Breaking News : शादी समारोह से 16 वर्षीय लड़की का अपहरण कर 2 युवकों ने 2 दिन तक किया गैंगरेप, थानेदार बोले- समझौता कर लो

Breaking News : शादी समारोह से 16 वर्षीय लड़की का अपहरण कर 2 युवकों ने 2 दिन तक किया गैंगरेप, थानेदार बोले- समझौता कर लो

Ram Prawesh Wishwakarma | Updated: 16 May 2019, 07:45:24 PM (IST) Ambikapur, Surguja, Chhattisgarh, India

पीडि़ता व उसके परिजन ने थानेदार पर लगाया रिपोर्ट न लिखने का आरोप, थानेदार ने नहीं सुनीं बात तो आईजी से लगाई न्याय की गुहार, पीडि़ता, उसके पिता व भाई को आरोपियों ने पीटा

अंबिकापुर। शंकरगढ़ थाना क्षेत्र अंतर्गत शादी समारोह में गई एक किशोरी का अपहरण कर दो युवकों ने दुष्कर्म की घटना को अंजाम दिया है। यही नहीं जब पीडि़ता घटना की जानकारी अपने परिजनों को बताई और परिजन ने युवकों से पूछताछ की तो आरोपियों ने परिजन की भी जमकर पिटाई कर दी।

पीडि़त परिवार घटना की शिकायत करने शंकरगढ़ थाना पहुंचे तो वहां भी उनकी फरियाद नहीं सुनी गई। पीडि़त परिवार का आरोप है कि थानेदार ने आरोपी पक्ष से समझौता करने की बात कहकर उन्हें वापस भेज दिया।

जब पीडि़ता को न्याय नहीं मिला तो पीडि़ता अपने परिजन के साथ गुरुवार को अंबिकापुर पहुंचकर आइजी से मुलाकात की। पीडि़त परिवार ने आइजी को शिकायत पत्र सौंपकर आरोपियों के खिलाफ अपराध दर्ज कर निष्पक्ष कार्रवाई करने की मांग की है।


शंकरगढ़ थाना क्षेत्र अंतर्गत एक गांव की 16 वर्षीय किशोरी 11 मई को गांव में एक शादी समारोह में गई थी। इसी दौरान किशोरी की मुलाकात उसके पहचान के युवक ग्राम खैराडीह निवासी धर्मेंद्र यादव पिता रविंद्र यादव 24 वर्ष से हुई। युवक किशोरी को बहला-फुसलाकर अपने साथ बाहर लेकर चला गया।

कुछ दूर जाने के बाद अनिल यादव पिता मुरारी यादव 22 वर्ष सूनसान जगह पर बाइक लेकर खड़ा था। पीडि़ता का आरोप है कि इसके बाद दोनों युवक उसे जबरन बाइक में बैठाकर ग्राम पटोरा लेकर गए। वही अनिल यादव किशोरी को एक घर में लेकर गया और उसके साथ दोनों जबरन 2 दिनों तक दुष्कर्म करते रहे।

पीडि़ता ने जब विरोध किया और शोर मचाने लगी तो आरोपी युवक उसे परिजन के घर छोड़कर फरार हो गए। पीडि़ता ने परिजन को आपबीती सुनाई तो परिजन आग बबूला हो गए। पीडि़ता के पिता और भाई आरोपियों से घटना की जानकारी लेने पहुंचे तो दोनों आरोपी और उनके पिता ने मिलकर पीडि़ता के पिता और भाई की बेदम पिटाई की।

पीडि़ता का आरोप है कि इस दौरान आरोपियों का 25 अन्य लोगों ने भी साथ दिया और पीडि़ता की भी जमकर पिटाई की। वहीं जब पीडि़ता और उसके परिवार ने मामले की शिकायत शंकरगढ़ थाने में की तो थानेदार ने शिकायत दर्ज कराने से इनकार कर दिया।


आइजी से की एफआइआर दर्ज करने की मांग
गुरुवार को पीडि़ता और उसके परिजन ने अंबिकापुर पहुंचकर आईजी केसी अग्रवाल से मुलाकात की। इस दौरान पीडि़त परिवार ने आरोपियों सहित शंकरगढ़ थानेदार के खिलाफ भी गंभीर आरोप लगाए। पीडि़त परिवार ने आइजी को शिकायत की कि थानेदार ने एफआइआर दर्ज नहीं की।

थानेदार ने पीडि़त परिवार को आरोपी पक्ष से समझौता कर मामला को रफा-दफा करने की बात कहकर उन्हें वापस भेज दिया। पीडि़ता और उसके परिवार ने आइजी से मांग की है कि मामले की जांच उच्च अधिकारियों से करा कर आरोपियों के खिलाफ कड़ी से कड़ी कारवाई की जाए। आइजी ने पीडि़ता को निष्पक्ष रूप से न्याय दिलाने का आश्वासन दिया है।


एडिशनल एसपी ने लिया बयान
आइजी के निर्देश के बाद बलरामपुर के अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक प्रशांत कतलम शंकरगढ़ थाने पहुंचे। यहां उन्होंने पीडि़ता व परिजन का बयान लिया। इसके बाद आगे की कार्रवाई की जाएगी।


पीडि़ता व उसके परिजन नहीं आए थे थाना
पीडि़ता व परिजन थाने नहीं आए थे। गुरुवार को थाने में उनका बयान लिया गया है। इसके बाद आगे की कार्रवाई की जाएगी।
प्रकाश राठौर, थाना प्रभारी, शंकरगढ़

Show More

MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned