कमन्युटी किचन से हर रोज हो रही हजारों लोगों की मदद

लॉकडाउन के बाद गरीब मजदूरों और रोजमर्रा काम करके खाने वालों के सामने दो जून की रोटी की सबसे बड़ी समस्या है

By: Karishma Lalwani

Updated: 05 Apr 2020, 03:06 PM IST

अम्बेडकर नगर. लॉकडाउन के बाद गरीब मजदूरों और रोजमर्रा काम करके खाने वालों के सामने दो जून की रोटी की सबसे बड़ी समस्या है। ऐसे लोगों को भोजन उपलब्ध कराने के लिए सरकार द्वारा बड़ी जिम्मेदारी निभाई जा रही है। शासन के निर्देश पर अम्बेडकर नगर जिले में भी प्रशासन की तरफ से गरीब परिवारों, मजदूर और असहाय लोगों को भोजन सामग्री के साथ साथ अब कमन्युटी किचन भी शुरू किया गया है। जिले की सभी नगर पालिका और नगर पंचायत क्षेत्रों में कमन्युटी किचन के माध्यम से भोजन तैयार कर हजारों लोगों को दोपहर और शाम का भोजन दिया जा रहा है।

सामाजिक संगठनों और औद्योगिक कंपनियों के हाथ सरकार की मदद में
इसके अलावा कई सामाजिक संगठनों और औद्योगिक इकाइयों के सहयोग से गरीब परिवारों को राहत पहुंचाने के लिए राशन के पैकेट और पका भोजन भी दिया जा रहा है। तहसीलदार संतोष कुमार ओझा ने बताया कि कई जगह बनाये गए शेल्टर हाउसों में क्वारंटाइन किये गए लोगों के अलावा कमन्युटी किचन के माध्यम से जरूरतमंदों को दो टाइम भोजन के अलावा गरीब परिवारों को राहत सामग्री दी जा रही है, जिसमे सामाजिक संगठनों के साथ-साथ अल्ट्राटेक सीमेंट और एनटीपीसी की तरफ से सैकड़ों परिवार को राशन के पैकेट दिए गए हैं। अल्ट्राटेक सीमेंट कंपनी के प्रबंधक पीएस कृष्णा ने बताया कि कंपनी आपदा की इस घड़ी में सरकार के साथ खड़ी है और जो भी जरूरत होगी वह मुहैया कराएगी। गुरुद्वारा गुरुसिंह सभा टांडा की तरफ से प्रतिदिन जहां सैकड़ों लोगों को दोनों टाइम भोजन कराया जा रहा है। साथ ही तमाम गरीब परिवारों के घर राशन का पैकेट भी बांटा जा रहा है।

coronavirus COVID-19
Karishma Lalwani
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned