स्मृति ईरानी के वस्त्र मंत्रालय ने महिलाओं को दी सौगात तो ख़ुशी से झूम उठीं

Abhishek Gupta

Publish: Oct, 13 2017 06:35:41 (IST) | Updated: Oct, 14 2017 11:03:00 (IST)

Lucknow, Uttar Pradesh, India
स्मृति ईरानी के वस्त्र मंत्रालय ने महिलाओं को दी सौगात तो ख़ुशी से झूम उठीं

केंद्र सरकार द्वारा पंडित दीन दयाल उपाध्याय जन्म शताब्दी के उपलक्ष्य में इस साल को गरीब कल्याण वर्ष के रूप में मनाया जा रहा है|

अम्बेडकरनगर. केंद्र सरकार द्वारा पंडित दीन दयाल उपाध्याय जन्म शताब्दी के उपलक्ष्य में इस साल को गरीब कल्याण वर्ष के रूप में मनाया जा रहा है। इसी क्रम में 7 अक्टूबर से 17 अक्टूबर तक वस्त्र मंत्रालय द्वारा देश में हस्तकला सहयोग शिविर का आयोजन किया जा रहा है। अम्बेडकर नगर जिले में भी हस्तकला सहयोग शिविर का आयोजन टांडा और खजुरी में किया गया। टांडा में बुनकरों और हस्तकला से जुड़े लोगों के लिए आयोजित किये गए इस सहयोग शिविर में बड़ी संख्या में महिला हस्तशिल्पियों ने भाग लिया। शिविर में शिल्पियों को व्यवसाय करने सम्बन्धी जानकारी देने के साथ शिल्पी कार्ड के रजिस्ट्रेशन, जी एस टी से सम्बंधित जाकारियों के अलावा मुद्रा लोन लेने के लिए काउन्टर खोल कर आवेदन भी प्राप्त किये गए।

 

भाजपा विधायक ने किया उद्घाटन

बुनकर नगरी टाण्डा में हस्तकला सहयोग शिविर का उद्घाटन भाजपा विधायक श्रीमती संजू देवी ने किया। इस मौके पर वहां उपस्थित सैकड़ों की संख्या में हस्तकला में पारंगत महिलाओं को संबोधित करते हुए उन्होंने कहाकि प्रधानमंत्री जी और वस्त्रमंत्री स्मृति ईरानी जी पंडित दीन दयाल उपाध्याय के सपनो को साकार करते हुए समाज के सभी वर्गों के विकास के लिए विभिन्न योजनाएं चला रहे हैं। उन्होंने कहाकि इस शिविर का आयोजन भी इसी मकसद से किया गया है कि हस्तकला में पारंगत लोग अपना व्यवसाय खुद करके अपने पैरों पर खड़े हो सकें। इसके लिए सरकार ऋण देकर हर तरह से मदद करने को तैयार है।

 

बड़ी संख्या में जुटी हस्त शिल्पी महिलायें-
जिले के बुनकर बाहुल्य टांडा में हस्तकला उद्योग के माध्यम से कढाई और जरदोजी का कार्य सीख चुकी महिलाओं के लिए केंद्र सरकार के वस्त्र मंत्रालय की तरफ से आयोजित हस्तकला सहयोग शिविर में इन महिलाओं को रोजगार को बढ़ाने और स्वावलंबी बनने के उद्देश्य से तमाम जानकारियां दी गई, जिसमें प्रमुख रूप से जिला उद्योग केंद्र के अधिकारी ने सरकार द्वारा उद्योग को संचालित करने के लिए चलाई जा रही योजनाओं के बारे में और टैक्स अधिकारी ने जी एस टी के बारे में विस्तार से बताया।

 

अधिकारी ने बताया सरकार दे रही है सुविधाएँ-
वस्त्र मंत्रालय के हथकरघा विभाग के सहायक निदेशक अब्दुल्लाह ने कहा कि वस्त्र मंत्रालय बुनकरों और शिल्पकारों को एक छत के नीचे सारी सुविधाएं प्रदान करने के लिए यह आयोजन पूरे भारत में कर रहा है। यहाँ जिन शिल्पियों का कार्ड बन चूका हैं, उनका वितरण, व्यवसाय और जी एस टी सम्बंधित जानकारी देना और राज्य व केंद्र सरकार की योजनाओं की जानकारी देने का काम किया जा रहा है। उन्होंने कहाकि हथकरघा विभाग केवल बुनकरों और हस्त शिल्पियों के लिए कार्य करता है। उन्होंने बताया कि इस शिविर में पांच सौ महिलाए हस्त शिल्प के माध्यम से जारी और जरदोजी के माध्यम से महिलाओं को रोजगार देने के लिए यह आयोजन किया गया है।

 

व्यवसाय करेंगी ये लड़कियां
हस्तकला सहयोग शिविर में सैकड़ों की संख्या में मौजूद हस्त शिल्पियों में काफी उत्साह देखने को मिला। इन हस्त शिल्पियों का कहना है कि सरकार उन्हें निःशुल्क प्रशिक्षण देकर स्वावलंबी बना रही है। साथ ही व्यवसाय करने के लिए केंद्र सरकार की मुद्रा योजना के तहत ऋण भी उपलब्ध करा रही है और रोजगार पार्क योजनाओं के साथ-साथ जी एस टी के बारे में जानकारी देकर जागरूक कर रही है, जिससे उन्हें व्यवसाय करने में काफी सुविधा मिलेगी।

Rajasthan Patrika Live TV

1
Ad Block is Banned