अन्य सरकारी कर्मचारी शामिल रहे।

Ad Block is Banned