पुलिस ने किया ऐसा कारनामा जिसकी किसी ने नहीं की थी कल्पना, खूब हो रही वाह-वाही

पुलिस ने किया ऐसा कारनामा जिसकी किसी ने नहीं की थी कल्पना, खूब हो रही वाह-वाही

By: Ruchi Sharma

Published: 10 Dec 2017, 05:55 PM IST

अम्बेडकर नगर. आम तौर पर पुलिस का नाम आते ही हर आदमी के दिमाग अच्छे भाव नहीं आते हैं, लोगों को लगता है कि पुलिस किसी मजबूर की मदद करने के बजाय पैसे वालों या प्रभावशाली लोगों के लिए ही काम करती है और सामान्य तौर पर पुलिस लोगों के उत्पीड़न करने के लिए जानी जाती है, लेकिन शायद हमेशा ऐसा नहीं होता है, पुलिस में जहां बुरे लोग हैं तो वहीं बहुत से अच्छे लोग भी हैं और इन लोगों द्वारा कभी कभी ऐसा कार्य कर दिया जाता है, जिससे न सिर्फ लोगों की जिंदगी संवर जाती है, बल्कि यह लोगों के लिए मिसाल और पुलिस विभाग के लिए प्रेरणादायक भी बन जाती है।

जी हां पुलिस का ऐसा ही रूप जिले के जहांगीर गंज थाना क्षेत्र में देखने को मिला है। इस थाना क्षेत्र के जगदीशपुर गांव में मुन्नर यादव के बेटी की शादी में घरातियों और बारातियों के बीच जमकर मारपीट हो गई और दोनों पक्षों के लोग लगभग शादी तोड़ एक दूसरे के खिलाफ मुकदमा दर्ज कराने की तैयारी कर रहे थे। डायल 100 पर शिकायत मिलने पर वहां पहुंचे थानाध्यक्ष बेचू सिंह पहुंच कर जो भूमिका निभाई, उससे न सिर्फ बिगड़े रिश्ते सुधार कर न सिर्फ विवाह कराया, बल्कि लोगों की वाहवाही भी बटोरी।

इस तरह से टूट जाने वाली थी शादी

जहांगीर गंज बसखारी मार्ग पर स्थित जगदीशपुर गांव निवासी मुन्नर यादव के घर लड़की की शादी में अन्नापुर गांव से बारात आई थी। बताया जाता है कि रात में द्वार पूजा के समय पहले डीजे पर डांस करने को लेकर वर व वधू पक्ष में पहले कहा सुनी व तनातनी हुई। मौके पर किसी तरह लोग शांत हुए तो बारात दरवाजे पर पहुंचते ही कुछ शरारती बारातियों ने साज सज्जा में लगे कुछ गुब्बारों को फोड़ दिया, जिसको लेकर एक बार फिर कहासुनी शुरू हो गई और देखते देखते मारपीट में तब्दील हो गई। और परिणाम यह रहा कि जहां लड़की पक्ष की तरफ स्नोंके बारातियों का स्वागत फूल माला से करना था वहीं दोनों पक्षों में लाठी डंडे चलने लगे। स्थिति बिगड़ती देख कुछ लोगों ने डायल 100 पर फोन से पुलिस को सूचित किया, जिसके बाद तुरंत मौके पर पुलिस टीम पहुंची।

थानाध्यक्ष के पहुंचने से बना बिगड़ा मामला

घरातियों और बारातियों के बीच मारपीट हो जाने के बाद दोनों पक्षों के जिम्मेदार लोग किसी भी हालत में यह रिश्ता करने के बजाय कानूनी कार्यवाही करने लिए पुलिस पर दबाव बना रहे थे। थोड़ी देर बाद थानाध्यक्ष बेचू सिंह यादव पुलिस बल के साथ मौके पर पहुंचे, तो उनके सामने भी दोनों पक्ष विवाह करने के बजाय कार्यवाही करने की जिद पर अड़े थे, लेकिन थानाध्यक्ष ने हस्तक्षेप करते हुए दोनों पक्षों को समझा बुझाकर शांत कराया।

मारपीट के बाद वर पक्ष वापस बिना शादी के ही लौटने की तैयारी करने लगा तो कड़ी मशक्कत के बाद पुलिस ने वर पक्ष को शादी के लिए राजी कर लिया और अंततः देर रात तक थानाध्यक्ष बेचू सिंह स्वयं पुलिस के साथ पूरी रात बैठकर शादी की रस्म अदा कराकर कार्यक्रम संपन्न कराया। मारपीट में कुछ लोगों के घायल होने की बात सामने आई लेकिन थानाध्यक्ष बेचू सिंह यादव ने किसी पक्ष की तरफ से कोई तहरीर न देने से कोई कार्यवाही नही की। वैवाहिक कार्यक्रम पुलिस के हस्तक्षेप से शांतिपूर्वक संपन्न करा दिया गया और ईश्वर द्वारा बनाये गए ये जोड़े एक दूसरे के हो गए।

Ruchi Sharma
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned