डकैतों की धरपकड़ में लगी Police के हत्थे चढ़े 2 तस्कर, Car से 1.60 क्विंटल गांजा जब्त

जब्त गांजे की कीमत करीब 16 लाख रुपए, वाहनों की जांच के दौरान बनारस मार्ग पर गांधीनगर पुलिस को मिली सफलता, काले रंग की कार की डिक्की में 20 पैकेटों में रखा था गांजा

अंबिकापुर. मणप्पुरम गोल्ड फायनेंस कंपनी में 3 करोड़ की डकैती की आरोपियों को पकडऩे बुधवार की रात पुलिस शहर से निकलने वाले हर मार्ग पर नाकेबंदी कर वाहनों की जांच कर रही थी। इसी दौरान बनारस मार्ग पर गांधीनगर पुलिस के हत्थे कार सवार 2 गांजा तस्कर चढ़ गए।

तस्करों ने कार की डिक्की में 20 प्लास्टिक की पैकेटों में 1 क्विंटल 60 किलो गांजा रखा था। पुलिस ने कार सहित गांजा जब्त कर आरोपी को गिरफ्तार कर लिया। पुलिस ने उसके खिलाफ एनडीपीएस एक्ट के तहत कार्रवाई की है। जब्त गांजे की कीमत 16 लाख रुपए बताई जा रही है।
hemp and car

शहर के ब्रम्हरोड स्थित मणप्पुरम गोल्ड फायनेंस कंपनी में बुधवार को दिनदहाड़े 3 करोड़  के सोने की डकैती हो गई थी। शहर के बीचोंबीच इतनी बड़े वारदात के बाद पुलिस महकमे में हड़कंप मच गया था। पुलिस ने डकैतों को पकडऩे तत्काल शहर से निकलने वाले सभी रास्तों में नाकेबंदी कर दी। उनके द्वारा वाहनों की चेकिंग की जा रही थी।

वारदात के 5 घंटे बाद तक डकैतों तो पकड़ में नहीं आए लेकिन गांधीनगर पुलिस के हत्थे 2 गांजा तस्कर चढ़ गए। रात करीब 9.30 बजे थाने के सामने चेकिंग कर रही गांधीनगर पुलिस ने शहर से बनारस की ओर जा रही काले रंग की कार क्रमांक सीजी 04 एएच-2341 को रुकवाया।  उसमें 2 व्यक्ति बैठे हुए थे।

जब कार की तलाशी ली तो उसकी डिक्की में 20 प्लास्टिक के पैकेट में गांजा भरा हुआ था। इसके बाद पुलिस ने कार सवार बिहार के ग्राम शिवदत्तपुर, थाना सकरी जिला मधुबनी निवासी गंगन कुमार झा पिता उग्रेस झा 23 वर्ष तथा उत्तरप्रदेश के ग्राम बरौद, थाना बागपत निवासी सुमेर सिंह पिता पीतांबर सिंह 40 वर्ष को गिरफ्तार कर गांजा व कार भी जब्त कर ली।

आरोपी गंगन फिलहाल दिल्ली के इंद्रपुरी तथा सुमेर दिल्ली के पालम कॉलोनी शादनगर में रह रहे थे। जब्त गांजे की कीमत करीब 16 लाख रुपए बताई जा रही है। पुलिस ने आरोपी तस्कर के खिलाफ  एनडीपीएस एक्ट की धारा 20 (ख) 2 (ग) के तहत कार्रवाई की।

कार्रवाई में प्रशिक्षु डीएसपी व गांधीनगर थाना प्रभारी पुष्पेंद्र सिंह बघेल, एएसआई बृजकिशोर पांडेय, विजय गुप्ता, पीसीआर प्रभारी राकेश मिश्रा, प्रधान आरक्षक भोला सिंह, आरक्षक विकास सिन्हा, मुक्ति तिर्की, चीता-4 राजू कुजूर, आलोक कुजूर, पंकज देवांगन, संजय कुमार, सियंबर दास, इदरिश खान, शिवचंद चतुर्वेदी सहित अन्य शामिल थे।

ओडिशा से दिल्ली ले जा रहे थे गांजा
पुलिस की पूछताछ में तस्करों ने बताया कि वे ओडिशा से गांजा लेकर निकले थे। वे रायपुर-महासमुंद रोड होकर अंबिकापुर पहुंचे थे। यहां से उत्तरप्रदेश होते हुए दिल्ली जाने के लिए निकले थे। गौरतलब है कि एसपी आरएस नायक के निर्देशन व एएसपी आरके साहू के मार्गदर्शन में सरगुजा पुलिस द्वारा गांजा तस्करों व नशेडिय़ों के खिलाफ धरपकड़ अभियान जारी है।

कार का बदलता था नंबर प्लेट
जब्त कार में अलग-अलग नंबर प्लेट भी मिले हैं। बताया जा रहा है कि कार हरियाणा की है। उसका वास्तविक नंबर एचआर-26 एएच-2341 है लेकिन आरोपी द्वारा राज्य के हिसाब से नंबर प्लेट चेंज कर गांजे की तस्करी की जा रही थी। पुलिस ने दोनों नंबर प्लेट को भी जब्त कर लिया है।
Show More
Pranayraj rana
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned