रमजान शुरू होते ही ऐसे लौटी बाज़ारों में रौनक, हर चेहरे पर छाई ख़ुशी

रमजान शुरू होते ही ऐसे लौटी बाज़ारों में रौनक, हर चेहरे पर छाई ख़ुशी

Mahendra Pratap | Publish: May, 18 2018 11:36:07 AM (IST) Lucknow, Uttar Pradesh, India

क्या बच्चे, क्या बूढ़े और क्या जवान, इस्लाम धर्म को मानने वाले पूरी साल रमजान का इन्तजार करते हैं।

अम्बेडकर नगर. क्या बच्चे, क्या बूढ़े और क्या जवान, इस्लाम धर्म को मानने वाले पूरी साल रमजान का इन्तजार करते हैं। खुशियों का यह ऐसा त्यौहार है, जिसे अल्लाह की इबादत और बरकतों का महिना माना जाता है। यह भी माना जाता है कि इस महीने में जो भी नेकी की जाएगी अल्लाह उसके बदले में कई गुना शवाब देगा। इस पवित्र महीने के शुरू होते ही सभी मुस्लिम परिवारों में तैयारियां होने लगी हैं। जहां रमज़ान के शुरु होने से घरों में तैयारियां तेज हो गई है तो वहीं बाज़ारों में भी रौनक लौट आई है।

जानिए रमजान की ख़ास बातें

पवित्र रमजान शुरू होते ही सभी मुस्लिम परिवारों में तैयारिया शुरू कर दी जाती हैं। इस महीने के समाप्त होते ही ईद होती है, जिसमें सभी लोग नए कपड़ों से लेकर सब कुछ नया प्रयोग करते हैं। एक दूसरे के लिए सिवई पकाते हैं और बड़े चाव से खिलाते हैं। इसके अलावा पूरे रमजान के महीने में दिन भर रोजा रखते हैं। मुस्लिम धर्म गुरु मौलाना अदील अहमद बताते हैं कि रमज़ान के महीने में इस्लाम को मानने वालों पर रोजे फर्ज किए गए हैं। रमज़ान के इस पाक महीने में, महीने भर रोजे रख कर अल्लाह इबादत की जाती है। अल्लाह ने फ़रमाया है कि इस महीने मो जो भी किया जाएगा उसका 70 गुना सबाब मिलेगा। इस महीने में रोजे रख अल्लाह की इबादद के साथ अपने उन गरीब लोगों की मदद करे जो उसके हक़दार हो। मौलाना अदील ने बताया कि इस महीने में हम जो खाएं उसे गरीबों को जरूर दें यहीं अल्लाह का फरमान है और अल्लाह ऐसे बन्दों से बेहद खुश होता है।

देशी सामानों के साथ विदेशी खजूर की बढ़ी मांग

रमजान का पवित्र महीना शुरू हो चुका है और इसको लेकर तैयारी तेज हो गई है। खाने पीने की चीजों के साथ जरूरी सामानो की भी खरीदारी हो रही है। रमज़ान के शुरु होने से बाज़ारों की रौनक बढ़ गई है। खास बात यह है कि इस महीने में देश, विदेश की खाने पीने की चीजों की बाज़ारों में भरमार हो गई है। रमजान के महीने में सबसे अहम् होता है खजूर, जिससे रोजा खोलना इस्लाम में सुन्नत माना जाता है। बाज़ारों में विदेशी खजूर के साथ नायाब चीजें भी आ गई है। इस महीने की तैयारी में घर की महिलाएं बाज़ारों में खरीदारी करने में जुटी हैं। वहीं दुकानदार भी इस महीने का साल भर इंतज़ार किया करते हैं। दुकानदारों का कहना है की खाने पीने का जो सामान इस महीने में मिल जाता है और महीनो में नहीं मिल पाता और इस महीने की दुकानदारी के लिए सभी दुकानदार सालभर तैयारी करते हैं। दुकानदारों का कहना है कि इस महीने में दुकानदारी भी बढ़ जाती है।

Ad Block is Banned