मथुरा में जन्मे कान्हा...देश मे गूंजी किलकारी, आनंद विभोर होकर भक्त एक दूसरे को देने लगे बधाई

मथुरा में जन्मे कान्हा...देश मे गूंजी किलकारी, आनंद विभोर होकर भक्त एक दूसरे को देने लगे बधाई

Nitin Srivastava | Publish: Sep, 03 2018 08:15:30 AM (IST) Lucknow, Uttar Pradesh, India

भक्तों ने मंदिरों के साथ अपने घरों की भी की सजावट...

अम्बेडकर नगर. माखनचोर नटखट नंदलाल भगवान श्री कृष्ण की जन्माष्टमी का उत्सव यूं तो मथुरा में बड़ी धूमधाम से प्रतिवर्ष मनाया जाता है, लेकिन मथुरा से लेकर अयोध्या, काशी और सम्पूर्ण देश ही नही बल्कि विदेशों में भी यह पर्व उसी तरह से मनाया जाता है, जैसे मानो लोग मथुरा में ही मौजूद हों। अम्बेडकर नगर जिले में भी प्रतिवर्ष की भांति इस वर्ष भी भगवान श्रीकृष्ण के जन्म का उत्सव सभी मंदिरों के साथ साथ लोगों के घरों में बड़ी श्रद्धा के साथ मनाया गया, जिसमे लोग एकत्रित होकर पंचांग के अनुसार जन्म के निर्धारित समय पर भगवान के जन्म लेने के पश्चात विधिवत मंत्रोचार और पूजन अर्चन के साथ ही भक्तिभाव में डूबे भजन कीर्तन गाकर एक दूसरे को बधाइयां देते रहे।

 

यहां की छटा ही रही निराली

सरयू नदी के पाँवह तट पर स्थित जिले की टांडा नगरी में भी घर घर मे भगवान श्रीकृष्ण के जन्म का उत्सव बड़ी धूम धाम से मनाया गया। सरयू नदी के किनारे हनुमान गढ़ी मंदिर में जहां साधु संतों ने भगवान के अवतार लेने के समय उनकी पूजा अर्चना कर प्रसाद वितरण किया वहीं प्रसिद्ध ज्योतिषाचार्य पंडित राकेश मिश्रा द्वारा जन्मोत्सव के भव्य आयोजन में सैकड़ों लोगों ने बड़ी धूमधाम से यह पर्व मनाया। यहां सबसे पहले भगवान की पालकी सजाई गई एयर जन्म के उपरांत उनका श्रृंगार करने के बाद उनका अभिषेक मंत्रोचार के साथ किया गया। लोगों ने भक्तिभाव से भगवान के दर्शन करने के साथ ढोल मजीरे के साथ भजन कीर्तन भी करते रहे।

 

मंदिरों के साथ लोगों ने अपने घरों की भी की सजावट

टांडा के ही उदासीन आश्रम बड़ा फाटक मंदिर में भी भगवान श्रीकृष्ण का जनमोत्स्व बड़ी धूमधाम से मनाया गया। इस मंदिर का आयोजन यहां के महंथ डॉ चंद्र प्रकाश त्रिपाठी द्वारा किया गया था। इस आयोजन में कीर्तन मंडली की तरफ से देर रात तक भजन कीर्तन होता रहा, जिसे सुनने और भगवान के दर्शन कर प्रसाद ग्रहण करने लिए सैकड़ों की संख्या में लोग मौजूद रहे। टांडा का जुड़वा मुबारक पुर में भी जन्मोत्सव का कार्यक्रम काफी देर तक चलता रहा। यहां भी लोगों ने बड़ी श्रद्धा के साथ भगवान श्रीकृष्ण का जन्मोत्सव मनाया। इस मौके पर यहां लोगों ने मंदिरों के साथ साथ अपने घरों की भी सजावट करने के अलावा रात भर भक्ति भजन में डूबे रहे।

Ad Block is Banned