कलेक्टर के बाद अब मंत्री मूणत का आदेश भी ठेकेदार ने कर दिया दरकिनार, चल रही मनमानी

कलेक्टर के बाद अब मंत्री मूणत का आदेश भी ठेकेदार ने कर दिया दरकिनार, चल रही मनमानी

Ram Prawesh Wishwakarma | Publish: Jun, 14 2018 05:35:24 PM (IST) Ambikapur, Chhattisgarh, India

मंत्री राजेश मूणत ने सप्ताहभर पूर्व बैठक लेकर बारिश के पूर्व रिंग रोड का निर्माण करने के दिए थे आदेश, कछुआ चाल से बन रही रिंग रोड

अंबिकापुर. शहरवासियों व जनप्रतिनिधियों की प्रयास के बाद प्रदेश सरकार ने रिंग रोड निर्माण की अनुमति देने के साथ ही बजट भी आबंटित कर दिया। इसके बावजूद जिस स्पीड से ठेका कम्पनी द्वारा रिंग रोड का निर्माण किया जा रहा है, उससे कहीं से यह नहीं लग रहा है कि समय पर काम पूरा किया जा सकेगा।

कलक्टर ने भी ठेकेदार को तय सीमा में काम पूरा करने के निर्देश दिए थे लेकिन ठेकेदार द्वारा मनमाना काम किया जाता रहा। वहीं पिछले दिनों विकास यात्रा के पूर्व पीडब्ल्यूडी मंत्री ने अधिकारियों की बैठक लेकर रिंग रोड सहित सभी सड़कों का मरम्मतीकरण बारिश के पूर्व करने का निर्देश दिए थे। मंत्री के निर्देशों को भी विभाग के अधिकारी व ठेकेदार काफी हल्के में ले रहे हैं।

प्री-मानसून की बारिश भी शुरू हो गई। लेकिन ठेकेदार द्वारा जिस तरफ गड्ढा खोदा गया है उसकी दूसरी तरफ आवागमन शुरू करने के लिए अब तक मरम्मतीकरण का काम प्रारम्भ भी नहीं किया गया है। इससे आने वाले दिनों में लोगों की परेशानी बढऩे की पूरी संभावना है।


रिंग रोड निर्माण की जिम्मेदारी सरकार द्वारा सड़क विकास निगम को दी गई है। सड़क विकास निगम ने ही रिंग रोड निर्माण के लिए न केवल निविदा जारी की गई बल्कि निर्माण हेतु पूरा गाइड-लाइन भी तैयार कर मेसर्स श्रीकृष्णा एंड कम्पनी को निविदा जारी की गई। निर्धारित गाइड-लाइन के अनुसार ठेका कम्पनी ने विधिवत 20 जुलाई 2017 को रिंग रोड का काम शुरू किया।

ठेका कम्पनी को 19 जुलाई तक 10.80 किमी का काम पूरा कर लेना था। लेकिन जिस स्पीड से रिंग रोड का काम किया जा रहा है, उससे कहीं से भी ऐसा नहीं लग रहा है कि 19 जुलाई तक काम आधा भी पूरा हो पाएगा। इससे मुसीबत और बढ़ेगी।


आवागमन के लिए का किया जाना है मरम्मतीकरण
निर्माण से पूर्व सड़क विकास निगम व ठेका कम्पनी के मध्य जो अनुबंध किया गया है। उसके अनुसार जहां भी सड़क का निर्माण करने के लिए गड्ढा खोदा जाता है। उसके दूसरी तरफ की सड़क का मरम्मतीकरण कर आने-जाने वालों के लिए आवगमन सुचारू बनाने की जिम्मेदारी भी ठेका कम्पनी पर है। लेकिन गाइडलाइन के इन नियमों का शुरू से ही ठेका कम्पनी द्वारा धज्जियां उड़ाईं जा रही हैं। इसके बावजूद ठेकेदार के खिलाफ किसी भी अधिकारी द्वारा कोई उचित कार्रवाई अब तक नहीं की गई है।


बारिश से बढ़ी वहां रहने वाले लोगों की परेशानी
प्री-मानसून की वजह से मंगलवार से शहर में रूक-रूककर तेज बारिश हो रही है। इससे रिंग रोड में ठेकेदार द्वारा जहां भी गड्ढा खोदकर छोड़ दिया गया है। वहां पानी जम जाने की वजह से उसके आसपास रहने वालों की परेशानी बढ़ जा रही है। लेकिन इन परेशानियों से सड़क विकास निगम के अधिकारियों को कोई लेना-देना नहीं है।


मंत्री के निर्देशों की भी कर रहे अवेहलना
पीडब्ल्यूडी मंत्री राजेश मूणत ने विकास यात्रा से कुछ दिनों पूर्व अधिकारियों की बैठक लेकर रिंग रोड सहित अन्य सड़कों के हाल को देख काफी नाराजगी व्यक्त की थी। उन्होंने अधिकारियों की बैठक लेकर स्पष्ट रूप से कहा था कि बारिश के पूर्व सभी सड़कों के मरम्मतीकरण का काम पूर्ण हो जाना चाहिए लेकिन मंत्री के निर्देशों का भी पालन कराने में सड़क विकास निगम के अधिकारी असहाय नजर आ रहे हैं। मंत्री द्वारा निर्देश दिए लगभग 10 दिन से अधिक का समय बीत चुका है, लेकिन रिंग रोड या फिर अन्य सड़क में एक इंच भी मरम्मत का काम शुरू नहीं हो सका है।


अधिकारी नहीं दे रहे आगे काम करने के निर्देश
ठेका कम्पनी के कर्मचारियों की मानें तो अब तक सड़क विकास निगम के आला अधिकारियों द्वारा एक तरफ सिर्फ ७ किमी तक काम करने के निर्देश दिए गए हैं। इसके आगे काम करने के संबंध में कोई निर्देश दिए गए हैं। इसकी वजह से भी काम काफी धीमी गति से किया जा रहा है। लेकिन ठेकेदार द्वारा शहर के कई हिस्सों में गड्ढा कर दिए जाने की वजह से लोगों की बारिश में परेशानी बढ़ गई है।


दिखवाते हैं
मंत्री राजेश मूणत ने रिंग रोड के दूसरे तरफ जिधर काम नहीं हो रहा है, उधर मरम्मतीकरण कराने को कहा था। लेकिन कहां परेशानी आ रहा है। इसे दिखवाते हैं।
रश्मि वैश्य, इंजीनियर, सड़क विकास निगम

MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पड़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते है । हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते है ।
OK
Ad Block is Banned