भांजी से इश्क लड़ाने में आड़े आ रहा था मामा, हत्या कर बदल ली थी पहचान

पुलिस ने आरोपी को अंबिकापुर के ग्राम अजिरमा से किया गिरफ्तार, रात के अंधेर में डंडे से जमकर की थी पिटाई

By: rampravesh vishwakarma

Published: 10 Nov 2017, 04:44 PM IST

कुसमी. ग्राम कोदवा में 18 दिन पूर्व डंडे की पिटाई से घायल ग्रामीण की मौत इलाज के दौरान हो गई थी। मामले में कुसमी पुलिस ने आरोपी को गिरफ्तार कर गुरुवार को जेल भेज दिया। बताया जा रहा है कि मृतक की ममेरी बहन की नाबालिग बेटी से आरोपी पे्रम करता था। इसका विरोध मृतक करता था। इसी बीच मौका पाकर 21 अक्टूबर को उसने डंडे से पिटाई कर मृतक को गंभीर कर दिया था।


बलरामपुर-रामानुजगंज जिले के कुसमी थानांतर्गत ग्राम कोदवा के सरनापारा निवासी 55 वर्षीय घिनु पैकरा पिता टहल पैकरा जो कि गांव के 60 वर्षीय सैनाथ राम के साथ 21 अक्टूबर की रात घर के आंगन में चल रहे करमा नाच देख रहा था। देर रात करीब 11 बजे सभी अपने घर चले गए तब सैनाथ राम भी अपने घर जाने लगा और मृतक घिनु पैकरा अपने ममेरी बहन रजवइन के घर चला गया।

सैनाथ कुछ ही दूर गया था कि उसे शोरगुल की आवाज सुनाई दी। इस पर वापस लौटा तो देखा कि रजवइन और घिनु के बीच हाथापाई हो रही थी। कुछ देर बाद घिनु वहां से घर लौटने लगा, इसी बीच रास्ते में कोई अज्ञात युवक पीछे से पहुंचा और डंडे से घिनु की बेदम पिटाई शुरू कर दी। अंधेरा होने की वजह से आरोपी नजर नहीं आया।

इस पर देख सैनाथ ने शोर मचाया तो उसके बेटे जनसेवक, शैलेन्द्र सहित जगजीवन व अन्य लोग वहां पहुंचे तो आरोपी वहां से फरार हो गया। पिटाई से घायल घिनु को परिजन द्वारा प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्र डिपाडीह में भर्ती कराया गया। यहां प्राथमिक उपचार के बाद उसे परिजन मिशन आस्पताल में इलाज कराने ले गए थे।

यहां उपचार के बाद परिजन उसे घर ले आए थे किंतु कुछ दिन बाद उसकी तबियत अचानक बिगड़ गई। इस पर परिजन फिर उसे मिशन अस्पताल अंबिकापुर ले गए, यहां रविवार को उसकी मौत हो गई थी। पुलिस मामले में हत्या का अपराध दर्ज कर आरोपी की तलाश में जुटी हुई थी।

इसी बीच पुलिस को जानकारी मिली कि रजवइन की नाबालिग बेटी से राजपुर क्षेत्र के ग्राम चट्टीपारा परसवार निवासी राजू उर्फ हरिसाय सांडिल्य का प्रेम सम्बंध था। जो अपना नाम राजू पैकरा निवासी राजपुर बताकर एक ही जाति का बताकर किशोरी को शादी का झांसा देकर उसके घर हमेशा-आना जाना करता था।

इस बात से मृतक घिनु पैकरा नाराज था और इसका विरोध करता था। घटना की रात को भी युवक वहां आया था, इस पर रजवइन व मृतक घिनु पैकरा के बीच विवाद हुआ था। फिर जब घिनु वापस लौट रहा था तो आवेश में आकर हरिसाय सांडिल्य ने घिनु की डंडे से बेदम पिटाई कर दी थी। सिर में गंभीर चोट लगने की वजह से घिनु की अस्पताल में मौत हो गई थी।

यह जानकारी मिलने पर पुलिस आरोपी की तलाश में जुट गई। इसी बीच मुखबिर से सूचना मिली कि आरोपी हरिनाथ सांडिल्य अम्बिकापुर के अजिरमा में अपनी पहचान छिपाकर रह रहा है। इस पर कुसमी पुलिस की टीम ने अजिरमा में दबिश देकर आरोपी को गिरफ्तार कर लिया। पुलिस ने उसके खिलाफ धारा 302 के तहत कर कार्रवाई कर उसे जेल भेज दिया।

कार्रवाई में थाना प्रभारी मोरध्वज देशमुख, एएसआई बालेश्वर महानंदी, महिला प्रधान आरक्षक गुल्फी तिर्की, आरक्षक प्रदीप यादव, रिंकू गुप्ता, कामेश्वर पैंकरा, सुनीत कुमार, विजय, महिला आरक्षक अनुपमा कपूर व अन्य पुलिसकर्मी शामिल रहे।

rampravesh vishwakarma Desk
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned