Kisan Karz Mafi प्रमाण पत्र बांटने के कार्यक्रम में बटोरनी है भीड़, इसलिए यहां चल रही है प्रशासन की गुंडई

Kisan Karz Mafi Yojna 2017 के कार्यक्रम के लिए परिवहन विभाग जबर्दस्ती प्राइवेट बसों पर कब्जा कर रहा है।

अम्बेडकर नगर. प्रदेश में भारतीय जनता पार्टी की सरकार बनने के बाद यह घोषणाएं हुई थीं कि योगी आदित्यनाथ के नेतृत्व में बनी यह सरकार पूरी तरह भ्रष्टाचार मुक्त होगी। लेकिन ऋण मोचन योजना के अंतर्गत किसानों को दिए जाने वाले ऋण माफी प्रमाण पत्र के लिए आयोजित कार्यक्रम में किसानों की भीड़ जुटाने के लिए जिस तरह से परिवहन विभाग जबर्दस्ती प्राइवेट बसों पर कब्जा कर रहा है, उसको लेकर सरकार की मंशा पर गंभीर सवाल खड़े होने लगे हैं।


अम्बेडकरनगर जिले के ARTO साहब सुबह-सुबह निकले तो जरूर, पर सरकार को लाखों रुपये का चुना लगाने वाले डग्गा मार वाहनों को सीज करने नहीं। बल्कि डग्गा मार वाहनों को पकड़ कर किसान रैली में भेजने के लिए। बिना किसी शासनादेश और बिना किसी आदेश के गाड़ियों को पकड़ कर उसमें बैठी सवारियों को नीचे उतार दिया। यहां न कोई नियम है और न कोई कानून, सब ARTO साहब जानें।


सुबह चार बजे से पकड़ रहे थे बस

अम्बेडकर नगर जिले भर में सुबह 4 बजे से ही डग्गा मार वाहनों के मालिकों में हड़कंप मचा हुआ था। वजह थी जिले के ARTO साहब और उनके कमर्चारी। ये सभी निकल पड़े थे प्राइवेट बसों को पकड़कर सरकार द्वारा आयोजित किसान रैली में भजने के लिए। जब हमने एक रोडवेज के बस अड्डे का नजारा देखा तो हैरान रह गए। ARTO साहब अपनी गाड़ी में बैठे थे और कई बसों को पकड़कर रोडवेज मैदान में खड़ी कर रखी थी। हमें तो लगा ये डग्गामार बसें रोज परिवहन विभाग को लाखों का चूना लगाने के लिए बसों को पकड़ रहे हैं। हम चौंके तब जब एक बड़े बस मालिक की डग्गा मार बस जब रोडवेज बस अड्डे के सामने आकर रुकी और इन्हीं अधिकारी महोदय के सामने सवारियों को बैठाने लगा। जब ARTO साहब ने बस कंडक्टर को बुलाया तो उसने अपने आका को फोन किया। तब क्या था महज चन्द मिनटों में ARTO साहब की हिम्मत नहीं हुयी की इस डग्गा मार बस को रोक पाते और बस ARTO साहब के सामने सवारियों को बैठा कर धुंआ उठाती चलती बनी। 

 

परिवहन विभाग के कर्मचारियों ने खुद कुबूल की यह अराजकता

पकड़ी गयी डग्गा मर बसों को जब RTO ऑफिस कर्मी अपने साथ लेकर जाने लगे तो हमने पूछा कि इन बसों को कहां लेकर जा रहे हैं और क्यों। उसने कहा कि ARTO साहब ने इसे पकड़ा है इसे लेकर जा रहें है। जब हमने पूछा कि क्यों पकड़ा है, तो उन्होंने बताया कि इसे किसानों की रैली में भेजने के लिए पकड़ा है। वहीं दूसरी बस में बैठे एक ARTO में तैनात सिपाही से जब पूछा तो उसने भी वही बताया कि किसान कर्ज माफी की रैली के लिए ARTO साहब ने पकड़ा है। जब हमने पूछा कि किसके आदेश से ये गाड़ियां पकड़ कर रैली में भेजी जा रही हैं, तो जबाब मिला कि ARTO साहब बताएंगे। जब हमने ARTO साहब के स्टॉफ से पूछा कि गाड़ियों की चेकिंग क्यों नहीं कर रहें है, तो उन्होंने झल्ला कर कहा कि आज चेकिंग नहीं आज रैली के लिए पकड़ने आए हैं। सरकार के लिए क्या कानून, क्या नियम। सब एक तरफ और आदेश एक तरफ। यही है अधिकारियों का काम करने का सिस्टम।

Show More
नितिन श्रीवास्तव
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned